CAGR Meaning in Hindi | CAGR क्या है, सीएजीआर की गणना कैसे करें?

CAGR Meaning in Hindi, CAGR Full form, CAGR kya hai with example, सीएजीआर का अर्थ, सीएजीआर की गणना कैसे करें (पूरी जानकारी हिंदी में)

दोस्तों अक्सर हम शेयर बाजार, म्युचुअल फंड या बिजनेस के फील्ड में हम कई बार CAGR का नाम सुनते रहते हैं जैसे कि किसी कंपनी ने किसी साल 10% सीएजीआर का रिटर्न दिया तो इसका असली मतलब क्या हुआ,

या फिर किसी कंपनी का ईपीएस (EPS) यानी प्रति शेयर कमाई में इस बार 20% CAGR की बढ़ोतरी दर्ज की गई तो इसका क्या अर्थ हुआ?

ऐसे ही कई सारी बातें हम CAGR के बारे में अक्सर सुनते रहते हैं लेकिन आखिर यह CAGR होता क्या है और इसकी गणना कैसे करते हैं, आज हम इसके बारे में थोड़ा डिटेल में जानने वाले हैं.

CAGR क्या होता है – What is CAGR in Hindi

CAGR Meaning in Hindi

सरल शब्दों में का सीएजीआर का अर्थ (meaning) होता है ‘सालाना चक्रवृद्धि ब्याज‘ मतलब आपकी निवेश की गई पूंजी पर मिलने वाला वार्षिक कंपोउंडेड रिटर्न ही CAGR कहलाता है।

सीएजीआर का क्या मतलब है?

सीएजीआर का मतलब है वह रिटर्न जो आपके पैसे पर कंपाउंड इंटरेस्ट की दर से मिलता है।

यानी कि जब आपका निवेश किया गया अमाउंट (पैसा) compound interest की रेट से बढ़ता है तो उसका जो ब्याज दर (interest rate) होता है उसे ही हम उस अमाउंट का सीएजीआर (CAGR) कहते हैं।

CAGR का Full form क्या है?

CAGR Full Form in Hindi– CAGR का फुल फॉर्म है ‘Compounded Annual Growth Rate

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें

शेयर मार्केट, म्युचुअल फंड या इन्वेस्टिंग में बार-बार CAGR शब्द सुनने को मिलता है लेकिन ऐसे में हमें इसका असली मतलब पता नहीं होता है.

बहुत बार आपने सुना होगा कि शेयर मार्केट 20% सीएजीआर की दर से बढ़ रहा है तो आखिर इसका मतलब क्या है?

या फिर आपको सुनने को मिला होगा कि इस साल किसी कंपनी ने 10% सीएजीआर का प्रॉफिट दिया तो इसका असल में मतलब क्या हुआ?

चलिए अब इसके बारे में थोड़ा विस्तार से जान लेते हैं–

सबसे पहले तो आप इतना समझ लीजिए कि जब भी शेयर बाजार में किसी कंपनी या शेयर के रिटर्न या उसकी ग्रोथ की बात होती है तो उसे हमेशा CAGR में कैलकुलेट किया जाता है.

क्योंकि share market में आपको जो रिटर्न मिलते हैं वह हमेशा कंपाउंड इंटरेस्ट के रेट से यानी चक्रवृद्धि ब्याज की दर से प्राप्त होते हैं जिसे हम शॉर्ट में ‘CAGR‘ बोलते हैं।

  • मतलब अगर किसी कंपनी ने अपने निवेशकों को पिछले 20 सालों में एवरेज सालाना 20% के रिटर्न दिए हैं तो इसका मतलब हुआ कि उस कंपनी का 20 साल का CAGR 20% है।

इसी प्रकार अगर कोई शेयर 10% growth रेट से हर साल बढ़ रहा है तो हम कह सकते हैं कि उस शेयर का CAGR 10% है।

अब आप इतना तो समझ गए होंगे कि औसत चक्रवृद्धि ब्याज की दर को ही हम ‘CAGR’ कहते हैं।

CAGR का उदाहरण (Example of CAGR in Hindi)

मान लो 2010 में ABC लिमिटेड कंपनी का प्रॉफिट 1000 करोड़ Rs था जोकि 2020 में बढ़कर 30000 करोड़ रुपये हो गया,

तो यह बोला जाएगा कि ABC लिमिटेड कंपनी का प्रॉफिट 2010 से लेकर 2020 तक यानी 10 सालों में 40.51% CAGR से बढ़ा है।

मतलब एबीसी लिमिटेड कंपनी ने अपने प्रॉफिट को सालाना 40.51% के compound interest की दर से grow किया है।

लेकिन अब सवाल आता है कि हम कैसे सीएजीआर को कैलकुलेट कर सकते हैं, लेकिन उससे पहले जानते हैं कि आखिर–

CAGR का उपयोग कब और कहां किया जाता है?

