क्या मैं 6 महीने के लिए एसआईपी में निवेश कर सकता हूं?

जब आप पहली बार SIP करने की सोचते हैं तो आपके मन में इस प्रकार के सवाल जरूर आते होंगे कि क्या मैं 6 महीने के लिए एसआईपी में निवेश कर सकता हूं या फिर एसआईपी में कब तक निवेश करना चाहिए ताकि हम अपने पैसों पर अच्छे से अच्छे रिटर्न कमा सकें.

तो आज हम आपको इस टॉपिक के बारे में थोड़ा डिटेल में बताने वाले हैं और इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप समझ जाएंगे कि SIP को कब और कितने लंबे समय के लिए करना चाहिए और कम से कम कितने समय के लिए एसआईपी में निवेश कर सकते हैं.

चलिए अब सीधा बढ़ते हैं अपने टॉपिक की ओर–

क्या मैं 6 महीने के लिए एसआईपी में निवेश कर सकता हूं?

क्या मैं 6 महीने के लिए एसआईपी में निवेश कर सकता हूं

हां, आप 6 महीने के लिए एसआईपी में निवेश कर सकते हैं, लेकिन याद रहे कि SIP यानी (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) आमतौर पर लंबी अवधि के निवेश के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है.

जबकि छोटे समय सीमा में एसआईपी का फ़ायदा कम होता है क्योंकि बाज़ार में अस्थिरता के चलते आपके रिटर्न पर असर पड़ सकता है।

अगर आप short term के लिए निवेश कर रहे हैं, तो Liquid fund या short-term debt funds में पैसा इन्वेस्ट करने के बारे में सोच सकते हैं।

मैं समझ सकता हूं कि अभी आप short-term investment के विकल्प ढूंढ रहे हैं लेकिन अगर आपको SIP करना है तो आप लॉन्ग टर्म में ही wealth क्रिएट कर सकते हैं।

लेकिन चूंकि आपका interest 6 महीने या उससे कम time period में है इसलिए नीचे मैंने आपको कुछ शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शंस के बारे में बताया है जिनमें आप 6 महीने या 3 महीने के लिए पैसे इन्वेस्ट कर सकते हैं–

Short-term investment options क्या हैं?

शॉर्ट टर्म के लिए कुछ प्रमुख इन्वेस्टमेंट ऑप्शंस नीचे दिए गए हैं–

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें
  1. Liquid Funds: ये कम जोखिम वाले म्यूचुअल फंड होते हैं जो short-term liquidity प्रदान करते हैं मतलब इसमें आप अपने फंड को तुरंत निकाल सकते हैं यानी पैसे withdraw कर सकते हैं।
  2. Short-Term Debt Fund: ये फंड low to medium risk वाले funds होते हैं और आम तौर पर इनमें 1 से 3 साल के लिए इन्वेस्ट करने की सलाह दी जाती है। ये मुख्य रूप से government securities और corporate bonds के रूप में उपलब्ध होते हैं।
  3. Fixed Deposit (FD): बैंक और वित्तीय संस्थानों में आप Short term के लिए एफडी खोल सकते हैं। एफडी ब्याज कमाने का सबसे सेफ ऑप्शन होता है जिसमें आपका ब्याज और अवधि दोनों निश्चित होती है और निश्चित ब्याज दर ऑफर करते हैं।
  4. Recurring Deposits (RD): इसमें आप monthly निश्चित राशि जमा करते हैं और कार्यकाल के अंत में maturity राशि मिलती है। अगर आप भी RD करना चाहते हैं तो आप किसी भी बैंक में जाकर करवा सकते हैं।
  5. Treasury Bill (T-Bill): ये कुछ गवर्नमेंट सिक्योरिटीज होती हैं जो बहुत छोटे टाइम के निवेश के लिए होती हैं। इनमें भी अलग-अलग मेच्योरिटी अवधि होती है, बता दें कि मेच्योरिटी का मतलब होता है कि आपको आपका इन्वेस्ट किया हुआ पैसा कितने समय बाद ब्याज के साथ मिलेगा)
  6. Short-term Bonds: कॉर्पोरेट और सरकारी अल्पकालिक बांड भी एक विकल्प हो सकते हैं, लेकिन उनमें पैसा इन्वेस्ट करने से पहले उनका risk profile समझना बहुत महत्वपूर्ण है।
  7. Money Market Bond: ये फंड आपके पैसे को शॉर्ट-टर्म सिक्योरिटीज जैसे commercial paper और Treasury bills में निवेश करते हैं।

उम्मीद करता हूं अब आप समझ गए होंगे कि सिर्फ SIP ही एकलौता जरिया नहीं है 6 महीने के लिए पैसा इन्वेस्ट करने के लिए. अगर आप अपने पैसों को किसी अच्छी जगह इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो ऊपर बताए गए इन्वेस्टमेंट ऑप्शंस में से भी आप किसी भी एक विकल्प का चुनाव कर सकते हैं।

यहां पर मैंने आपको 6 महीने के लिए एसआईपी के निवेश कर सकते हैं या नहीं यह तो बता दिया लेकिन कुछ लोगों के मन में यह भी सवाल आ रहा होगा कि;

क्या हम एसआईपी में 3 महीने के लिए निवेश कर सकते हैं?

जी हां, आप एसआईपी में 3 महीने के लिए निवेश कर सकते हैं लेकिन 3 महीने बाद एसआईपी से पैसा निकालते समय आपके रिटर्न में अनिश्चितता दिख सकती है।

मतलब आपके रिटर्न नेगेटिव में भी जा सकते हैं इसलिए इतने छोटे टाइम फ्रेम के लिए एसआईपी करने से हमेशा बचना चाहिए क्योंकि छोटे पीरियड में SIP में कम रिटर्न मिलने की संभावना होती है।

निष्कर्ष,

इस आर्टिकल में मेरी बस यही कोशिश थी कि आपको इतना बताया जाए कि एसआईपी में 6 महीने के लिए निवेश किया जा सकता है लेकिन आपको मार्केट volatility के कारण आपके निवेश किए गए पैसों पर रिटर्न कभी ज्यादा तो कभी कम मिल सकते हैं।

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि शॉर्ट टर्म में शेयर बाजार में काफी उतार-चढ़ाव होते रहते हैं जबकि long term में मार्केट स्थिरता के साथ ऊपर ही जाता है इसलिए लंबी अवधि में एसआईपी में रिटर्न काफी शानदार मिलते हैं।

इसके अलावा लॉन्ग टर्म एसआईपी में निवेश करने का एक फायदा यह है कि आपको कंपाउंडिंग का फायदा मिल जाता है मतलब आपके पैसे पर मिलने वाला ब्याज भी ब्याज कमाने लगता है जिससे कि लॉन्ग टर्म में आप एक बड़ी wealth क्रिएट कर पाते हैं।

ये भी पढ़ें,

5/5 - (3 votes)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️