(Top 10) बुलिश कैंडलस्टिक पेटर्न | Bullish Candlestick Pattern in Hindi

इस पोस्ट में हम आपको टॉप 10 ऐसे कैंडलस्टिक पेटर्न के बारे में बताने वाले हैं जो चार्ट पर बनते ही शेयर प्राइस को ऊपर ले जाते हैं, जिन्हें बुलिश कैंडलस्टिक पैटर्न (Bullish Candlestick Pattern) कहा जाता है.

इस प्रकार के पैटर्न आपको price ऊपर ⬆️ जाने का संकेत देते हैं मतलब जब आपको चार्ट पर कोई bullish candle बनती हुई देखी है तो इसका मतलब है कि आपको अब buy करना है क्योंकि ऐसी कैंडल बनने के बाद मार्केट ऊपर जाने की संभावना होती है।

तो आज मैं आपको कुछ ऐसे ही बुलिश कैंडलस्टिक पैटर्न के बारे में उदाहरण के साथ बताऊंगा. साथ ही किस पैटर्न में कब एंट्री करना है, टारगेट और स्टॉपलॉस कहां और किस लेवल पर लगाना है इसके बारे में भी बताऊंगा.

Top 10 Bullish Candlestick Pattern in Hindi

Bullish Candlestick Pattern in Hindi

जब हम शेयर मार्केट में  ट्रेडिंग करते हैं तो कई बार कुछ कैंडलस्टिक पेटर्न ऐसे होते हैं जिनके बनते ही अचानक से शेयर प्राइस बढ़ने लगता है और ऐसे पैटर्न को ही हम बुलिश कैंडलस्टिक पैटर्न कहते हैं.

लेकिन आखिर चार्ट पर इन सभी पैटर्न की पहचान कैसे करते हैं ताकि शेयर को खरीद कर और बेचकर हम भी trading से पैसे कमा पाए.

तो चलिए अब सभी बुलिश कैंडलेस्टिक पेटर्न को एक-एक करके जान लेते हैं, इसमें सबसे पहल पैटर्न है–

1. हैमर कैंडलस्टिक पैटर्न

Hammer candlestick pattern in hindi

हैमर एक शक्तिशाली बुलिश कैंडलस्टिक पेटर्न है जो की चार्ट पर downtrend में बनता है. अगर किसी चार्ट पर hammer कैंडल बनती हुई दिखती है तो इसका मतलब है कि शेयर प्राइस यहां से रिवर्स हो सकता है.

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें

लेकिन ध्यान रहे hammer कैंडल हमेशा downtrend में बननी चाहिए मतलब जब शेयर प्राइस लगातार नीचे जा रहा हो और अचानक से यह कैंडल बन जाए तो इसकी बहुत संभावना होती है कि अब यहां से प्राइस रिवर्स होकर ऊपर जा सकता है।

हैमर कैंडलस्टिक पेटर्न की पहचान कैसे करें?

  • हैमर कैंडल हथौड़े के आकार की होती है।
  • इसकी बॉडी छोटी जबकि lower shadow (बॉडी से कम से कम दोगुना बड़ी) होनी चाहिए।
  • इससे फर्क नहीं पड़ता कि hammer कैंडल लाल बने या हरी, मतलब दोनों ही सिचुएशन में यह पैटर्न काम करता है. लेकिन अगर ग्रीन कैंडल बनती है तो यह ज्यादा valid सिग्नल माना जाता है।
  • Hammer candle बनने के बाद जो अगली कैंडल बनती है वह हैमर कैंडल से ऊपर close होनी चाहिए लेकिन अगर वह हैमर कैंडल के नीचे close होती है तो हम इसे हैमर कैंडलस्टिक पेटर्न नहीं मानेंगे।

तो अगर ऊपर बताई गई चारों चीजें पूरी होती है तो इसका मतलब है कि वह एक valid ‘हैमर कैंडलस्टिक पेटर्न‘ है और इसके बनते ही trend रिवर्स हो सकता है मतलब अब तक शेयर प्राइस लगातार गिर रही थी और अब इस पैटर्न के बनते ही शेयर प्राइस बढ़ना शुरू हो जाएगी।

हैमर कैंडलस्टिक पेटर्न एक Bullish Reversal candlestick pattern है क्योंकि इस कैंडल के बनते ही प्राइस reverse होना शुरू हो जाता है।

अब सवाल आता है कि हैमर पेटर्न बनने पर आपको ट्रेड कैसे और कहां पर करना है?

