Adani Share News: इस कंपनी में गौतम अडानी करने जा रहे 1 बिलियन डॉलर का निवेश, शेयर बनेगा रॉकेट

Adani Share News: गौतम अडानी, Adani group के अध्यक्ष, रिन्यूएबल एनर्जी में 1 बिलियन डॉलर का निवेश करने जा रहे हैं। यह निवेश अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (AGEL) में किया जाएगा, जो अडानी समूह की रिन्यूएबल एनर्जी कंपनी है।

Adani green share news in hindi

इस निवेश का उपयोग AGEL की विस्तार योजनाओं को पूरा करने के लिए किया जाएगा। कंपनी भारत के साथ-साथ विदेशों में भी अपने सौर (solar) और पवन ऊर्जा (wind energy) परियोजनाओं का विस्तार करने की योजना बना रही है।

Adani Latest News: क्या है अडानी का 1 बिलीयन डॉलर इन्वेस्ट करने का मिशन

Bloomberg की एक रिपोर्ट के अनुसार, अडानी समूह का कहना है कि वह अगले 10 वर्षों में ग्रीन एनर्जी में 100 बिलियन डॉलर का निवेश करेगा। यह निवेश सौर, पवन, हाइड्रोजन और अन्य नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों (renewable energy sources) में किया जाएगा।

इस मिशन के तहत अडानी समूह के निम्नलिखित लक्ष्य हैं:

  • 2030 तक 45 गीगावाट की सौर ऊर्जा क्षमता स्थापित करना।
  • 2030 तक 15 गीगावाट की पवन ऊर्जा क्षमता स्थापित करना।
  • 2030 तक 5 गीगावाट की हाइड्रोजन उत्पादन क्षमता स्थापित करना।

गौतम अडानी का मानना है कि ग्रीन एनर्जी भविष्य की ऊर्जा है। उन्होंने कहा है कि अडानी समूह ग्रीन एनर्जी क्षेत्र में एक प्रमुख खिलाड़ी बनने के लिए लगातार काम कर रहा है।

इस निवेश से भारत में रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही यह भारत को अपने ऊर्जा सुरक्षा और जलवायु परिवर्तन लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करेगा।

इस मिशन को पूरा करने के लिए क्या करेगा Adani group

अडानी समूह इस मिशन को पूरा करने के लिए ये कदम उठा रहा है:

  1. विभिन्न देशों में सौर और पवन ऊर्जा परियोजनाओं में निवेश करना।
  2. नवीनतम तकनीकों को अपनाना और लागू करना।
  3. रिसर्च और विकास में निवेश करना।

इन सब कामों के चलते, Adani group ग्रीन एनर्जी मिशन भारत को एक स्वच्छ और हरित भविष्य की ओर ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें

आखिर रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर पर इतने क्यों बुलिश हैं गौतम अडानी?

गौतम अडानी रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर पर काशी पुलिस हैं और उनके इस sector में निवेश करने के पीछे कई कारण हैं जैसे:

1. जलवायु परिवर्तन से निपटने की आवश्यकता:

  • जलवायु परिवर्तन एक गंभीर समस्या है जो दुनिया भर में विनाशकारी प्रभाव डाल रही है।
  • ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन को कम करने के लिए Renewable energy एक महत्वपूर्ण समाधान है।
  • रिन्यूएबल ऊर्जा स्रोत, जैसे सौर और पवन ऊर्जा, कार्बन उत्सर्जन के बिना बिजली पैदा करने में सक्षम हैं।

2. ऊर्जा सुरक्षा:

  • भारत एक ऊर्जा-गहन देश है और अपनी ऊर्जा जरूरतों का एक बड़ा हिस्सा आयात (import) पर निर्भर करता है।
  • रिन्यूएबल ऊर्जा भारत को अपनी ऊर्जा सुरक्षा को बेहतर बनाने में मदद कर सकती है।

3. व्यावसायिक अवसर:

  • रिन्यूएबल एनर्जी एक तेजी से बढ़ता हुआ सेक्टर है।
  • भारत में रिन्यूएबल ऊर्जा की मांग तेजी से बढ़ रही है।
  • इसीलिए अडानी समूह इस क्षेत्र में एक प्रमुख खिलाड़ी बनने की उम्मीद कर रहा है।

