Share Market सोमवार 22 जनवरी को बंद क्यों रहेगा? – इस दिन क्या है खास?

अगर आप शेयर मार्केट में ट्रेडिंग या इन्वेस्टिंग करते हैं तो यह खबर आपके लिए जानना बहुत जरूरी है क्योंकि इससे आपको पता चलेगा कि हमारी इकोनोमी में आजकल क्या चल रहा है और हमारे देश की सरकार अयोध्या में राम मंदिर को लेकर इतनी उत्साहित क्यों है और क्या इस मौके का लाभ आप और हम जैसे छोटे निवेशक उठा सकते हैं अगर हां तो कैसे?

सोमवार के दिन शेयर मार्केट क्यों बंद है

आज हम इसी के बारे में चर्चा करेंगे लेकिन उससे पहले आपके लिए यह जानना जरूरी है कि आखिर–

सोमवार 22 जनवरी को शेयर बाजार क्यों बंद रहेगा?

भारतीय शेयर बाजार, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) सोमवार, 22 जनवरी, 2024 को बंद रहेंगे। यह दिन अयोध्या में राम मंदिर के गर्भगृह में राम लला की नई मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के लिए निर्धारित किया गया है।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने भी इस दिन सरकारी सिक्योरिटीज, विदेशी एक्सचेंज, मनी मार्केट्स और रुपी इंटरेस्ट रेट डेरीवेटिव्स में कोई ट्रांजैक्शन या सेटलमेंट नहीं होने की घोषणा की है। सभी बकाया ट्रांजैक्शन का सेटलमेंट अब 23 जनवरी, 2024 यानी मंगलवार को होगा।

राम मंदिर के निर्माण और प्राण प्रतिष्ठा समारोह को भारत में एक ऐतिहासिक घटना माना जा रहा है। इस दिन देश भर से लाखों श्रद्धालु अयोध्या पहुंचने की उम्मीद है। इस वजह से, शेयर बाजारों को बंद रखने का निर्णय लिया गया है ताकि कर्मचारियों और निवेशकों को यात्रा करने और समारोह में भाग लेने में आसानी हो सके।

शेयर बाजारों के बंद होने से निवेशकों को कुछ परेशानी हो सकती है। उन्हें अपने शेयरों की खरीद-बिक्री के लिए एक दिन इंतजार करना होगा। हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यह एक विशेष अवसर है और शेयर बाजारों को बंद रखना उचित निर्णय है।

आखिर क्यों है यह समारोह खास?

राम मंदिर का प्राण प्रतिष्ठा समारोह भारत के लिए एक ऐतिहासिक घटना है। यह समारोह हिंदुओं के लिए एक महत्वपूर्ण धार्मिक अवसर है, और यह भारत की सांस्कृतिक और धार्मिक विरासत को भी दर्शाता है।

यह समारोह खास इसलिए है क्योंकि यह भारत के सबसे प्रतिष्ठित मंदिरों में से एक के निर्माण का प्रतीक है। राम मंदिर हिंदू धर्म में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है, और यह भारत के कई लोगों के लिए आस्था का प्रतीक है।

राम मंदिर बनने से भारत की अर्थव्यवस्था पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

अयोध्या में राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह का भारत की अर्थव्यवस्था पर सकारात्मक प्रभाव पड़ने की संभावना है। इस समारोह के कारण देश भर से लाखों श्रद्धालु अयोध्या पहुंचेंगे, जिससे पर्यटन और होटल उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा, इस समारोह से भारत की सांस्कृतिक और धार्मिक विरासत को बढ़ावा मिलेगा, जिससे देश की छवि में सुधार होगा।

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें

विशेष रूप से, राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के निम्नलिखित प्रभाव पड़ने की संभावना है:

  1. पर्यटन और होटल उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। देश भर से लाखों श्रद्धालु अयोध्या पहुंचेंगे, जिससे पर्यटन और होटल उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। इससे स्थानीय व्यवसायों को लाभ होगा और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
  2. भारत की सांस्कृतिक और धार्मिक विरासत को बढ़ावा मिलेगा। राम मंदिर हिंदू धर्म में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है, और यह भारत की सांस्कृतिक और धार्मिक विरासत को दर्शाता है। इस समारोह से भारत की सांस्कृतिक और धार्मिक विरासत को बढ़ावा मिलेगा और देश की छवि में सुधार होगा।
  3. भारत की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। पर्यटन और होटल उद्योग में वृद्धि से भारत की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। इससे राजस्व बढ़ेगा और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

कुल मिलाकर, राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह का भारत की अर्थव्यवस्था पर सकारात्मक प्रभाव पड़ने की संभावना है।

राम मंदिर बनने से शेयर मार्केट को कैसे होगा फायदा?