CAGR का उपयोग बहुत सारे कामों में किया जा सकता है जैसे–

  • म्युचुअल फंड के सालाना रिटर्न कैलकुलेट करने में,
  • किसी कंपनी के शेयर प्राइस ने पिछले कुछ सालों में औसत कितने प्रतिशत की ग्रोथ दिखाई है, इसका पता करने में CAGR का उपयोग होता है।
  • किसी कंपनी का रेवेन्यू और प्रॉफिट साल दर साल कितनी तेजी से बढ़ रहा है उसका पता लगाने में,
  • किसी लिक्विड फंड या डेथ फंड का ब्याज कैलकुलेट करने में,
  • बैंक या एफडी की इंटरेस्ट रेट का सालाना औसत रिटर्न कैलकुलेट करने में आप CAGR का उपयोग कर सकते हैं।

और इसके अलावा भी बहुत सारे कामों में CAGR कैलकुलेट करने की जरूरत पड़ती है. कागर कैसे कैलकुलेट करते हैं इसके बारे में आगे इस पोस्ट में बताया गया है.

चलिए अब जानते हैं कि–

CAGR कैसे निकालें – How to calculate cagr in hindi

CAGR कैसे निकालते हैं, इसके लिए आपको CAGR फॉर्मूला का उपयोग करना होगा जिसके लिए आपको तीन चीजों की जरूरत पड़ेगी; पहले इन्वेस्टमेंट अमाउंट जो अपने निवेश किया है, दूसरा फाइनल इन्वेस्टमेंट की वैल्यू और तीसरा कितने सालों के लिए निवेश किया है वह टाइम पीरियड.

इन तीनों चीजों के द्वारा आप CAGR कैलकुलेट कर सकते हैं।

CAGR का Formula क्या है?

CAGR का फार्मूला नीचे दिया गया है;

 CAGR = (FV/SV)1/Year – 1  

इस फार्मूले में FV का मतलब है फाइनल वैल्यू मतलब वह अमाउंट जो आपके निवेश के अंत में मिलता है.

SV का मतलब है स्टार्टिंग वैल्यू यानी वह अमाउंट जो आप शुरुआत में लगाते हैं या निवेश करते हैं.

और Year का मतलब है कि आपने जितने साल के लिए निवेश किया है वह समयावधि दर्शाता है.

चलिए अब स्टेप बाय स्टेप जानते हैं कि आखिर इस फॉर्मूला का उपयोग करके सीएजीआर की गणना कैसे की जाती है–

सीएजीआर की गणना कैसे करें?

  • सीएजीआर की गणना करने के लिए आप ऊपर दिए गए फार्मूले में सबसे पहले इन्वेस्टमेंट अमाउंट डालें.
  • इसके बाद अपने इन्वेस्टमेंट की फाइनल वैल्यू डालें जो आप निवेश के अंत में प्राप्त करना चाहते हैं.
  • फिर इसी फार्मूले में ‘Year’ की जगह वह टाइम ड्यूरेशन यानी समय (Years) डालें जितने समय के लिए आपने निवेश कर रहे हैं।

उदाहरण के लिए;

मान लो आपने आज किसी म्युचुअल फंड में 1000 Rs निवेश किये जोकि 5 साल बाद बढ़कर 5000 Rs हो गए मतलब आपका पैसा 5 साल में लगभग डबल हो गया.

लेकिन अब सवाल आता है कि इन 5 सालों का औसत कंपाउंडेड रिटर्न यानी CAGR क्या होगा?

तो CAGR निकालने के लिए आप ऊपर दिए गए फार्मूले में SV की जगह 1000 Rs डाल दें ( क्योंकि यह वह अमाउंट है जो आप स्टार्टिंग में निवेश कर रहे हैं)

इसके बाद FV में 5000 Rs ( जो की फाइनल अमाउंट आपको मिलेगा) डालें

और ‘Year’ के जगह उतने साल डालें जितने सालों के लिए आप निवेश कर रहे हैं मतलब 5 साल.

तो इस प्रकार आपका फार्मूला कुछ इस तरह दिखेगा;

CAGR = (5000/1000)1/5 – 1  

जब आप इस फार्मूले के द्वारा कैलकुलेशन करेंगे तो आप पाएंगे कि आपको सालाना 37.97% का रिटर्न मिला है।

यानी कि आप कह सकते हैं कि 5 साल के लिए 1000 रुपये निवेश करने पर अगर 5 साल बाद 5000 रुपये मिलते हैं तो आपका इन्वेस्टमेंट अमाउंट 37.97% CAGR से बढ़ा है.

या फिर आपके निवेश किए हुए पैसों पर आपको सालाना 37.97% CAGR की दर से रिटर्न मिला है।

मुझे उम्मीद है अब आप CAGR की गणना कैसे करते हैं, यह समझ गए होंगे.

CAGR calculator क्या होता है?