इसके अलावा कुछ अन्य कारण भी है जैसे–

  1. भारत सरकार ने 2030 तक अपनी कुल ऊर्जा जरूरतों का 50% नवीकरणीय ऊर्जा (Renewable energy) से पूरा करने का लक्ष्य रखा है।
  2. अंतरराष्ट्रीय ऊर्जा निवेश अनुसंधान संस्थान (IEA) के अनुसार, भारत 2030 तक दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती रिन्यूएबल ऊर्जा बाजार बनने की उम्मीद है।

इन्हीं सब कारणों के चलते, गौतम अडानी रिन्यूएबल एनर्जी में 1 बिलीयन डॉलर का बड़ा निवेश करने जा रहे हैं।

इस निवेश से Adani Green share को क्या फायदा होगा

Adani green share news hindi: अदानी ग्रीन शेयरों को इस 1 बिलियन डॉलर के निवेश से निम्नलिखित तरीकों से लाभ होगा:

  1. यह कंपनी की स्थापित क्षमता को बढ़ाएगा, जिससे Revenues और profits बढ़ेगा।
  2. यह कंपनी की वित्तीय स्थिति को मजबूत करेगा, जिससे शेयरधारकों के लिए रिटर्न में सुधार होगा।
  3. यह कंपनी अपने कंपीटीटर्स से आगे रखने में मदद करेगा,
  4. विशेष रूप से, यह निवेश कंपनी को अपनी 2030 तक 45 गीगावाट की सौर ऊर्जा क्षमता के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद करेगा।
  5. यह कंपनी को भारत और दुनिया के अन्य हिस्सों में नई सौर परियोजनाओं का विकास करने में भी सक्षम करेगा।

और इन्हीं सब कारणों के चलते अदानी ग्रीन के स्टॉक में भविष्य में अच्छे रिटर्न देने की संभावना काफी बढ़ जाती है.

Adani Green कंपनी के बारे में जानकारी

AGEL यानी अदानी ग्रीन भारत की सबसे बड़ी रिन्यूएबल एनर्जी कंपनियों में से एक है जो सौर और पवन ऊर्जा परियोजनाओं के विकास, निर्माण और संचालन में लगी हुई है।  कंपनी की कुल स्थापित क्षमता 4.9 गीगावाट है। कंपनी का लक्ष्य 2030 तक अपनी स्थापित क्षमता को 45 गीगावाट तक बढ़ाना है।

Adani green के मुख्य उत्पादों में शामिल हैं:

  1. सौर ऊर्जा: कंपनी भारत में 4.9 गीगावाट की सौर ऊर्जा क्षमता का मालिक है। कंपनी भारत में और विदेशों में भी सौर परियोजनाओं का विकास कर रही है।
  2. पवन ऊर्जा: कंपनी 1.3 गीगावाट की पवन ऊर्जा क्षमता का मालिक है। कंपनी भारत में और विदेशों में भी पवन परियोजनाओं का विकास कर रही है।
  3. ऊर्जा स्टोरेज: कंपनी ऊर्जा स्टोरेज परियोजनाओं में भी निवेश कर रही है। कंपनी भारत में 200 मेगावाट की ऊर्जा स्टोरेज क्षमता स्थापित करने की योजना बना रही है।

Adani green के Revenue का मुख्य स्रोत सौर और पवन ऊर्जा बिक्री है। कंपनी भारत सरकार और निजी क्षेत्र के ग्राहकों को बिजली बेचती है।

2022-23 में, Adani green का कुल revenue 1,635 करोड़ रुपये था। इसमें से 1,420 करोड़ रुपये सौर ऊर्जा बिक्री से, 125 करोड़ रुपये पवन ऊर्जा बिक्री से और 90 करोड़ रुपये अन्य स्रोतों से प्राप्त हुए थे।

Adani green का लक्ष्य 2030 तक अपनी स्थापित क्षमता को 45 गीगावाट तक बढ़ाना है। कंपनी भारत और विदेशों में नई परियोजनाओं का विकास करने के लिए निवेश कर रही है।

उम्मीद करता हूं आपको यह जानकारी उपयोगी लगी होगी.

ये भी पढ़ें

Rate this post

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️