Bank Nifty क्या है? | Bank Nifty में कौन-कौन से बैंक आते हैं?

Bank Nifty kya hai | बैंक निफ्टी क्या है? | Bank Nifty में कौन-कौन से बैंक आते हैं? | Bank Nifty में ट्रेडिंग कैसे करते हैं? | What is Bank Nifty in Hindi

शेयर मार्केट में लोगों को निफ्टी के बारे में तो पता होता है कि NIFTY के अंदर भारत की टॉप 50 कंपनियां आती हैं लेकिन जब हम निफ्टी के बारे में सुनते हैं तो हमें बैंक निफ्टी (BankNifty) का नाम बार-बार सुनने को मिलता है।

Bank nifty kya hai

तो आखिर यह बैंक निफ्टी क्या होता है क्या यह बैंकों का इंडेक्स होता है, इसे क्यों बनाया गया बैंक निफ्टी काम कैसे करता है तो आज हम Bank Nifty के बारे में विस्तार से जानेंगे और यह भी जानेंगे कि आखिर बैंक निफ्टी में कितने और कौन-कौन से बैंक आते हैं?

Bank Nifty क्या है?

बैंक निफ्टी (Bank Nifty) भारत के 12 सबसे बड़े और भरोसेमंद बैंकों का एक इंडेक्स है जिसको देखकर हम पता लगा सकते हैं कि आज Banking sector कितना ऊपर है और कितना नीचे. आप सिर्फ बैंक निफ़्टी को देख कर ही पता लगा सकते हैं कि आज भारत के बैंकिंग सेक्टर में Growth आई है या फिर Loss.

आज Bank Nifty का ज्यादातर उपयोग Intraday Trading (एक ही दिन में होने वाली Trading) में किया जाता है। जिसमें उसी दिन शेयर को खरीदा या बेचा जाता है।

जब stocks के Price में movement आती है तो Bank Nifty में बैंकों के शेयर के price काफी तेजी से ऊपर नीचे होते हैं और इसी तेजी मंदी का फायदा उठाते हुए ज्यादातर Traders इंट्राडे ट्रेडिंग (Intraday Trading) के जरिए Stocks को Buy या Sell करके Profit या Loss को book करते हैं जोकि BankNifty में तो बहुत ज्यादा होता है।

Bank Nifty में ट्रेडिंग के जरिये पैसा कमाने में फायदा या नुकसान कुछ भी हो सकता है। यह आपके Risk Management पर भी depend करता है इसीलिए आपको सही Trading Stratagies को पहले सीखना चाहिए तभी आप बैंक निफ्टी में ट्रेडिंग करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं

Bank Nifty की शुरुआत कब हुई थी?

वर्ष 2000 में IISL यानि Indian Index Service Product Limited ने शेयर बाजार में बैंक निफ्टी (Bank Nifty) इंडेक्स की शुरुआत की थी। उस समय भी बैंक निफ्टी में केवल 12 बैंक ही शामिल थे और आज भी 12 ही हैं।

बैंक निफ्टी को बनाने के पीछे मकसद था भारत के बैंकिंग सेक्टर को आगे बढ़ाना और बैंकिंग सेक्टर में भारतीय शेयर बाजार की स्थिति को मजबूत करना। इसीलिए Bank Nifty Index को स्टॉक मार्केट (Stock Market) में लाया गया।

अब आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी हो जाता है कि आखिर कितने बैंक हैं जो बैंक निफ्टी (BankNifty) में शामिल है। अब आगे हम आपको यह भी बताने वाले हैं कि BankNifty में शामिल 12 बैंकों के नाम क्या हैं?

Bank Nifty में कौन-कौन से बैंक आते हैं?

वैसे तो इंडिया में बहुत सारे बड़ी-बड़ी banks हैं लेकिन Bank Nifty के अंदर सबसे अधिक Market Capitalization और Volume वाले 12 बैंक आते हैं जिनके नाम रैंकिंग के हिसाब से नीचे बताये गए हैं-

  1. HDFC BANK
  2. ICICI BANK
  3. AXIS BANK
  4. STATE BANK OF INDIA
  5. KOTAK MAHINDRA BANK
  6. INDUSIND BANK
  7. BANDHAN BANK
  8. FEDERAL BANK
  9. IDFC FIRST BANK
  10. RBL BANK
  11. BANK OF BARODRA
  12. PUNJAB NATIONAL BANK

इन्हीं 12 बैंकों को बैंक निफ्टी (BankNifty) के अंदर शामिल किया गया है और इन्हीं को देखकर हम यह पता लगाते हैं कि आज बैंकिंग सेक्टर कितना ऊपर जा रहा है और कितना नीचे।

यह सभी बैंक भारत के सबसे बड़े बैंकों की लिस्ट में आते हैं क्योंकि बैंक निफ्टी में शामिल होने के लिए बैंकों के पास अच्छी खासी पूंजी (Capital) और Volume होनी चाहिए।

Bank Nifty को क्यों बनाया गया है?

जैसा कि आपको पता है निफ़्टी में जो भारत की टॉप 50 कंपनियां है वह अलग अलग sectors की हैं ऐसा नहीं है कि इनमें सिर्फ IT Sector की कंपनियां ही आती हैं या फिर Banks ही आते हैं या फिर oil कंपनीस ही इसमें शामिल है।

तो कहने का मतलब यह है कि निफ्टी में सभी अलग-अलग सेक्टर की कंपनियों को mix किया गया है जबकि बैंकनिफ्टी (BankNifty) में केवल बैंकों को ही शामिल किया गया है इसीलिए बैंक निफ्टी को बनाया गया है ताकि हम केवल बैंकों की ही Growth, performance और progress को track कर सकें।

बैंक निफ्टी की तरह ही अलग-अलग index बनाए गए हैं जैसे कि IT Industry, oil industry, Health Industry और Finance Industry index के अलावा भी बहुत सारे अलग-अलग index बनाए गए हैं जिनसे कि हम किसी एक particular इंडस्ट्री को अकेले ट्रैक करके उस पर नजर रख सकते हैं और उन्हीं में से एक है बैंक निफ़्टी (Bank Nifty) जिससे हम सिर्फ और सिर्फ Banking sector के बारे में सब कुछ जान सकते हैं।

BankNifty में किन बैंकों को लिया जाता है?

