स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले किसी को क्या सावधानी रखनी चाहिए? (17+ टिप्स)

स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले क्या सावधानियां रखनी चाहिए, शेयर खरीदने से पहले कौन-कौन सी बातों का ध्यान रखना चाहिए, शेयर मार्केट में नुकसान करने से कैसे बचें, (उदाहरण के साथ विस्तार से जानिए इस पोस्ट में)

ऐसा क्यों होता है कि कुछ लोग स्टॉक मार्केट में निवेश करके अमीर बन जाते हैं तो कुछ कंगाल हो जाते हैं. किसी कंपनी के शेयर आम इंसान को लखपति या करोड़पति बना देते हैं तो कुछ पेनी स्टॉक्स आपका सारा पैसा डूबा देते हैं।

  • यह बिल्कुल सच है कि शेयर बाजार में 90% नए निवेशक किसी खबर को पढ़कर या किसी के कहने पर बिना खुद से रिसर्च किए घटिया शेयर में निवेश कर देते हैं और अपने पैसों का नुकसान कर बैठते हैं।

जबकि वहीं दूसरी ओर 10% लोग समझदारी से किसी भी कंपनी के शेयर पर पूरा रिसर्च करके निवेश करते हैं, कंपनी के बिजनेस मॉडल, फंडामेंटल, बैलेंस शीट कैश फ्लो स्टेटमेंट और इनकम स्टेटमेंट पर अच्छे से रिसर्च करते हैं और ऐसे ही लोग शेयर मार्केट से लखपति और करोड़पति बनते हैं।

और इन सभी बातों के काफी सारे उदाहरण बाजार में पहले से ही मौजूद हैं जैसे राकेश झुनझुनवाला, राधाकृष्ण दमानी, रामदेव अग्रवाल, डॉली खन्ना (ये वो लोग हैं जो सिर्फ शेयर मार्केट से करोड़पति बने हैं)

अब सवाल आता है कि आखिर स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले किसी को क्या सावधानी रखनी चाहिए ताकि वह अपने निवेश पर ज्यादा से ज्यादा रिटर्न कमा सके?

आज हम इसी के बारे में विस्तार से बात करेंगे, आइए जानते हैं―

Contents

स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले क्या सावधानियां रखनी चाहिए
स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले क्या सावधानियां रखनी चाहिए

एक आम निवेशक जब पहली बार शेयर बाजार में निवेश करने की सोचता है तो उसे पता नहीं होता है कि आखिर निवेश करते वक्त वो कौन-कौन सी सावधानियां रखनी चाहिए जिससे वह शेयर मार्केट में अपना नुकसान करने से बच सके।

अगर आप भी किसी के कहने या सुनने पर किसी किसी और में पैसा लगा देते हैं तो आप निश्चित ही अपना पैसा गवा देंगे,

हो सकता है कि आपको किसी के बताए गए शेयर पर शॉर्ट टर्म में अच्छा प्रॉफिट मिल जाए लेकिन लॉन्ग टाइम में आपको हमेशा नुकसान होगा

ऐसा इसलिए होगा क्योंकि जिस कंपनी का आपने शेयर लिया है आपको ना तो उस कंपनी के बारे में पता नहीं है और ना ही उसके बिजनेस मॉडल के बारे में, इसलिए जब भी शेयर गिरेगा तो आप उसे बेचने की सोचेंगे जबकि एक समझदार निवेशक हमेशा इसका उल्टा करता है।

मतलब अगर आपने घंटों रिसर्च करके मजबूत कंपनी का शेयर लिया है तो अगर वह आपके खरीदे हुए प्राइस से काफी नीचे भी आता है तो ही आप उसे और खरीदने की सोचेंगे ना कि बेचने की 💪

क्योंकि अगर आपको उस कंपनी के बारे में पता होगा तो आपको यह भी पता होगा कि उस शेयर का प्राइस ऊपर नीचे क्यों हो रहा है, क्या कोई सीरियस प्रॉब्लम है या फिर टेंपरेरी बेस इस पर सिर्फ न्यूज़ के चलते शेयर की कीमतों पर इफेक्ट पड़ रहा है।

  • देखिए शेयर बाजार तो ऊपर नीचे होता ही रहता है इससे आपको डरना नहीं चाहिए क्योंकि एक समझदार निवेशक कभी भी ऐसी कंपनी में निवेश नहीं करता है जिसकी उसे बेसिक जानकारी नहीं होती है।

आइए अब यह जाने कि शेयर बाजार में निवेश करने से पहले कौन कौन सी सावधानियां रखनी चाहिए

शेयर मार्केट में निवेश करते वक्त ये सावधानियां रखें?

