शेयर मार्केट में कंपनी लिस्ट कैसे करें? – (Step By Step)

अगर आप जानना चाहते हैं कि शेयर मार्केट में कंपनी लिस्ट कैसे करें तो यह पोस्ट आपके लिए है क्योंकि आज मैं आपको बताऊंगा कि अगर आपकी कोई कंपनी है जिसे आप स्टॉक एक्सचेंज यानी शेयर मार्केट में लिस्ट करना चाहते हैं ताकि आम लोग आपकी कंपनी का शेयर खरीद सके तो इसके लिए आपको क्या प्रक्रिया फॉलो करनी होगी उसके बारे में आज हम आपको बताएंगे।

अगर आपकी कोई कंपनी है तो हो सकता है कि आप अपनी कंपनी के कुछ इक्विटी के बदले शेयर बाजार से पैसे जुटाना चाहते हैं और इसीलिए आप अपनी कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट करना चाहते हैं.

लेकिन आपको नहीं पता कि आखिर हमें किसी भी कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट करने के लिए कौन-कौन से स्टेप्स फॉलो करने पड़ते हैं.

तो चिंता मत कीजिए इस पोस्ट को शुरू से अंत तक पूरा पढ़िए मैं वादा करता हूं कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप शेयर मार्केट में कंपनी लिस्ट करने से संबंधित सब कुछ विस्तार से सीख जाएंगे.

शेयर मार्केट में कंपनी लिस्ट कैसे करे?

शेयर मार्केट में कंपनी लिस्ट कैसे करें, How to list a company in stock market

किसी भी कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट करना एक detailed process होती है। नीचे मैंने step by step बताया है कि शेयर मार्केट में कंपनी लिस्ट कैसे करें

1. कंपनी की योग्यता चेक करें

सबसे पहले आपको यह पता करना होगा कि क्या आपकी कंपनी स्टॉक एक्सचेंज के eligibility criteria को पूरा करती है या नहीं. ये सभी क्राइटेरिया स्टॉक एक्सचेंज के रूल्स और रेगुलेशंस के आधार पर डिसाइड होते हैं।

मान लो आप किसी XYZ Industries के मालिक हैं और आप इस कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट करने की सोच रहे हैं तो सबसे पहले आपको यह चेक करना होगा कि आपकी कंपनी स्टॉक एक्सचेंज के सभी क्राइटेरिया को पूरा करती है या नहीं? अगर करती है तो आप इसे शेयर मार्केट में लिस्ट कर सकते हैं।

लेकिन अब सवाल यह आता है कि आखिर वह कौन-कौन से क्राइटेरिया होते हैं जो किसी भी कंपनी को शेयर मार्केट लिस्ट करने के लिए स्टॉक एक्सचेंज द्वारा निर्धारित किए जाते हैं?

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें

चलिए अब इन सभी क्राइटेरिया के बारे में जान लेते हैं―

🔴 Financial Health

सबसे पहला क्राइटेरिया यह है कि आपकी कंपनी के आर्थिक स्थिति यानी financial health मजबूत होना चाहिए. और आपकी कंपनी फाइनेंशियल कितनी स्ट्रांग है इसको चेक करने के लिए आपकी कंपनी के Income Statement, Balance Sheet और Cash Flow Statement इन तीनों फाइनेंशियल स्टेटमेंट को चेक किया जाएगा.

इसके अलावा शेयर मार्केट में कंपनी लिस्ट करने के लिए आपकी कंपनी के पास पर्याप्त assets और इक्विटी होना बहुत जरूरी है।

🔴 Market Capitalization

स्टॉक एक्सचेंज के नियमों के अनुसार, शेयर मार्केट में लिस्ट करने के लिए आपकी कंपनी का एक मिनिमम मार्केट कैप होना चाहिए. मतलब अगर आपकी कंपनी का साइज बहुत छोटा है तो आप उसे शेयर मार्केट में लिस्ट नहीं कर सकते हैं।

🔴 Track Record

आपकी कंपनी का कुछ सालों का ट्रैक रिकॉर्ड देखा जाता है मतलब अगर आपकी कंपनी बहुत ही खराब perform कर रही है और इसका ट्रैक रिकॉर्ड शुरू से लेकर अब तक बहुत ही खराब रहा है तो आप इसे शेयर मार्केट में लिस्ट नहीं कर सकते.

🔴 Regulatory compliance

आपकी कंपनी को लागू नियामक प्राधिकरणों के नियमों और विनियमों का पालन करना होगा। अगर आपने किसी कानूनी मामले में शामिल होकर नकारात्मक ध्यान आकर्षित किया है, तो पात्रता (eligibility) पर असर पड़ सकता है।

🔴 Business Plan

आपकी कंपनी का detailed business plan और future growth पर भी विचार किया जाएगा। निवेशकों को ये दिखाना होगा कि आपकी कंपनी के पास विकास की संभावनाएं हैं भी या नहीं।

🔴 Corporate Governance

आपकी कंपनी को उचित कॉर्पोरेट गवर्नेंस प्रथाओं का पालन करना चाहिए। क्योंकि किसी भी कंपनी के लिए transparency रखना निवेशकों का विश्वास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

अगर आपकी कंपनी ऊपर बताए गए सभी क्राइटेरिया को पूरा करती है तो आप काफी हद तक शेयर मार्केट में अपनी कंपनी लिस्ट करने के लिए तैयार हैं. लेकिन उससे पहले आपको नीचे दिए गए कुछ अन्य स्टेप्स भी फॉलो करने होंगे जिसमें अगला स्टेप है–

