टर्म इंश्योरेंस क्यों नहीं लेना चाहिए? – (जानिए 10 बड़े कारण)

टर्म इंश्योरेंस क्यों नहीं लेना चाहिए (Why we should not take term insurance plan in Hindi)

टर्म इंश्योरेंस एक ऐसा जीवन बीमा पॉलिसी है, जिसे आप शॉर्ट टर्म वित्तीय सुरक्षा के लिए ले सकते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि;

  • टर्म इंश्योरेंस आपकी लॉन्ग टर्म फाइनेंशियल प्लानिंग के लिए उपयुक्त नहीं है?
  • क्या टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी के अंदर निवेश का कोई कंपोनेंट होता है?
  • अगर आप टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी के अंदर लोन या सरेंडर वैल्यू की उम्मीद रखते हैं, तो क्या ये पॉलिसी आपके लिए सही है?

इस लेख में हम आपको टर्म इंश्योरेंस के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें बताएंगे, जिससे आप समझ पाएंगे कि क्या टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी आपको लेना चाहिए या नहीं?

इस पोस्ट में आप जानेंगे-

टर्म इंश्योरेंस क्यों नहीं लेना चाहिए?

टर्म इंश्योरेंस क्यों नहीं लेना चाहिए, Why we should not take term insurance plan in hindi

टर्म इंश्योरेंस क्यों नहीं लेना चाहिए इसके कारण है; बचत या निवेश ना होना, मेच्योरिटी बेनिफिट ना मिलना, राइडर्स का बेनिफिट नहीं मिलता, सरेंडर वैल्यू या कैश वैल्यू का लाभ भी नहीं मिलता. इसके अलावा टर्म लाइफ इंश्योरेंस में प्रीमियम लंबे समय तक देना पड़ता है।

ऐसे ही कुछ कारणों के बारे में आज इस पोस्ट में हम विस्तार से चर्चा करेंगे. तो आइए किसी व्यक्ति को term insurance क्यों नहीं लेना चाहिए, इसके बारे में एक-एक करके सभी पॉइंट्स देख लेते हैं–

1. टर्म इंश्योरेंस में कोई बचत या निवेश नहीं होता

टर्म इंश्योरेंस में कोई बचत या निवेश का हिस्सा नहीं होता है, सिर्फ मौत के मामले में ही पैसा मिलता है। अगर आप एक ऐसी पॉलिसी ढूंढ रहे हैं जो बचत या निवेश हो सके तो टर्म इंश्योरेंस आपको नहीं लेना चाहिए।

उदाहरण के लिए, अगर आप एक रिटायरमेंट प्लान के लिए पैसा जमा करना चाहते हैं ताकि फ्यूचर के लिए कुछ पैसों का इंतजाम हो सके तो टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी आपको नहीं खरीदना चाहिए।

2. टर्म प्लान में मेच्योरिटी लाभ नहीं मिलता है

टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी में कोई मैच्योरिटी बेनिफिट नहीं मिलता है। ये पॉलिसी सिर्फ मौत के केस में ही पैसा देती है। इसलिए, अगर आपको फ्यूचर में मैच्योरिटी बेनिफिट चाहिए तो टर्म इंश्योरेंस आपके लिए उपयोगी नहीं होगा।

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें

उदाहरण के लिए, अगर आप अपने फैमिली के लिए एक बड़ा इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं और उसमें आपको मैच्योरिटी बेनिफिट भी चाहिए, तो फिर आपको टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी नहीं लेना चाहिए।

3. प्रीमियम पेमेंट लंबे समय तक देना पड़ता है

टर्म लाइफ इंश्योरेंस का प्रीमियम भुगतान बहुत साल तक किया जाता है। अगर आपकी वित्तीय स्थिति कुछ साल बाद बदल जाती है, तो आपके पास प्रीमियम भुगतान करने के लिए पर्याप्त फंड नहीं हो होगा, और जब आप मुसीबत में पड़ सकते हैं।

उदाहरण के लिए, अगर आपको टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए एक बड़ा प्रीमियम पे करना है, और आपका फाइनेंशियल कंडीशन बदल जाता है तो आपके पास प्रीमियम पे करने के लिए पर्याप्त फंड नहीं होंगे जिससे आपको फाइनेंसर लॉस्ट भुगतना पड़ सकता है।

4. महंगाई के कारण टर्म बीमा के फायदे कम हो जाते हैं

महंगाई के कारण, टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी के डेथ बेनिफिट की वैल्यू समय के साथ कम होती रहती है। अगर आपकी फैमिली को फ्यूचर में एक बड़ी राशि चाहिए होती है, तो टर्म इंश्योरेंस उससे पूरी तरह कवर नहीं कर पाएगी।

मान लो, अगर आपको आपकी फैमिली के लिए 10 लाख की कवरेज चाहिए और आपने टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी ली है, तो 10 साल बाद 10 लाख की वैल्यू कुछ कम हो जाती है। इसलिए अगर आपको फ्यूचर में हायर कवरेज चाहिए होगी इसलिए टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी लेना आपके लिए सही नहीं होगा।

5. इसमें किसी भी प्रकार की फ्लैक्सिबिलिटी नहीं मिलती

टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी में कोई फ्लेक्सिबिलिटी नहीं होती है। इसलिए, अगर आप चाहते हैं कि पॉलिसी टर्म या प्रीमियम फ्रीक्वेंसी चेंज कर सकें, तो आपको टर्म इंश्योरेंस नहीं लेना चाहिए।

उदाहरण के लिए, अगर आपकी फाइनेंसियल कंडीशन बदल जाती है और आप चाहते हैं कि पॉलिसी की अवधि या प्रीमियम फ्रीक्वेंसी चेंज करें, तो टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी आपके लिए उपयुक्त नहीं है।