किसी भी शेयर में निवेश करते समय नीचे दिए गए सभी पॉइंट्स का ध्यान रखें―

1. सही डिमैट अकाउंट चुने

हर नए निवेशक को शेयर बाजार में निवेश करने का सबसे पहला कदम डिमैट अकाउंट खुलवाना होता है लेकिन कई बार कुछ नए लोग भरोसेमंद डिमैट अकाउंट की बजाए ऐसी कंपनियों के डिमैट अकाउंट खुलवा लेते हैं जिससे उन्हें बाद में काफी समस्याएं फेस करनी पड़ती है जैसे कस्टमर सपोर्ट सही नहीं मिलना, छुपे हुए टैक्स और चार्ज कट जाना, बैंक अकाउंट से पैसे ऐड या फिर withdraw करते समय error आना..

ऐसी दिक्कतें अक्सर तभी आती है जब आप किसी गलत डिमैट अकाउंट का चुनाव कर लेते हैं इसीलिए हमेशा शेयर बाजार में शुरुआत करते वक्त कुछ भरोसेमंद ब्रोकर जैसे― (जीरोधा, upstox, एंजल ब्रोकिंग आदि) के साथ ही अपना डिमैट अकाउंट खोलें।

मैं पर्सनली Upstox को पसंद करता हूं जिसमें सफल बिजनेसमैन रतन टाटा ने भी निवेश किया है और मैंने भी Upstox में ही अपना डिमैट अकाउंट खुलवाया हुआ है और आज तक मुझे कोई सी परेशानी नहीं आई है.

साथ ही साथ इनका कस्टमर सपोर्ट और चार्जेस फीस वगैरह भी सबसे कम है इसीलिए आप बिना किसी टेंशन के अपस्टॉक्स जैसे भरोसेमंद ब्रोकर के साथ अभी अपना डिमैट अकाउंट खोल सकते हैं।

अगर आपका भी डिमैट अकाउंट नहीं खुला है तो आप अभी इस लिंक पर जाकर अपना डिमैट अकाउंट खोल सकते हैं लेकिन अगर आपका डिमैट अकाउंट पहले से ही है तो इस पोस्ट को आगे पढ़ें।

2. सिर्फ चार्ट पेटर्न देखकर निवेश ना करें

स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले किसी को क्या सावधानी रखनी चाहिए?

एक बार डीमैट अकाउंट खुलवा लेने के बाद आप का सबसे पहला स्टेप होता है सही शेयर को खरीदना.

लेकिन कुछ लोग गलती है करते हैं कि जिस शेयर का प्राइस बढ़ रहा होता है या फिर जो शेयर लगातार ऊपर जा रहा होता है उसको खरीद लेते हैं।

मतलब ज्यादातर लोग सिर्फ शेयर का चार्ट पेटर्न देखकर ही उसे खरीद लेते हैं। ऐसे ही लोग आगे जाकर अपना पैसा डुबाते हैं। क्योंकि उन्हें ना तो कंपनी के बिजनेस के बारे में पता होता है और ना ही कंपनी के मैनेजमेंट के बारे में।

अगर कोई शेयर लगातार ऊपर जा रहा है तो आपको सबसे पहले यह पता करना चाहिए कि इसकी क्या वजह है कि उसका प्राइस ऊपर ही ऊपर जा रहा है..

हर शेयर के ऊपर या नीचे जाने का कोई ना कोई कारण जरूर होता है और वह आपको पता होना चाहिए. ज्यादातर शेयर का प्राइस तब ऊपर नीचे होता है जब कंपनी के फाइनेंसियल नंबर का अनाउंसमेंट होता है

मतलब जब कंपनी अपने क्वार्टरली रिजल्ट पेश करती है तो उसके अगले दिन ही उस कंपनी के शेयर में काफी तेजी और मंदी या उतार-चढ़ाव देखे जाते हैं।

और यह हर कंपनी के शेयर के साथ होता है इसीलिए कभी भी सिर्फ शेयर का चार्ट पेटर्न देखकर निवेश ना करें।