2. कंपनी लिस्ट करने के लिए सलाहकार नियुक्त करें

आपको कानूनी सलाहकार, वित्तीय सलाहकार, और investment bankers की मदद लेनी चाहिए जो आपको लिस्टिंग प्रक्रिया में मार्गदर्शन करेंगे।

3. कंपनी की Auditing प्रक्रिया पूरी करें

अपनी कंपनी के वित्तीय विवरण और दस्तावेज़ों का ऑडिट करें। ये एक ऑडिटिंग प्रक्रिया होती है जिसमें आपकी कंपनी की वित्तीय स्थिति और पारदर्शिता जांच की जाती है।

4. Draft प्रॉस्पेक्टस तैयार करना होगा

प्रॉस्पेक्टस तैयार करें, जिस कंपनी के financials, बिजनेस मॉडल, और भविष्य की योजनाएं शामिल होती हैं। ये documents संभावित निवेशकों को प्रदान किया जाता है।

5. रेगुलेटरी बॉडी से अप्रूवल कराना होगा

जैसा कि हमारे देश में शेयर मार्केट को Regulatory body जिसका नाम है – SEBI यानी सिक्योरिटी एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया. और यही रेगुलेटरी बॉडी पूरे शेयर मार्केट को कंट्रोल करती है और नियम लागू करती है इसलिए आपको अपनी कंपनी लिस्ट करवाने से पहले सेबी से अप्रूवल करवाना होगा.

6. रोड शो आयोजित करें

निवेशकों के लिए रोड शो और प्रेजेंटेशन का आयोजन करें जिसके जरिए आपकी कंपनी में जो लोग निवेश करने वाले हैं उनको पता चलेगा कि आपकी कंपनी में पैसा इन्वेस्ट करने पर उन्हें कैसे फायदा मिल सकता है.

दरअसल यह आपका बिजनेस का एक तरह का प्रमोशन होता है जिसमें आपको अपनी कंपनी की फ्यूचर ग्रोथ और आपके बिजनेस में आने वाले समय में जो मौके खुलने वाले हैं उनके बारे में आप प्रेजेंटेशन के जरिए बता सकते हैं।

7. कंपनी लिस्ट करने के लिए आवेदन जमा करें

अब आपको स्टॉक एक्सचेंज के पास डॉक्यूमेंटेशन प्रक्रिया को पूरा करना होगा मतलब अपनी कंपनी से सभी जरूरी डॉक्यूमेंट जमा करने होंगे इसके बाद ही आपका आवेदन कंप्लीट हो पाएगा. सबसे पहले स्टॉक एक्सचेंज आपके आवेदन को रिव्यू करेगा और फिर प्रोसेस करने के लिए आगे भेज देगा।

8. शेयर मार्केट में लिस्टिंग के लिए अप्रूवल लेना होगा

आपके सभी डॉक्यूमेंट और क्राइटेरिया को देखने के बाद अगर स्टॉक एक्सचेंज आपकी कंपनी से संतुष्ट हो जाता है और क्योंकि आपकी कंपनी सेबी के भी सभी नियमों का पालन करती है तो एक्सचेंज आपकी कंपनी को या मार्केट में करने की अनुमति दे देता है.

अगर एक्सचेंज संतुष्ट हो गया है, तो वह आपकी कंपनी को लिस्ट करने की अनुमति देगा।

9. आईपीओ की तैयारी करें

इस स्टेप में आपको आईपीओ (initial public offer) लॉन्च करना होगा जिसके लिए आप बाजार को बताओगे कि आप शेयर मार्केट से कितना पैसा उठाने वाले हैं और आप अपनी कंपनी को कितने रुपए किसी और प्राइस पर शेयर बाजार में लिस्ट करना चाहते हैं.

तो इस तरह जब आप अपनी कंपनी का आईपीओ लॉन्च कर देंगे तो इसका मतलब है कि आपकी कंपनी के शेयर जितने आपने स्टॉक एक्सचेंज को पब्लिक के लिए डिसाइड किए होंगे, उतने शेयर पब्लिक को आईपीओ के जरिए खरीदने के लिए allot कर दिए जाएंगे.

10. शेयर मार्केट में सफलतापूर्वक कंपनी लिस्ट करें

जैसे ही आपकी कंपनी के शेयर पब्लिक के लिए उपलब्ध कर दिए जाते हैं तो अब आम निवेशक स्टॉक एक्सचेंज के द्वारा आपकी कंपनी के शेयर को खरीद और भी सकते हैं और उन्हें ट्रेडिंग कर सकते हैं।

याद रखिए– आपकी कंपनी के शेयर बाजार में सूचीबद्ध (listed) होने के बाद भी आपको सभी नियमों और विनियमों का पालन करना होगा। अगर सेबी की नजर में आपके द्वारा कोई गलत गतिविधि पकड़ी जाती है तो आपकी कंपनी को नियामक संस्था सेबी के द्वारा De-list करने की संभावना बढ़ जाती है इसलिए कंपनी लिस्ट होने के बाद ध्यानपूर्वक सभी नियमों का पालन करें।

तो यह थी पूरी प्रक्रिया किसी की कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट करने की मुझे पूरी उम्मीद है कि अब आप समझ गए होंगे कि शेयर मार्केट में कंपनी लिस्ट कैसे करें और इसके लिए आपको क्या-क्या करना पड़ता है.

अगर अभी भी आपके मन में इस टॉपिक से संबंधित कोई भी डाउट है तो नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

4.8/5 - (6 votes)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️