  • तो Downtrend में हैमर कैंडल बनने के बाद अगर अगली कैंडल इससे ऊपर close होती है तभी आपको ट्रेड करना है। आपका entry point अगली कैंडल का high होगा और stop loss हैमर कैंडल का low होगा।
  • अगर टारगेट की बात करें तो आप एंट्री और स्टॉप लॉस point के बीच जितना डिफरेंस है उसका दोगुना टारगेट रख सकते हैं.

उदाहरण के लिए; अगर आपने कोई शेयर 100 रुपये पर खरीद है और stoploss 90 रुपये है मतलब इन दोनों के बीच 10 रुपये का अंतर है तो आप टारगेट
10 रुपये के दुगुना यानी 20 रुपये लगा सकते हैं।

मतलब जब शेयर 120 रुपये पर पहुंच जाता है तो उसे बेचकर प्रॉफिट बुक कर सकते हैं।

तो इस प्रकार आप Hammer candlestick pattern को ट्रेड कर सकते हैं।

अब बढ़ते हैं दूसरे बुलिश कैंडलस्टिक पेटर्न की ओर जिसका नाम है–

2. इनवर्टेड हैमर कैंडलस्टिक पैटर्न

Inverted Hammer candlestick pattern in hindi

इनवर्टेड हैमर का मतलब होता है ‘उल्टा हथोड़ा’ इसका काम बिल्कुल हैमर पैटर्न जैसा ही है।

फर्क सिर्फ इतना है कि hammer pattern में lower shower लंबी होती है

और Inverted hammer में upper shadow बॉडी से 2 गुना लंबी होती है तभी वह एक उल्टे हथौडे जैसा दिखता है।

Inverted hammer candlestick pattern को पहचानने के लिए आपको ये चीजें देखना होगा–

  • शेयर downtrend में होना चाहिए मतलब शेयर प्राइस गिर रही होनी चाहिए। यही same condition हैमर पैटर्न में भी थी।
  • Inverted Hammer candle भी लाल या हरी किसी भी रंग की हो सकती है मतलब color मायने नहीं रखता
  • लेकिन अगर Green है तो ज्यादा valid signal माना जाता है क्योंकि यह bullish candlestick pattern है।
  • Inverted hammer candle बनने के बाद जो अगली कैंडल बनती है वह इस कैंडल से ऊपर बननी चाहिए।

अगर ऊपर दी गई conditions पूरी होती हैं तो इसका मतलब है कि वह एक valid ‘inverted hammer’ है जो bullish signal देता है मतलब इसके बनने के बाद शेयर प्राइस बढ़ सकती है।

इस कैंडलस्टिक पैटर्न के बनने पर भी downtrend, uptrend में बदल जाता है मतलब trend रिवर्स हो जाता है इसीलिए यह भी एक bullish reversal candlestick pattern है।

अगर entry की बात करें तो इनवर्टेड हैमर कैंडल के बाद जो अगली कैंडल बनती है उसके high पर आप buy कर सकते हैं और stop loss इनवर्टेड हैमर कैंडल के low पर लगा सकते हैं।

और जैसा कि हमने ऊपर बताया कि टारगेट आप एंट्री और स्टॉप लॉस के बीच जितने पॉइंट का डिफरेंस है उसका डबल रख सकते हैं।

आगे जितने भी बुलिश पैटर्न आने वाले हैं उन सभी में टारगेट आपको इसी तरह से लगाना है।

3. बुलिश एंगल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न

Bullish engulfing candlestick pattern in hindi

जैसा कि इसके नाम से ही पता चल रहा है कि यह बुलिश सिग्नल देता है अतः यह एक bullish candlestick pattern है।

तो जब भी मार्केट downtrend में होता है और एक red candle बनती है फिर इसके बाद एक बड़ी green कैंडल बनती है जो रेड कैंडल को पूरा कवर (engulf) कर लेती है तो इसे हम Bullish engulfing candlestick pattern कहते हैं।

  • इस पैटर्न में जो बाद वाली green कैंडल बनती है वह पिछली लाल कैंडल से नीचे ओपन होती है और इसी लाल कैंडल से ऊपर क्लोज होती है और इस प्रकार यह उस लाल कैंडल को पूरा कवर कर लेती है।

जब भी चार्ट पर Bullish engulfing कैंडलस्टिक पेटर्न दिखे तो समझ जाइए कि अब शेयर प्राइस बढ़ने वाली है मतलब आप चाहे इस पैटर्न के बनते ही उस शेयर को खरीद सकते हैं।