3. खुद से रिसर्च करके शेयर खरीदना चाहिए

कुछ लोग सिर्फ दूसरों की बातें सुनकर या टीवी और न्यूज़ चैनल्स पर किसी एक्सपर्ट की सलाह सुनकर शेयर खरीद लेते हैं क्योंकि उन्हें बताया जाता है कि आगे चलकर उस शेयर का दाम पड़ने वाला है।

जबकि सच्चाई अगर देखें तो ऐसा बहुत बार नहीं होता है कई बार तो इसका बिल्कुल उल्टा होता है। लेकिन फिर ये सब लोग ऐसे शेयर खरीदने की सलाह क्यों देते हैं जिसमें लोगों का नुकसान होता है।

देखिए ऐसा हर बार नहीं होता है हो सकता है कि आपको एक्सपर्ट के बताए गए शेयर पर कुछ टाइम के लिए फायदा हो जाए लेकिन फिर भी आपको खुद से रिसर्च करना सीखना होगा तभी आप एक सफल निवेशक बन सकते हैं।

आपको फंडामेंटल और टेक्निकल रिसर्च का थोड़ा बहुत ज्ञान होना जरूरी है। अगर आप स्टॉक मार्केट में एक सफल निवेशक बनना चाहते हैं तो आपको शेयर का फंडामेंटल एनालिसिस करना सीखना चाहिए

और अगर आप एक सफल ट्रेडर बनना चाहते हैं तो आपको टेक्निकल एनालिसिस सीखना चाहिए जिसमें शेयर के अलग-अलग चार्ट पेटर्न्स, जैसे कैंडलेस्टिक चार्ट्स और इंडिकेटर, स्टॉप लॉस, टारगेट प्राइस और मूविंग एवरेज इत्यादि के बारे में सिखाया जाता है।

  • एक बात गांठ बांध लीजिए― आज तक शेयर बाजार में अगर कोई करोड़पति बना है या जो भी अमीर बना है और जिसने अच्छा पैसा कमाया है तो उसने पहले शेयर बाजार को सीखा है और फिर निवेश किया है चाहे वह राकेश झुनझुनवाला हों, राधाकृष्ण दमानी हो या फिर कोई भी हो।

तो अगर आप सिर्फ दूसरों की सलाह पर या बिना किसी रिसर्च के शेयर खरीदना चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए नहीं है क्योंकि ऐसे लोगों को जुआरी कहते हैं ना कि निवेशक।

एक मजे की बात तो यह है कि ज्यादातर लोग ऐसे ही हैं जो शेयर मार्केट को पैसा डबल करने का माध्यम समझते हैं और यही लोग शेयर मार्केट कंगाल हो जाते हैं

और शायद यही कारण है कि आज भी इंडिया में सिर्फ 4% लोग स्टॉक मार्केट में निवेश करते हैं जबकि वहीं अमेरिका में 45% लोग शेयर मार्केट में निवेश करते हैं।

इसीलिए दूसरों से टिप्स लेने के बजाय खुद से रिसर्च करना सीखें और फिर निवेश करें, आइये आगे बढ़ते हैं―

4. कंपनी का बिजनेस समझने की कोशिश करें

अगर आपको कंपनी का बिजनेस समझ आता है तो आप शेयर के प्राइस में होने वाली मूवमेंट से कभी भी घबराएंगे नहीं. आपको पता होना चाहिए कि कंपनी कौन सा प्रोडक्ट या सर्विस बेचती है जिससे वह पैसा कमाती है।

उदाहरण के लिए: अगर आपने nestle कंपनी में निवेश किया है तो आपको पता होना चाहिए कि―

  • येे कंपनी कौन कौन से प्रोडक्ट बेचती है,
  • सबसे ज्यादा पैसा कौन से प्रोडक्ट से कमाती है,
  • कहीं ऐसा तो नहीं है कि कंपनी का सारा रिवेन्यू सिर्फ एक ही प्रोडक्ट पर निर्भर है,
  • क्या सरकार का उस कंपनी पर कोई दबाव है जिसके चलते कंपनी के बिजनेस पर असर पड़ सकता है

तो आपको इन सभी बातों का पता होना चाहिए और हर सफर निवेशक इन सभी सवालों की जांच पड़ताल सबसे पहले करता है उसके बाद ही वह किसी कंपनी में निवेश करता है।