अयोध्या में राम मंदिर बनने से शेयर बाजार को निम्नलिखित तरीकों से फायदा हो सकता है:

  • पर्यटन और होटल उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। राम मंदिर हिंदुओं के लिए एक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है, और इसके निर्माण से दुनिया भर से लाखों श्रद्धालु अयोध्या आने की उम्मीद है। इससे पर्यटन और होटल उद्योग को बढ़ावा मिलेगा, जिससे स्थानीय व्यवसायों को लाभ होगा और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
  • स्थानीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। राम मंदिर के निर्माण और संचालन से स्थानीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। इससे निर्माण उद्योग, परिवहन उद्योग, और अन्य संबंधित व्यवसायों को लाभ होगा।
  • देश की छवि में सुधार होगा। राम मंदिर भारत की सांस्कृतिक और धार्मिक विरासत को दर्शाता है। इसके निर्माण से देश की छवि में सुधार होगा और विदेशी निवेश को आकर्षित करने में मदद मिलेगी।

इन सभी कारकों से शेयर बाजार में निवेशकों का विश्वास बढ़ सकता है, जिससे शेयरों की कीमतों में वृद्धि हो सकती है।

विशेष रूप से, निम्नलिखित क्षेत्रों के शेयरों में राम मंदिर के निर्माण से फायदा होने की संभावना है:

  • पर्यटन: होटल, रेस्तरां, ट्रैवल एजेंसियां, और अन्य पर्यटन से संबंधित व्यवसायों के शेयरों में वृद्धि हो सकती है।
  • निर्माण: निर्माण सामग्री, निर्माण उपकरण, और अन्य निर्माण से संबंधित व्यवसायों के शेयरों में वृद्धि हो सकती है।
  • परिवहन: परिवहन सेवाएं, जैसे कि हवाई यात्रा, रेल यात्रा, और बस सेवाएं प्रदान करने वाले व्यवसायों के शेयरों में वृद्धि हो सकती है।
  • अन्य संबंधित व्यवसाय: मंदिर के निर्माण और संचालन से जुड़े अन्य व्यवसायों, जैसे कि किराने की दुकानें, कपड़े की दुकानें, और अन्य खुदरा व्यवसायों के शेयरों में वृद्धि हो सकती है।

राम मंदिर प्रोजेक्ट से शेयर मार्केट की कौन-कौन सी कंपनियों को लाभ होगा?

राम मंदिर के निर्माण से शेयर बाजार की इन कंपनियों को फायदा होने की संभावना है:

  • पर्यटन क्षेत्र:
    • अपोलो सिंदूरी होटल्स
    • टाटा सन होटल्स
    • इंडियन होटल्स कंपनी लिमिटेड
    • आईटीसी होटल्स लिमिटेड
    • ताज ग्रुप
  • निर्माण क्षेत्र:
    • लार्सन एंड टुब्रो (L&T)
    • टीसीएस कंस्ट्रक्शन
    • एचसीएल कंस्ट्रक्शन
    • जेपीसी इन्फ्रास्ट्रक्चर
    • एलिवेटेड रोड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया
  • परिवहन क्षेत्र:
    • इंडिगो
    • एयर इंडिया
    • स्पाइसजेट
    • इंडियन एयरलाइंस
    • भारतीय रेलवे
  • अन्य संबंधित क्षेत्र:
    • टाटा स्टील
    • आईएसआरओ
    • एल्युमिनियम कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड
    • हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड
    • अमूल

इन कंपनियों के शेयरों में राम मंदिर के निर्माण से वृद्धि होने की संभावना है। हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि शेयर बाजार हमेशा अस्थिर होते हैं, और राम मंदिर के निर्माण से शेयर बाजार में कोई गारंटीकृत वृद्धि नहीं होगी। निवेशकों को हमेशा अपनी निवेश रणनीति के अनुसार निर्णय लेना चाहिए।

इन कंपनियों के अलावा, अन्य कंपनियों को भी फायदा हो सकता है, जैसे कि:

  • होटल और रेस्तरां उपकरण बनाने वाली कंपनियां
  • पर्यटन स्थलों के लिए परिवहन सेवाएं प्रदान करने वाली कंपनियां
  • मंदिर के निर्माण और संचालन के लिए आवश्यक सामग्री और सेवाएं प्रदान करने वाली कंपनियां

निवेशकों को इन कंपनियों पर भी नजर रखनी चाहिए।

ये भी पढ़ें

5/5 - (2 votes)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️