बैंक निफ्टी ऑप्शन स्ट्रेटजी | Banknifty Trading Strategies in Hindi

Banknifty Trading Strategies in Hindi: आज मैं आपको बैंक निफ्टी ऑप्शन ट्रेडिंग स्ट्रेटजी के बारे में बताने वाला हूं। इस पोस्ट में बताई गई बैंकनिफ्टी स्ट्रेटजी प्राइस एक्शन ट्रेडिंग के अंतर्गत आती हैं। अधिकतर ट्रेडर्स strategies का उपयोग इंट्राडे या ऑप्शन ट्रेडिंग में करते हैं।

अगर आप भी बैंक निफ्टी में इंट्राडे या ऑप्शन ट्रेडिंग करते हैं तो इस पोस्ट में बताई गई strategies का उपयोग करके आप रेगुलर प्रॉफिट कमा सकते हैं।

Banknifty option strategies in hindi

तो इन strategies के बारे में जानने के लिए इस पोस्ट को ध्यान से पूरा पढ़िएगा, आइये जानते हैं–

Banknifty Trading Strategies in Hindi

पहली बैंक निफ्टी ऑप्शन स्ट्रेटजी है डबल बॉटम चार्ट पैटर्न। दिखने में यह पैटर्न बिल्कुल अंग्रेजी के अक्षर W की दिखता है इसलिए इसे W पैटर्न भी बोलते हैं। यह चार्ट पर कुछ इस तरह दिखता है–

Banknifty trading strategies in hindi

तो दोस्तों जब भी आपको चार्ट पर इस प्रकार का पैटर्न दिखाई देता है तो उसका मतलब होता है कि यहां से शेयर प्राइस बढ़ सकती है।

क्योंकि यह एक बुलिश सिग्नल है तो आप शेयर buy कर सकते हैं या बैंकनिफ्टी का कॉल ऑप्शन खरीद सकते हैं।

बैंक निफ्टी चार्ट पर इस प्रकार का पैटर्न बनने पर कहां पर ट्रेड या एंट्री लेना है, उसके बारे में जाने से पहले इस पैटर्न के बारे में जान लेते हैं;

दोस्तों जब भी आपको बैंकनिफ्टी चार्ट पर downtrend दिखे और उसके बाद प्राइस सपोर्ट लेकर ऊपर की ओर बढ़ने लगे। फिर थोड़ा ऊपर जाने पर प्राइस वापस गिरने लगता है, जिस पॉइंट से प्राइस नीचे गिरता है उसे रेजिस्टेंस बोलते हैं। तो रेजिस्टेंस से प्राइस नीचे गिर कर उसी सपोर्ट लेवल तक आती है जहां तक पहले आई थी और फिर दोबारा ऊपर बढ़ने लगता है।

इस प्रकार बैंक निफ्टी चार्ट पर दो बॉटम बन जाते हैं– पहला बॉटम जहां इसने पहली बार सपोर्ट लिया था और दूसरा बॉटम जहां इसने दूसरी बार सपोर्ट लिया था तो इसीलिए इस पैटर्न को डबल बॉटम या W पैटर्न बोलते हैं।

इस बैंकनिफ्टी ऑप्शन स्ट्रेटजी का उपयोग करते समय याद रखिए कि;

  • यह चार्ट पेटर्न कितनी भी मिनट की कैंडल में बन सकता है मतलब इसमें टाइमफ्रेम जरूरी नहीं होता है।
  • मतलब अगर आप बैंक निफ्टी में इंट्राडे ट्रेडिंग करते हैं तो किसी भी timeframe की कैंडल चेक कर सकते हैं जैसे; 1 मिनट 3 मिनट 5 मिनट 15 मिनट 30 मिनट
  • स्विंग ट्रेडिंग में इस स्ट्रेटेजी का उपयोग करने के लिए आप daily या weekly बैंकनिफ्टी चार्ट देख सकते हैं।

बैंक निफ्टी ऑप्शन स्ट्रेटजी

अब तक आप इस पैटर्न के बारे में तो जान चुके हैं। आइए अब जान लेते हैं कि इस बैंक निफ्टी ऑप्शन स्ट्रेटजी के तहत ट्रेड कैसे करना है–

सबसे पहले आपको इसके दोनों सपोर्ट लेवल पर एक horizontal ट्रेंडलाइन या सपोर्ट लाइन draw करना है। इसके बाद रेसिस्टेन्स पर भी एक horizontal ट्रेंडलाइन या नेकलाइन draw करना है।

दोस्तों जब आप सपोर्ट और रेजिस्टेंस draw कर लेते हैं तो उसके बाद जैसे ही कोई कैंडल रेजिस्टेंस के ऊपर close होती है तो आपको उसके बाद वाली कैंडल बनने पर एंट्री लेना है।