कंपनी का बिजनेस समझने से आशय है कंपनी का बिजनेस मॉडल समझना मतलब है कि;

  • अगर हम टीसीएस इंफोसिस का बिजनेस मॉडल देखे तो यह कंपनियां सॉफ्टवेयर एक्सपोर्ट करती हैं,
  • जोमैटो, स्विग्गी फूड डिलीवरी करती है,
  • ओला उबर टैक्सी सर्विस प्रोवाइड करती हैं,
  • हिंदुस्तान युनिलीवर दैनिक कंजूमर प्रोडक्ट बेचता है, एक्साइड इंडस्ट्रीज बैटरी बनाती है,
  • टाटा पावर सोलर और रिन्यूएबल एनर्जी पर काम करता है….

तो इस प्रकार की बेसिक जानकारियां आपको हर कंपनी के शेयर में निवेश करने से पहले पता कर लेना चाहिए क्योंकि इससे आपको बिजनेस को समझने में थोड़ा बहुत आईडिया मिल जाता है।

आपको लग रहा होगा कि आप तो शेयर में निवेश कर रहे हैं मतलब आप एक निवेशक हैं तो आप को बिज़नेस को समझने की क्या जरूरत पड़ेगी क्योंकि बिजनेस को समझना तो बिजनेसमैन का काम होता है और आप तो इन्वेस्टर हैं ना कि बिजनेसमैन.

यह सवाल कई लोगों के मन में आता है,

तो मैं आपको बता दूं कि दुनिया के सबसे अमीर इन्वेस्टर वॉरेन बफेट का कहना है कि―

I am a Good INVESTOR because I am a Good BUSINESSMAN,
And I am a Good BUSINESSMAN because I am a Good INVESTOR.

मतलब इस quote के जरिए उन्होंने कहा है कि; आज वह एक सफल निवेशक हैं तो सिर्फ इसलिए क्योंकि वह एक सफल बिजनेसमैन है और वह एक सफल बिजनेसमैन इसीलिए है क्योंकि वह एक सफल निवेशक हैं।

एक लाइन में कहें तो― आपको सफल निवेशक बनने के लिए एक अच्छा बिजनेसमैन बनना पड़ेगा.

आप सोच रहे होंगे कि हम यहां पर बिजनेस तो नहीं कर रहे हैं फिर बिजनेसमैन बनने की क्या जरूरत है इसके लिए काफी सारी चीजें सीखनी होगी, बिजनेस करना सीखना होगा लेकिन ऐसा नहीं है,

आप कंपनी के बारे में थोड़ी बहुत भी रिसर्च करके भी खूब पैसा कमा सकते हैं जैसा कि हर एक सफल निवेशक करता है।

और कंपनी के बारे में सबसे अच्छी तरह से जानने के लिए उस की वार्षिक रिपोर्ट पढ़नी चाहिए जिसका जिक्र हमने अगले पॉइंट में किया है आइए जाने―

5. वार्षिक रिपोर्ट पढ़ें

स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले किसी को क्या सावधानी रखनी चाहिए?

वार्षिक रिपोर्ट पढ़ना इसलिए जरूरी है क्योंकि आपको इसे पढ़ने से पता चलता है कि―

  • कंपनी क्या करती है,
  • कंपनी का बिजनेस मॉडल क्या है,
  • कंपनी का मैनेजमेंट अपनी कंपनी के बारे में क्या सोचता है,
  • इसकी हिस्ट्री क्या रही है,
  • कौन-कौन सी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है,
  • कंपनी को सेल्स और प्रॉफिट कमाने में कौन-कौन सी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है
  • और भविष्य में कौन-कौन सी योजनाओं पर कंपनी काम करने वाली है…

इन सभी बातों का जिक्र कंपनी अपनी वार्षिक रिपोर्ट में विस्तार से करती हैं इसलिए आपको उस कंपनी की वार्षिक रिपोर्ट जरूर पढ़नी चाहिए जिसके शेयर में आप निवेश कर रहे हैं।

6. सुनिश्चित करें कि कंपनी का नेट प्रॉफिट साल दर साल बढ़ना चाहिए

कंपनी का नेट प्रॉफिट ही उसकी ग्रोथ को दर्शाता है और जिस कंपनी का नेट प्रॉफिट साल दर साल बढ़ रहा होता है तो आपको ऐसी कंपनियों के शेयर में ही निवेश करना चाहिए।

आपको ध्यान रखना चाहिए कि जो मुनाफा कंपनी ने कमाया है वह इस वजह से आया है मतलब कहीं ऐसा तो नहीं है कि कंपनी ने अपना कोई बड़ा एसेट बेच दिया हो जिसकी वजह से अचानक से कंपनी का मुनाफा उस साल बढ़ा हुआ दिखा रहा हो,

लेकिन आप यह कैसे पता करेंगे कि कंपनी ने सच में बिजनेस से पैसा कमाया है या फिर कोई एसेट बेचकर….