आप कुछ लोगों के मन में सवाल होगा कि;

  • बैंक निफ्टी में किस आधार पर बैंकों को लिया जाता है
  • आखिर कौन कौन से बैंक को BankNifty Index में चुना जाता है,
  • यह कैसे पता चलेगा क्या कोई भी बैंक बैंक निफ्टी में शामिल हो सकता है
  • क्या बैंक निफ्टी में आने वाले सभी Banks भरोसेमंद होते हैं, या फिर
  • बैंक निफ्टी में शामिल होने के लिए किसी बैंक को कोई खास criteria को पूरा करना पड़ता है।
  • क्या कोई जुगाड़ लगाकर कोई भी बैंक BankNifty Index में जगह ले सकता है?

जिस तरह से निफ्टी में इंडिया की टॉप सबसे Strong कंपनियां हैं जिनका कैलकुलेशन Liquidity पर आधारित होता है। इनका कैलकुलेशन 6 Month का Float Adjustment Market Capitalization देखकर किया जाता है।

  • इसके लिए Requirment होती है कि कंपनी एक Indian कंपनी होना चाहिए।
  • कंपनी की Branch, Head Office और पूरा Establisation इंडिया में ही होना चाहिए।
  • इसके साथ ही जन बैंकों का हाईएस्ट मार्केट केपीटलाइजेशन होता है वही Bank Nifty के अंदर आते हैं यानी कि जिस बैंक का मार्केट कैप जितना ज्यादा होगा वह बैंक निफ़्टी इंडेक्स में उतना ऊपर पर होगा।
  • इसके अलावा बैंकों की क्या रेट है सेंसेक्स और निफ्टी में और उसका क्या Weightage percentage है मार्केट में, वह भी देखा जाता है जैसे: जो HDFC बैंक है उसका weight percentage 10.6% है निफ्टी की टॉप 50 कंपनियों में और यह Bank Nifty इंडेक्स में नंबर 1 पर आता है इसी तरह आईसीआईसीआई बैंक का weight percentage 5.25% है और Kotak Mahindra बैंक का weight percentage 4.59 % है।

और इन सब Criteria को देखने के बाद ही किसी भी बैंकों को Bank Nifty इंडेक्स में शामिल किया जाता है।

Bank Nifty में ट्रेडिंग कैसे करते हैं?

बैंक निफ्टी (BankNifty) में आप दो तरह से ट्रेडिंग करना काफी पॉपुलर है पहला है ऑप्शन ट्रेडिंग (Option Trading) और दूसरा है फ्यूचर ट्रेडिंग (Future Trading) इन दोनों में शेयर के price को पहले से ही Predict करना पड़ता है।

इसके अलावा इसमें Intraday Trading भी की जाती है।

जिसमें आप बैंकों के स्टॉक्स के ऊपर या नीचे जाने पर उसे उसी दिन शेयर मार्केट बंद होने से पहले खरीदते या बेचते हैं।

बैंक निफ्टी में ट्रेडिंग करने से पहले आपको Lot size के बारे में पता होना चाहिए जिसकी जानकारी नीचे दी गई है-

BankNifty Trading के लिए Lot Size क्या है और कितना होना चाहिए?

Bank Nifty में ट्रेडिंग करने के लिए आपको स्टॉक्स को Lot size के हिसाब से खरीदना पड़ता है। जैसे कि एक Lot में अभी फिलहाल 25 stocks आते हैं।

तो Banknifty में आप 1 Lot से कम नहीं खरीद सकते यानी कि अगर आपको स्टॉक्स खरीदना है तो आपको 25 stocks को तो खरीदना ही पड़ेगा।

अगर आप चाहे कि आप बाकी स्टॉक्स की तरह जितने चाहे उतने शेयर खरीद लें तो आप Bank Nifty में इस तरह नहीं खरीद सकते।

BankNifty में Future और Option दोनों में Lot size बराबर ही होते हैं। ज्यादातर लोग Future Trading की तुलना में ऑप्शन में ट्रेडिंग करना ज्यादा पसंद करते हैं क्योंकि Future Trading में High Risk होता है क्योंकि उसमें Price का movement काफी तेजी से होता है।

इसका एक फायदा भी है कि अगर आपका शेयर 10 पॉइंट बढ़ता है तो आपको सीधा 250 का फायदा हो जाता है क्योंकि आपने 1 Lot यानी 25 शेयर खरीदे हैं।

BankNifty की पूरी जानकारी

मैं आशा करता हूं कि अब आपको बैंक निफ्टी के बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

क्योंकि इस पोस्ट में हमने आपको Bank Nifty क्या है और Bank Nifty में कौन-कौन से बैंक आते हैं? BankNifty में ट्रेडिंग कैसे करते हैं इसके बारे में विस्तार से बताया है।

लेकिन अगर अभी भी आपका कोई सवाल है तो हमसे कमेंट में पूछ सकते हैं। अगर जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करना।

Deepak SenAbout Author
मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस ब्लॉग का संस्थापक हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

1 thought on “Bank Nifty क्या है? | Bank Nifty में कौन-कौन से बैंक आते हैं?”

Leave a Comment