अगर एंट्री की बात करें तो आपको ग्रीन कैंडल के बाद जो अगली कैंडल बनती है उस पर buy करना है लेकिन ध्यान रहे अगले कैंडल ग्रीन कैंडल से ऊपर बननी चाहिए।और आपका स्टॉपलॉस ग्रीन कैंडल का lowest price होगा।

4. पियर्सिंग लाइन कैंडलस्टिक पैटर्न

Piercing line candlestick pattern in hindi

यह एक Two candlestick वाला बुलिश pattern है और यह bullish signal देता है मतलब इस कैंडलस्टिक पेटर्न के बनने के बाद शेयर प्राइस बढ़ना शुरू हो सकती है।

दोस्तों जब भी कोई शेयर downtrend में चल रहा होता है और कोई बड़ी red candle बन जाती है और इस red candle के बाद एक green candle बनती है जो red कैंडल से नीचे ओपन होती है लेकिन रेड कैंडल की half body के ऊपर close होती है तो यह पैटर्न Piercing Line candlestick pattern कहलाता है।

इस पैटर्न के बनने के बाद बहुत चांसेस होते हैं कि trend यहां से reverse हो सकता है मतलब अब तक जो शेयर प्राइस गिर रही थी अब वह बढ़ सकती हैं।

Piercing Line candlestick pattern बनने के लिए ये conditions पूरी होना चाहिए–

  1. शेयर downtrend में होना चाहिए।
    Downtrend में एक बड़ी red candle बननी चाहिए और इसके बाद एक green candle बननी चाहिए।
  2. green candle पहली रेड कैंडल के नीचे ओपन होना चाहिए और red candle की half body (50% body) के ऊपर close होनी चाहिए।

जब ये तीनों कंडीशन प्रॉब्लम होती है तो आप कंफर्म हो सकते हैं कि यह एक Piercing Line candlestick pattern है और आप अब buy कर सकते हैं।

Two candle के बाद के अगली कैंडल बनेगी उसमें आपको एंट्री लेना है और स्टॉप लॉस green candle के lowest प्राइस पर लगाना चाहिए।

5. मॉर्निंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न

Morning star candlestick pattern in hindi
  • Morning star एक Three candlestick वाला मजबूत bullish pattern है यानी कि यह तीन कैंडल को मिलाकर बनता है।
  • यह कैंडलस्टिक पेटर्न bullish सिग्नल देता है मतलब इस पैटर्न के बनने के बाद शेयर प्राइस बढ़ने के चांसेस होते हैं।

जब भी stock downtrend में होता है और downtrend में ही एक बड़ी red candle बनती है और इस रेड कैंडल के बाद एक छोटी body वाली candle बनती है जिसका color कोई भी हो सकता है। और इनके बाद एक बड़ी green candle बनती है जो पहली रेड कैंडल के बराबर या उससे बड़ी होनी चाहिए तो जब ऐसा पैटर्न बनता है तो उसे हम Morning star candlestick pattern कहते हैं।

  • इस पैटर्न के बनने के बाद शेयर प्राइस बढ़ना शुरू हो सकती है इसलिए आप चाहे तो buy कर सकते हैं। अगर इस पैटर्न में जो तीसरी green candle बने अगर वह अधिक वॉल्यूम के साथ बनती है तो यह कैंडल स्टिक पेटर्न ज्यादा effective होता है

मतलब इसके बाद बहुत ज्यादा चांसेस हो जाते हैं कि शेयर प्राइस बढ़ने वाली है तो आप यहां पर शेयर खरीदकर प्रॉफिट कमा सकते हैं।

Morning star candlestick pattern बनने के लिए नीचे दी गई कंडीशन पूरी होना जरूरी है–

  1. Stock downtrend में होना चाहिए
    downtrend में ही एक बड़ी लाल कैंडल बननी चाहिए
  2. और उसके बाद दूसरी कैंडल एक small body और बराबर upper और lower shadow वाली कैंडल बननी चाहिए
  3. फिर तीसरी कैंडल पहले वाली कैंडल के बराबर साइज की या उससे बड़ी बननी चाहिए और तीसरी कैंडल का रंग हरा होना चाहिए।

अगर ऊपर बताए गए तीनों कंडीशन पूरी होती हैं तो आप कंफर्म हो सकते हैं कि यह एक Morning star candlestick pattern है और यहां पर आप entry ले सकते हैं।

तीसरी बड़ी green कैंडल बनने के बाद उसके ऊपर जो कैंडल बनेगी उसमें आप एंट्री ले सकते हैं और आपका स्टॉप लॉस बीच वाली छोटी कैंडल का lowest point होना चाहिए।