यह पता करने के लिए आपको कंपनी की वार्षिक रिपोर्ट या इनकम स्टेटमेंट पढ़ना होगा जिसमें कंपनी के सेल्स और प्रॉफिट से संबंधित सभी जानकारियों के बारे में विस्तार से बताया गया होता है।

  • नेट प्रॉब्लम के अलावा आप और भी सटीक मुनाफा जानने के लिए ग्रॉस प्रॉफिट के बारे में पता करें क्योंकि ग्रॉस प्रॉफिट केबल कंपनी के मुख्य उत्पाद इनकम और खर्चों का अंतर होता है,
  • एक ही सेक्टर की कंपनियों की तुलना करते वक्त आपको ग्रॉस प्रॉफिट को ही देखना चाहिए ना कि नेट प्रॉफिट को, क्योंकि ग्रॉस प्रॉफिट में अमोरटाइजेशन, डेप्रिसिएशन, इंटरेस्ट और टैक्स शामिल नहीं होते हैं इसलिए यह कंपनी के बिजनेस की सही पिक्चर दिखाता है।

ये भी जानिए;

7. कंपनी पर ज्यादा कर्ज नहीं होना चाहिए

डेट या लोन किसी भी कंपनी में निवेश करने से पहले हर एक निवेशक को देखना चाहिए। क्योंकि ज्यादातर कंपनियां ज्यादा कर्ज लेने की वजह से ही bankrupt या दिवालिया हो जाती हैं क्योंकि वह कर्ज की भरपाई नहीं कर पाते हैं।

इसीलिए जब भी कंपनी की बैलेंस शीट चेक करें तो उसके Assets के अलावा Liabilities जरूर देखें चाहे वह शॉर्ट टर्म हो या लोंग टर्म।

8. कंपनी का कैश फ्लो पॉजिटिव होना चाहिए

कैश फ्लो का मतलब होता है कंपनी में कितना पैसा आ रहा है और कितना जा रहा है। कुछ लोग सिर्फ इनकम स्टेटमेंट को देखकर ही शेयर खरीदने का निर्णय ले लेते हैं जो कि कंपनी की पूरी पिक्चर नहीं दिखाता है क्योंकि उसमें यह नहीं लिखा रहता है कि कंपनी ने उधार सामान बेचा है है या नगद।

इसे पता करने के लिए आपको कैश फ्लो स्टेटमेंट देखना पड़ता है जिसमें अगर माल नगद बेचा है तो कैश फ्लो पॉजिटिव होगा और अगर उधार बेचा है तो नेगेटिव होगा।

ध्यान रखें कि कैश फ्लो स्टेटमेंट नेगेटिव नहीं होना चाहिए।

9. किसी भी कंपनी की सब्सिडियरी ज्यादा नहीं होना चाहिए

कोई भी कंपनी जब किसी अन्य कंपनी को खरीद ती है तो वह अन्य कंपनी ‘सब्सिडियरी कम्पनी‘ कहलाती है और जिस कंपनी ने उसे खरीदा है वह पैरंट कंपनी कहलाती है।

उदाहरण के लिए:

  • इंडियन एनर्जी एक्सचेंज यानी IEX ने इंडियन गैस एक्सचेंज (IGX) को खरीदा तो इस स्थिति में IEX की सब्सिडियरी कंपनी IGX है।
  • लेकिन ध्यान रखें कि किसी भी कंपनी की सब्सिडी ज्यादा नहीं होनी चाहिए क्योंकि अगर ज्यादा सब्सिडियरी होगी तो कंपनी का केस भी ज्यादा बड़ा होगा और बिजनेस का फोकस भी डायवर्ट होगा।

ज्यादा सब्सिडियरी होना बुरा नहीं है लेकिन अगर कोई कंपनी बिना किसी जरूरत के एक्स्ट्रा दूसरे बिजनेसेस को खरीद रही है जिसका कोई मतलब नहीं है तो आपको चौकन्ना हो जाना चाहिए जिसका सबसे अच्छा उदाहरण है― Askmebazar

  • अगर आपको Askmebazar कंपनी के बारे में पता है तो आपको यह भी पता होगा कि यह कंपनी सिर्फ इसलिए fail हो गई थी क्योंकि इसमें अपने एक बिजनेस को स्टेबल ना करके अलग अलग बिजनेसेस को खरीदने में अपना पैसा बर्बाद कर दिया था.