6. पॉलिसी धारक को लोन की सुविधा प्राप्त नहीं होती

टर्म जीवन बीमा पॉलिसी के अंदर ऋण सुविधा का कोई विकल्प नहीं होता है। यानी कि आप अपनी पॉलिसी को किसी बैंक या वित्तीय संस्थान से कर्ज के लिए इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। इसलिए, अगर आपको फ्यूचर में फाइनेंशियल इमरजेंसी के लिए लोन की जरूरत है, तो टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी से आपको कोई मदद नहीं मिल सकती।

उदाहरण के लिए, अगर आप एक पॉलिसी ढूंढ रहे हैं जो आपको कर्ज के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं, तो आपको टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी बिल्कुल नहीं लेना चाहिए।

7. टर्म इंश्योरेंस की कोई सेरेंडर वैल्यू नहीं होती

टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी के अंदर सरेंडर वैल्यू का कोई कंपोनेंट नहीं होता है। यानि की पॉलिसी के अंदर आप कोई भी कैश वैल्यू का अमाउंट सरेंडर नहीं कर सकते हैं। इसलिए, अगर आप अपनी पॉलिसी को सरेंडर करना चाहते हैं और उससे कुछ पैसा निकालना चाहते हैं, तो टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी से आपको कोई फायदा नहीं मिलता है।

उदाहरण के लिए, अगर आप एक पॉलिसी ढूंढ रहे हैं, जिसमें सरेंडर वैल्यू का ऑप्शन हो, तो आपको टर्म इंश्योरेंस नहीं खरीदना चाहिए।

8. टर्म प्लान में कवरेज की अवधि लिमिटेड होती है

टर्म इंश्योरेंस के अंदर कवरेज टर्म लिमिटेड होता है यानी की पॉलिसी के टर्म खत्म होने के बाद आपको कोई मौका नहीं मिलता है। अगर आपकी फैमिली को पूरा लाइफ तक कवरेज चाहिए होता है, तो टर्म इंश्योरेंस आपके लिए सही नहीं है।

9. टर्म लाइफ इंश्योरेंस की कोई कैश वैल्यू नहीं होती

टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी के अंदर कैश वैल्यू का कोई कंपोनेंट नहीं होता है। इसका मतलब है कि पॉलिसी के अंदर आप पैसे उधार नहीं ले सकते और पॉलिसी से कैश वैल्यू भी नहीं मिलता है।

तो अगर आप एक पॉलिसी ढूंढ रहे हैं, जिसमें कैश वैल्यू कंपोनेंट हो, तो टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी आपको नहीं लेना चाहिए। उदाहरण के लिए, अगर आप अपने फ्यूचर के लिए एक बड़ा इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं और पॉलिसी से कैश वैल्यू भी चाहते हैं, तो टर्म इंश्योरेंस आपके लिए सही नहीं है।

10. इस पॉलिसी में राइडर्स का फायदा नहीं मिलता

टर्म इंश्योरेंस के अंदर कोई राइडर या अतिरिक्त लाभ नहीं होते हैं यानि की पॉलिसी में आप कोई भी अतिरिक्त कवरेज या लाभ नहीं ले सकते हैं। अगर आपको पॉलिसी के अंदर अतिरिक्त कवरेज या लाभ चाहिए, तो आपको अलग से एक पॉलिसी लेनी होगी या फिर दूसरी बीमा पॉलिसी ढूंढनी होगी। उदाहरण के लिए, अगर आपको पॉलिसी के अंदर क्रिटिकल इलनेस कवरेज चाहिए, तो टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी नहीं लेना चाहिए।

FAQ’s (Term insurance kyon nahin lena chahie)

टर्म लाइफ इंश्योरेंस अच्छा है या बुरा?

टर्म इंश्योरेंस के लिए ये कहना सही होगा कि ये पॉलिसी आपको शॉर्ट टर्म फाइनेंशियल प्रोटेक्शन देती है, लेकिन ये लॉन्ग टर्म फाइनेंशियल प्लानिंग के लिए अच्छी नहीं है। इसके अलावा, पॉलिसी के अंदर निवेश का कोई कंपोनेंट नहीं होता है और लोन या सरेंडर वैल्यू का भी कोई ऑप्शन नहीं होता है। इसलिए, यह इस पर डिपेंड करता है कि आपकी वित्तीय जरूरतें और परिस्थितियां क्या हैं, और उसी से डिसाइड होगा कि टर्म इंश्योरेंस अच्छा है या बुरा।

टर्म इंश्योरेंस किसे नहीं लेना चाहिए?

टर्म लाइफ इंश्योरेंस ऐसे लोगों को नहीं लेना चाहिए जो जीवन बीमा पॉलिसी के अंदर निवेश या लोन की सुविधा लेना चाहते हैं या फिर किसी प्रकार की कैश वैल्यू या सरेंडर वैल्यू की अपेक्षा रखते हैं।

Why you should not buy term life insurance in Hindi

उम्मीद करता हूं इस पोस्ट से आपको यह जानने को मिला होगा कि ‘टर्म इंश्योरेंस क्यों नहीं लेना चाहिए और टर्म प्लान किसके लिए लेना सही नहीं होगा’

इस लेख मैंने जितने भी कारण बताए हैं वह सभी बताते हैं कि किन सिचुएशन में हमें टर्म लाइफ इंश्योरेंस नहीं खरीदना चाहिए और इसमें कौन-कौन से फायदे नहीं मिलते हैं साथ ही इसके क्या-क्या संभावित नुकसान हो सकते हैं।

ये भी पढ़ें,

अगर आपके मन में इस टॉपिक से संबंधित कोई भी सवाल आ रहा हो तो नीचे कमेंट करके अवश्य पूछिये।

5/5 - (5 votes)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️