6. बुलिश स्पिनिंग टॉप कैंडलस्टिक पैटर्न

Spinning Top candlestick दो प्रकार की होती है: Bullish Spinning Top और Bearish Spinning Top एक कैंडलस्टिक पेटर्न में बीच में छोटी सी लाल या हरी बॉडी होती है और ऊपर नीचे बराबर साइज की upper और lower shadow होती हैं।

नीचे bullish Spinning Top pattern के बारे में बताया है–

Bullish spinning top candlestick pattern in hindi

जब Spinning Top पैटर्न चार्ट के बॉटम पर बनता है तो इसे Bullish Spinning Top कहते हैं। इस कैंडलस्टिक पेटर्न के बनते ही शेयर प्राइस ऊपर जा सकती है मतलब आप इस pattern के बनते ही शेयर खरीदकर प्रॉफिट कमा सकते हैं।

लेकिन ध्यान रहे- इसमें upper और lower shadow की लंबाई बॉडी के दोगुने से ज्यादा होनी चाहिए।

7. डबल बॉटम कैंडलस्टिक पैटर्न

Double bottom candlestick pattern in hindi

इस कैंडलस्टिक पेटर्न में नीचे की ओर दो support बनते हैं जहां से प्राइस reverse होता है मतलब इसमें जब प्राइस 2 बार उसी रेजिस्टेंस लेवल पर टकराकर ऊपर की ओर लौट जाता है ।

इस पैटर्न में 2 सपोर्ट या बॉटम क्रिएट हो जाते हैं इसीलिए इसे डबल बॉटम बोला जाता है। यह पैटर्न चार्ट पर अंग्रेजी के अक्षर ‘W‘ के आकार का दिखता है।

ठीक इसी प्रकार जब प्राइस तीन बार same सपोर्ट लेवल से टकराकर वापस ऊपर की ओर लौट जाए तो चार्ट पर ‘ट्रिपल बॉटम कैंडलस्टिक पेटर्न‘ बनेगा।

अब समझते हैं कि डबल बॉटम कैंडलस्टिक पेटर्न बनने पर आपको एंट्री कब लेनी है–

  • जब प्राइस अपने सपोर्ट लेवल को टच करके ऊपर जाता है तो यह आपके लिए ट्रेड करने का बहुत अच्छा मौका होता है ऐसे में आपको सपोर्ट लेवल के ऊपर ही अगली कैंडल केहाई पर एंट्री लेनी चाहिए।
  • और आपका टारगेट वही होना चाहिए जो इस सपोर्ट और ऊपर रेजिस्टेंस के बीच का अंतर है।

8. ड्रैगनफ्लाई डोजी कैंडलस्टिक पैटर्न

Dragonfly doji candlestick pattern in hindi

ड्रैगनफ्लाई डोजी को हम long legged doji भी कहते है क्योंकि इसका lower shadow काफी लंबा होता है। इसमें बहुत छोटा सा body ऊपर की साइड होता है।

इस कैंडल के open होते ही sellers प्राइस को नीचे ले जाते हैं लेकिन कैंडल close होने से पहले ही buyers प्राइस को ऊपर उसी लेवल के आसपास ले जाते हैं जहां यह कैंडल ओपन हुआ था।

Dragonfly doji candlestick pattern बनने की पोजीशन के अनुसार इसे अलग अलग तरीके से ट्रेड किया जाता है।

  • अगर Dragonfly doji कैंडल uptrend में बनती है तो इसे hanging man pattern की तरह ट्रेड किया जाएगा।
  • और अगर यह कैंडल downtrend में बनती है तो इसे hammer pattern की तरह ट्रेड किया जाएगा।

9. बुलिश हरामी कैंडलस्टिक पैटर्न

Bullish harami candlestick pattern in hindi
  • यह कैंडलस्टिक पेटर्न आपको चार्ट पर बार-बार बनते हुए दिखाई देता होगा। Bullish harami एक Two candlestick pattern है मतलब यह दो कैंडल को मिलाकर बनता है।
  • जैसा कि इसके नाम से ही पता चल रहा है कि यह एक bullish candlestick pattern है इसलिए इसके बनने के बाद शेयर प्राइस ऊपर जा सकती है।