10. शेयर की इंटरिंसिक वैल्यू पता करके उसमें निवेश करें

इंटरिंसिक वैल्यू किसी शेयर की रियल वैल्यू या वास्तविक कीमत को दर्शाती है मतलब किसी शेयर की सही कीमत क्या होनी चाहिए यह पता आपको इंटरिंसिक वैल्यू के द्वारा चलता है.

जिस प्रकार PE Ratio बताता है कि कोई शेयर महंगा है यह सस्ता, ठीक उसी प्रकार एंट्रेंस एक वैल्यू को कैलकुलेट करके आप किसी शेयर की एक्चुअल वैल्यू क्या होनी चाहिए यह पता कर सकते हैं.

11. प्रोडक्ट मार्जिन अच्छा होना चाहिए

प्रॉफिट मार्जिन का मतलब है कंपनी अपने प्रोडक्ट या सर्विस पर कितने प्रतिशत मुनाफा कमा पा रही है।

उदाहरण के लिए―

  • अगर कोई कंपनी 1000 रुपये का प्रोडक्ट बनाती है और उसी बाजार में 1500 रुपए में बेचती है तो उसका ग्रॉस प्रॉफिट 500 रुपये और ग्रॉस प्रॉफिट मार्जिन 50% होगा,

लेकिन उसी प्रोडक्ट के कुछ मार्केटिंग और डिलीवरी चार्जेस भी होते हैं मतलब जो भी सभी अन्य खर्चे बचते हैं उन सभी को निकालने के बाद जो मुनाफा बचता है उसे शुद्ध लाभ या नेट प्रॉफिट कहते हैं।

  • जैसे ऊपर के उदाहरण में मान लीजिए 1000 रुपये प्रोडक्ट को बनाने का खर्चा था और 200 रुपये अन्य खर्चे थे और फिर बाजार में इसे 1500 रुपए का बेचा तो कंपनी का नेट प्रॉफिट 300 रुपये और नेट प्रॉफिट मार्जिन 30% हुआ.

शेयर का एनालिसिस करते वक्त आपको ऐसी कंपनी देखनी चाहिए जिसका प्रॉफिट मार्जिन लगातार बढ़ रहा हो,  बढ़ नहीं रहा है तो कम से कम अपने कंपीटीटर्स के बराबर या उनसे ज्यादा होना चाहिए।

  • मेरी नजरों में एप्पल (Apple) कंपनी का प्रॉफिट मार्जिन सबसे बेस्ट है।

12. पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई करें

पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई करने का मतलब है आप जब शेयर खरीदते हैं तो कभी भी सिर्फ एक ही इंडस्ट्री के शेयरों में पूरा पैसा निवेश नहीं करना चाहिए।

उदाहरण के लिए;

मान लो आपके पास टोटल 10000 रुपये हैं तो पूरे पैसे एक ही शेयर में निवेश करने के बजाय 10 अलग-अलग शेयरों में निवेश करें ऐसा करने से आपके रिस्क के चांसेस बहुत कम हो जाते हैं।

  • मतलब अगर आपके निवेश किए हुए शेयरों में से 1 या 2 शेयर ने भी अच्छे रिटर्न दे दिए और बाकी 8 कंपनियां डूब भी गई तो भी आपका सारा Loss रिकवर हो जाएगा बल्कि Loss से कई ज्यादा आपको प्रॉफिट हो सकता है।

लेकिन वहीं अगर आपने पूरा पैसा सिर्फ एक ही कंपनी में लगाया होता तो आपका पैसा डूबने के चांसेस बहुत ज्यादा होते।

इसीलिए एक बहुत ही पॉपुलर कहावत है कि― “Don’t put all your eggs in the same basket”