और आपका स्टॉपलॉस रेजिस्टेंस के ऊपर बंद हुई कैंडल का Low होगा। अगर बात करें टारगेट की तो जितना अंतर सपोर्ट और रेजिस्टेंस के बीच है उतना ही आपका टारगेट ऊपर की ओर होगा।

Banknifty Option Trading Strategies in Hindi

दूसरी बैंक निफ्टी ट्रेडिंग स्ट्रेटजी है डबल टॉप चार्ट पेटर्न जोकि डबल बॉटम के विपरीत है। यह देखने में अंग्रेजी के अक्षर M जैसा दिखाई देता है। यह bearish सिग्नल देता है मतलब इस पैटर्न के बनने के बाद बैंकनिफ्टी के गिरने की संभावना होती है।

बैंक निफ्टी ऑप्शन स्ट्रेटजी, Banknifty option trading strategies in hindi

तो दोस्तों जब भी बैंकनिफ्टी चार्ट uptrend में होता है और फिर शेयर रजिस्टेंस के पास पहुंचकर नीचे गिरने लगता है। और फिर थोड़ा नीचे जाने के बाद वह सपोर्ट लेकर दोबारा ऊपर की ओर बढ़ने लगता है और फिर वह अपने पहले वाले रेजिस्टेंस से टकराकर वापस नीचे की ओर आ जाता है।

इस प्रकार बैंकनिफ्टी चार्ट पर दो टॉप बन जाते हैं; पहला तो आप जहां उसने पहली बार रजिस्टेंस लिया था और दूसरा टॉप जहां उसने दूसरी बार रेजिस्टेंस लिया था। तो जब चार्ट पर यह पैटर्न बनता है तो ऐसी डबल टॉप चार्ट पेटर्न या M पैटर्न बोलते हैं।

इस पैटर्न के बनने के बाद प्राइस गिरने के चांसेस होते हैं तो आप इस पैटर्न की बनने के बाद बैंक निफ्टी का पुट ऑप्शन खरीद सकते हैं या फिर शॉर्ट सेल कर सकते हैं।

बैंक निफ्टी इंट्राडे ऑप्शन स्ट्रेटजी

चलिए अब जानते हैं कि डबल बॉटम पैटर्न के बनने के बाद ट्रेड कहां पर लेना है;

सबसे पहले आपको सपोर्ट और रेजिस्टेंस पर ट्रेंडलाइन बना लेना है। इसमें जो भी कैंडल सपोर्ट लाइन को तोड़कर नीचे की ओर close होती है तो आपको उस कैंडल के बाद वाली कैंडल में एंट्री लेनी है।

जिस कैंडल ने सपोर्ट लाइन को तोड़ा है उसका high आपका स्टॉप लॉस होगा और टारगेट उतना होगा जितना सपोर्ट और रेजिस्टेंस के बीच का अंतर है। मतलब अगर सपोर्ट और रेजिस्टेंस के बीच 20 पॉइंट का अंतर है तो आपका टारगेट भी 20 पॉइंट का ही होना चाहिए।

MUST READ: Chart Patterns in Hindi

FAQ’s (Banknifty trading strategies in hindi)

क्या बैंकनिफ्टी इंट्राडे के लिए अच्छा है?

जी हां, आप बैंक निफ्टी में इंट्राडे ट्रेडिंग के जरिए अच्छा प्रॉफिट कमा सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको कई प्रकार की इंट्राडे स्ट्रेटजी फॉलो करना होगा जिसमें से कुछ स्ट्रेटेजी में टाइमप्रेम इंपोर्टेंट होता है जबकि कुछ में बिल्कुल नहीं होता।

बैंकनिफ्टी ऑप्शन ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छी रणनीति क्या है?

बैंक निफ्टी में ऑप्शन ट्रेडिंग करने के लिए डबल टॉप और डबल टॉप और डबल बॉटम बैंकनिफ्टी रणनीति सबसे अच्छी है जिसका उपयोग करके आप रेगुलर प्रॉफिट कमा सकते हैं।

Banknifty Option Strategies in Hindi – Conclusion

मैं उम्मीद करता हूं आपको इस आर्टिकल (Banknifty Trading Strategies in Hindi) में बताई गई डबल टॉप और डबल बॉटम बैंकनिफ्टी स्ट्रेटजी समझ आ गई होगी. इन banknifty option strategies का उपयोग करके आप इंट्राडे या ऑप्शन ट्रेडिंग में रेगुलर प्रॉफिट कमा सकते हैं।

ये भी पढ़ें,

दोस्तों यह पोस्ट सिर्फ जानकारी देने के उद्देश्य से लिखी गई है इसलिए किसी भी स्ट्रेटेजी का उपयोग करने से पहले खुद से रिसर्च जरूर कर लें।

5/5 - (5 votes)
Deepak SenAbout Author
मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस ब्लॉग का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

1 thought on “बैंक निफ्टी ऑप्शन स्ट्रेटजी | Banknifty Trading Strategies in Hindi”

Leave a Comment