Bullish harami candlestick pattern को पहचानने के लिए आपको देखना होगा कि–

  1. स्टॉक downtrend में होना चाहिए यानी कि शेयर प्राइस गिर रही होनी चाहिए।
  2. Downtrend में एक बड़ी red candle बननी चाहिए और उस बड़ी रेड सैंडल के बाद एक छोटी green candle बनना चाहिए।
  3. जो रेड कैंडल के बाद अगली ग्रीन कैंडल बनती है वह रेड कैंडल की बॉडी के अंदर बननी चाहिए मतलब रेड कैंडल के द्वारा ग्रीन कैंडल को पूरा कवर कर लेना चाहिए।
  4. Green candle की जो open price है वह रेड कैंडल की क्लोज प्राइस से ऊपर होनी चाहिए और Green candle की जो closing price है वह रेड कैंडल की ओपन प्राइस से नीचे होनी चाहिए। क्योंकि तभी ग्रीन कैंडल रेड कैंडल की बॉडी के अंदर बनेगी।

अगर ऊपर दी गई चारों कंडीशन पूरी होती हैं तो आप confirm हो सकते हैं कि यह एक Bullish harami candlestick pattern है।

इस पैटर्न के बनने से ट्रेंड reverse हो सकता है मतलब अब तक जो शेयर की प्राइस गिर रही थी अब वह बढ़ना शुरू हो सकती है।

अगर entry point की बात करें तो ग्रीन कैंडल के बाद जो अगर अगली कैंडल ग्रीन कैंडल से ऊपर बनेगी तो आप उसमें entry ले सकते हैं। और stop loss रेड कैंडल का lowest price होगा।

10. बुलिश मारुबोज़ू कैंडलस्टिक पैटर्न

Bullish marubozu candlestick pattern in hindi

Bullish marubozu एक मजबूत कैंडलस्टिक पेटर्न है जिसमें एक हरे रंग की स्ट्रांग body वाली bullish candle होती है मतलब इसके बनते ही प्राइस ऊपर जाने लगता है। इस कैंडल के बनने का मतलब यह है कि मार्केट में buyers हावी हैं इसीलिए आज खरीदारी या स्टॉक buy करने से प्रॉफिट हो सकता है।

  • इस candle का opening price ही lowest price होता है और closing price ही highest price होता है।
  • मतलब एक बार खुलने के बाद यह कैंडल उस पॉइंट से नीचे नहीं जाती है और जहां पर बंद होती हैं वहां से ऊपर नहीं जाती है।

अगर Bullish Marubozu candle चार्ट पर downtrend में बनती है तो आप अगली कैंडल पर upside के लिए trade कर सकते हैं।

सबसे अच्छा बुलिश कैंडलस्टिक पेटर्न कौन सा है?

हैमर, इनवर्टेड हैमर, मॉर्निंग स्टार, बुलिश स्पिनिंग टॉप और ड्रैगनफ्लाई डोजी सबसे बेस्ट बुलिश कैंडलेस्टिक पेटर्न माने जाते हैं।

कौन सी कैंडल शेयर प्राइस ऊपर जाने का संकेत देती है?

हरे रंग की बुलिश कैंडल शेयर प्राइस ऊपर जाने का संकेत देती है जिसमें हैमर, मारुबोजू और डोजी कैंडलस्टिक सबसे बेस्ट हैं क्योंकि इन कैंडल के बनते ही शेयर प्राइस बढ़ने की संभावना होती है।

__________________________________

ऊपर मैंने आपको टॉप 10 बुलिश कैंडलस्टिक पेटर्न के बारे में बताया है कि शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करते समय चार्ट पर कौन सा पैटर्न कब बनता है, किस पैटर्न में कब entry लेना है, कब exit करना है और stoploss कहां पर लगाना है इसके बारे में बताया है।

मुझे पूरी उम्मीद है कि bullish candlestick patterns के बारे में यह जानकारी आपको जरूर उपयोगी लगी होगी।

ये भी पढ़ें,

अगर आप सभी प्रकार के कैंडलस्टिक पेटर्न को बिल्कुल आसान भाषा में स्टेप बाय स्टेप सीखना चाहते हैं तो आपको नीचे दी गई बेस्ट कैंडलेस्टिक बुक जरूर पढ़ना चाहिए–

Candlestick Pattern Book in Hindi

कैंडलस्टिक पेटर्न के बारे में सबसे आसान भाषा में और उदाहरण के साथ सीखने के लिए आपको नीचे दी गई किताब जरूर पढ़नी चाहिए जो अब तक की कैंडलस्टिक पर लिखी गई सबसे बेस्ट किताब है. नीचे दिए इमेज पर क्लिक करके आप इस किताब को डाउनलोड कर सकते हैं―

Candlestick pattern book in Hindi
4.9/5 - (8 votes)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️