13. पेनी स्टॉक्स या सस्ते शेयर खरीदने के चक्कर में ना पड़े

अधिकतर नए निवेशक 1 रुपये वाले शेयर, 10 रुपये से कम कीमत वाले शेयर, 20 रुपये से कम के शेयर या 50 रुपये से कम के शेयर के पीछे पड़े रहते हैं क्योंकि सस्ती चीजें लोगों को जल्दी आकर्षित करते हैं, यह पेनी स्टॉक्स या भंगार शेयर बोला जाता है।

जितना हो सके इस प्रकार के सबसे सस्ते शेयर के चक्कर में ना पड़े और मजबूत कंपनियों के शेयर खरीदने पर ध्यान दें। क्योंकि आपको पता होना चाहिए कि अगर किसी कंपनी का शेयर इतना सस्ता है तो इसका कोई ना कोई कारण जरूर होता है।

बाकी आपकी मर्जी है…

14. कभी भी स्टॉक मार्केट में पूरा पैसा निवेश ना करें

मैंने कुछ लोगों को देखा है जो अपना पूरा पैसा स्टॉक मार्केट में सिर्फ इसीलिए लगा देते हैं क्योंकि वह दूसरों की सुनी सुनाई बातों पर बहुत ज्यादा विश्वास कर लेते हैं और अपने किसी दोस्त या रिश्तेदार के कहने पर सिर्फ इसीलिए पैसा लगा देते हैं क्योंकि उसका पैसा डबल हो गया था।

  • यहां तक कि कुछ लोग तो ऐसे हैं जो लोन लेकर भी स्टॉक मार्केट में पैसा लगाते हैं और ऐसे ही लोग शेयर बाजार से कंगाल हो जाते हैं।

15. जिस सेक्टर को आप समझते हैं उसमें निवेश करें

मान लीजिए आपको आईटी सेक्टर की नॉलेज नहीं है तो आपको आईटी कंपनियों के स्टॉक्स में निवेश नहीं करना चाहिए।

  • अगर आप बिजली विभाग में काम करते हैं तो आपको टाटा पावर और IEX के शेयर खरीदना चाहिए,
  • अगर आप फूड इंडस्ट्री में काम करते हैं तो नेस्ले या ब्रिटानिया जैसे स्टॉक्स खरीद सकते हैं,
  • अगर आपको फर्नीचर की अच्छी नॉलेज है तो आपको pidilite स्टॉक लेना सही रहेगा,
  • अगर रेलवे विभाग में आप काम करते हैं तो IRCTC आपके लिए सबसे बेस्ट शेयर साबित होगा।

इसी प्रकार आप अपने इंटरेस्ट के आधार पर शेयर का चयन करें, आपको अपने निवेश पर कभी भी नुकसान नहीं होगा क्योंकि आपको कंपनी के बिजनेस और उसके प्रोडक्ट के बारे में पता होगा।

16. निवेश करने से पहले इन उपयोगी वेबसाइट के जरिए शेयर की जांच करें

जिन लोगों को पता नहीं है किसी और की एनालिसिस कैसे करते हैं और स्टॉक की रिसर्च कैसे की जाती है तो मैं आपको screener.in वेबसाइट के बारे में बताना चाहूंगा। किसी भी शेयर का नाम डालकर सर्च करेंगे तो आपको उस शेेेयर से रिलेटेड महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कंपनी का बिजनेस, sales, प्रॉफिट, PE ratio,  इनकम स्टेटमेंट, प्रॉफिट मार्जिन, कंपटीशन और इसके अलावा भी बहुत सारी चीजों के बारे में पता चल जाएगा.

इसके अलावा आप मनीकंट्रोल जैसी पॉपुलर वेबसाइट पर भी स्टॉक्स के बारे में न्यूज़ और रिसर्च कर सकते हैं।

अगर आपको इन वेबसाइट के जरिए विस्तार से शेयर की रिसर्च करने के बारे में पोस्ट चाहिए तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं।

17. ट्रेंड को देखकर निवेश करें

स्टॉक मार्केट में किसी शेयर में निवेश करने से पहले किसी को क्या सावधानियाँ रखनी चाहिए?