CAGR calculator वह ऑनलाइन कैलकुलेटर है जिसकी मदद से आप सिर्फ अपना निवेश अमाउंट, फाइनल वैल्यू और टाइम पीरियड यह तीनों चीजें डालकर आसानी से CAGR Returns कैलकुलेट कर सकते हैं।

वैसे तो इंटरनेट पर आपको काफी CAGR calculator मिल जाएंगे लेकिन मुझे सबसे अच्छा Groww का CAGR calculator लगता है क्योंकि इसका इंटरफेस एकदम साफ सुथरा है जिससे उपयोग करने में कोई कठिनाई नहीं होती और इसीलिए मैं हमेशा CAGR की गणना करने के लिए इसी कैलकुलेटर का उपयोग करता हूं.

5% सीएजीआर का क्या मतलब है?

5% सीएजीआर का मतलब है कि आपके द्वारा निवेश किया गया पैसा हर साल कंपाउंडेड 5% की औसत ब्याज दर से बढा है मतलब आपके पैसे पर आपको हर साल एवरेज 5% का रिटर्न मिला है।

यहां पर जरूरी नहीं है कि 5% सीएजीआर केवल आपके निवेश की वैल्यू की गणना करने के लिए उपयोग किया जाए बल्कि यह किसी म्युचुअल फंड के रिटर्न को कैलकुलेट करने में, किसी शेयर प्राइस की growth में होने वाली हर साल कितने प्रतिशत की वृद्धि हुई है इसकी गणना करने में

या फिर किसी कंपनी के प्रॉफिट की ग्रोथ या उसके रिटर्न को कैलकुलेट करने में CAGR का उपयोग किया जा सकता है.

FAQs (CAGR Meaning in Hindi)

10% सीएजीआर का क्या मतलब है?

10% सीएजीआर का मतलब है कि आपके निवेश किए गए अमाउंट पर आपको औसत 10% का सालाना रिटर्न मिला है। जब भी आप शेयर मार्केट या इंवेस्टिंग की दुनिया में 5%, 10% या 20% सीएजीआर का नाम सुनते हैं तो उसका सीधा सा मतलब यही होता है कि आपको औसत सालाना कंपाउंडेड रिटर्न इतने प्रतिशत की दर से मिला है।

4 साल सीएजीआर का क्या मतलब है?

4 साल सीएजीआर का मतलब है कि आपको आपके इन्वेस्टमेंट पर मिला जो ब्याज या रिटर्न मिला है वह आपको 4 साल में चक्रवृद्धि ब्याज की दर से मिला हुआ एवरेज रिटर्न है।

3 साल सीएजीआर का क्या मतलब है?

3 साल सीएजीआर का मतलब है कि आपको आपके इन्वेस्टमेंट पर मिला जो ब्याज या रिटर्न मिला है वह आपको 3 साल में चक्रवृद्धि ब्याज की दर से मिला हुआ एवरेज रिटर्न है।

CAGR कितना होना चाहिए?

एक अच्छा CAGR कितना होना चाहिए यह अलग-अलग चीजों के लिए अलग-अलग होता है जैसे; बैंक या एचडी में औसत 7% CAGR होना चाहिए, शेयर मार्केट में अच्छा रिटर्न कमाने के लिए कम से कम 15% से 20% CAGR होना चाहिए और म्युचुअल फंड में 12% से अधिक का CAGR अच्छा माना जाता है।

शेयरों के लिए सीएजीआर कितना अच्छा है?

शेयरों के लिए सीएजीआर 20% का सबसे अच्छा माना जाता है. इतना CAGR रिटर्न तो आपको बड़ी लार्ज कैप कंपनियों में आसानी से मिल जाता है लेकिन अगर आप अपना पैसा मिड कैप या स्मॉल कैप कंपनियों में निवेश करते हैं तो आपको 50% से 100% CAGR तक भी रिटर्न मिल सकते हैं।

क्या 100% सीएजीआर अच्छा है?

अगर आप हाई रिस्की स्टॉक में निवेश करते हैं तो आपको 100% सीएजीआर की दर से रिटर्न मिल सकता है या फिर कई पेनी स्टॉक्स में तो इससे भी ज्यादा रिटर्न मिल जाता है देखा जाए तो शेयर मार्केट में 100% सीएजीआर एक बहुत अच्छा रिटर्न माना जाता है लेकिन इसमें आपको जोखिम भी उतना ही अधिक लेना पड़ता है।

Conclusion – CAGR kya hota hai in hindi

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि CAGR क्या होता है (CAGR meaning in hindi), इसका उपयोग कब और कहां किया जाता है, सीएजीआर की गणना कैसे करते हैं और 5% या 10% सीएजीआर का क्या मतलब होता है.

मुझे पूरी उम्मीद है कि CAGR के बारे में दी गई जानकारी आपको बहुत उपयोगी लगी होगी और अब आप इसके बारे में बहुत कुछ समझ गए होंगे.

ये भी पढ़ें,

अगर अभी भी आपके मन में इस टॉपिक से संबंधित कोई भी सवाल है तो नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

5/5 - (12 votes)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️