इस तरीके से लोग सबसे जल्दी पैसा कमाते हैं जैसे आजकल इलेक्ट्रिक वाहनों का चालान काफी चल गया है तो आपको इलेक्ट्रिक वाहनों वाले स्टॉक्स में निवेश करना चाहिए।

इसके अलावा ब्लॉकचेन, NFT और मेटावर्स (वर्चुअल रियलिटी की दुनिया) जैसी टेक्नोलॉजी को फ्यूचर बताया जा रहा है तो अगर आप ऐसी ऐसी कंपनी में निवेश कर देते हैं जो इस प्रकार की टेक्नोलॉजी पर काम कर रही हैं तो भविष्य में आप अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं।

मतलब ऐसी कंपनियों में निवेश करें जिसका ट्रेंड भविष्य में आने वाला है या जिसकी डिमांड बढ़ने वाली है।

18. हमेशा सेक्टर की लीडर कंपनी का शेयर खरीदे

आप किसी कंपनी का शेयर खरीदा तो हमेशा कोशिश करें कि वह कंपनी जिस इंडस्ट्री या जिस सेक्टर में काम कर रही है सेक्टर का सबसे ज्यादा मार्केट शेयर आपकी कंपनी के पास हो लीडर कंपनी से मतलब है मोनोपोली कंपनी।

कुछ मोनोपोली शेयर के उदाहरण हैं― एशियन पेंट, pidilite, IRCTC, Dmart, Dixon Technology, IEX, Muthoot Finance आदि.

यह इस पोस्ट का आखरी पॉइंट था अब आइए कुछ बेसिक सवालों और उनके जवाबों के बारे में जान लेते हैं―

FAQ (स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले क्या सावधानियां रखनी चाहिए)

Share खरीदने से पहले क्या करना चाहिए?

इस पोस्ट में हम ने जितने भी पॉइंट बताएं हैं आपको किसी भी शेयर में निवेश करने से पहले उन सभी के बारे में एक बार जरूर पढ़ना चाहिए और एक चेक लिस्ट तैयार करके जब आप के अधिकतर डाउट क्लियर हो जाएं तो ही अपना अंतिम निर्णय लें।

शेयर बाजार में निवेश करने से पहले आपको क्या जानना चाहिए?

स्टॉक मार्केट में निवेश करते वक्त आपको कंपनी के बिजनेस और ऊपर दिए गए कुछ बेसिक पॉइंट्स के बारे में पता कर लेना चाहिए।

एक निवेशक को स्टॉक मार्केट में निवेश करते वक्त क्या सावधानी रखना चाहिए?

आपको सिर्फ दूसरों के कहने पर या दूसरों से टिप्स लेने के बजाय निवेश करने से पहले खुद से रिसर्च करनी चाहिए। ऐसा करने से आप शेयर में होने वाली मूवमेंट मतलब स्टॉक का प्राइस ऊपर या नीचे होने से डरेंगे नहीं और इसके अलावा बाकी सभी सावधानियों के बारे में हमने इस पोस्ट में बात की है।

शेयर बाजार में नुकसान करने से कैसे बच सकते हैं?

अगर आप खुद की समझ और अकलमंद तरीके से निवेश करते हैं तो आपको कभी भी नुकसान नहीं होगा इसका मतलब है कि आपको किसी भी शेयर में निवेश करने से पहले उसकी फंडामेंटल एनालिसिस करना आना चाहिए।

स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले रखें ये सावधानियां “Conclusion”

इस पोस्ट में मैंने आपको ‘स्टॉक मार्केट में किसी शेयर में निवेश करने से पहले क्या-क्या सावधानियां रखनी चाहिए’ इसके बारे में विस्तार से बताया है।

अब आप मुझे कमेंट में बताइए कि आप किसी शेयर में निवेश करते वक्त कौन-कौन से पॉइंट पर ध्यान देते हैं और आज आपने क्या-क्या सीखा?

मैं आशा करता हूं आपको इस पोस्ट में दी गई जानकारी उपयोगी लगी होगी। इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करके आप अन्य नए निवेशकों की भी मदद कर सकते हैं।

अगर आपका इस पोस्ट से संबंधित कोई सवाल है तो आप मुझसे कमेंट बॉक्स में पूंछ सकते हैं।

4.6/5 - (11 votes)
Deepak SenAbout Author
मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस ब्लॉग का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

4 thoughts on “स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले किसी को क्या सावधानी रखनी चाहिए? (17+ टिप्स)”

  1. सर मूझे भी स्टाॅकमार्कट में निवेश करना आप थोड़ी जानकारी दीजिए

    Reply

Leave a Comment