टर्म लाइफ इंश्योरेंस किस उम्र में खत्म होता है? | टर्म लाइफ खत्म होने पर क्या होता है?

जानिए टर्म लाइफ इंश्योरेंस किस उम्र में खत्म होता है या टर्म लाइफ किस उम्र में एक्सपायर होती है, टर्म लाइफ खत्म होने पर क्या होता है, टर्म इंश्योरेंस में उम्र तक कवर क्या है और टर्म लाइफ पॉलिसी के अंत में क्या होता है?

टर्म लाइफ इंश्योरेंस किस उम्र में खत्म होता है, टर्म लाइफ खत्म होने पर क्या होता है?

आज इस पोस्ट में हम आपको इन सभी सवालों का जवाब देने वाले हैं और साथ ही Term insurance से जुड़ी जरूरी बातों पर भी चर्चा करेंगे इसलिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढियेगा. आइए सबसे पहले जानते हैं–

टर्म लाइफ इंश्योरेंस किस उम्र में खत्म होता है?

टर्म लाइफ इंश्योरेंस एक ऐसा जीवन बीमा है जो एक मुख्य अवधि के लिए कवरेज प्रदान करता है, जिसमें आम तौर पर 10, 20 या 30 साल का समय होता है। इसके बाद, पॉलिसी ऑटोमेटिकली खत्म हो जाती है।

टर्म लाइफ इंश्योरेंस की अवधी (टर्म) पॉलिसी के शुरुआती समय से शुरू होती है और पॉलिसी के अंत तक चलती है।

आपको बता दें कि पॉलिसी की अवधि आपकी उम्र, आपके स्वास्थ्य स्थिति और पॉलिसी के लिए चुने गए कवरेज के अनुसार तय की जाती है।

इसलिए, टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी खत्म होने की उम्र हर पॉलिसी के लिए अलग हो सकती है. लेकिन आम तौर पर, टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी की अवधी 18 साल से 65 साल के बीच होती है।

मतलब अगर कोई व्यक्ति 18 साल की उम्र में टर्म इंश्योरेंस खरीदता है तो यह बीमा उसकी 65 साल की उम्र में खत्म होता है।

इसके अलावा आपको Term life insurance से जुड़ी कुछ अन्य जरूरी बातें भी पता होना चाहिए जैसे–

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें

कुछ बीमा कंपनियां ऐसी टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी भी ऑफर करती हैं जो 70 साल या उससे अधिक की उम्र तक चलती हैं। इसलिए, आपकी उम्र के अनुसार पॉलिसी की अवधि अलग-अलग हो सकती है। इसलिए आपको हमेशा अपनी ज़रूरत के अनुसार सही पॉलिसी टर्म चुननी चाहिए।

एक और बात जो ध्यान रखना चाहिए कि, टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी की टर्म के अंत तक प्रीमियम को भरते रहना होता है। अगर आप प्रीमियम भरना बंद कर देते हैं, तो पॉलिसी अपने आप खत्म हो जाएगी और आपको कोई कवरेज नहीं मिलेगी। इसलिए, पॉलिसी अवधि के दौरान प्रीमियम भरते रहना बहुत जरूरी है।

आपको पता होना चाहिए कि Term life insurance पॉलिसी की टर्म खत्म होने के बाद, आपको कोई भी भुगतान नहीं मिलेगा। ये एक ऐसा अस्थायी जीवन बीमा है, जो आपकी मौत की सुविधा प्रदान करता है, लेकिन पॉलिसी की अवधि खत्म होने के बाद कोई पैसा नहीं मिलता है।

इसीलिए, ये पॉलिसी आम तौर पर लोगों द्वारा अपने बच्चों की शिक्षा और उनकी शादी के लिए पैसा बचाने के लिए ली जाती है। बता दें कि ये पॉलिसी आपको हाई कवरेज अमाउंट के साथ लो प्रीमियम पर मिल सकती है।

  • Term insurance की एक और महत्वपूर्ण बात है कि इसमें death benefit (payout) सिर्फ मौत के case में ही मिलता है।
  • अगर पॉलिसी की टर्म खत्म होने के बाद आप जिंदा बच जाते हैं, तो कोई पेआउट नहीं मिलता है।
  • लेकिन कुछ टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी होती हैं जिनमें maturity benefit भी होता है, जिसमें पॉलिसी की टर्म खत्म होने पर आपको प्रीमियम के साथ lumpsum amount मिलता है।

इसीलिए, आपको term policy चुनते समय ये ध्यान रखना चाहिए कि आपके financial goals और आपके परिवार की वित्तीय जरूरतें क्या हैं। अगर आप चाहते हैं कि आपका परिवार आर्थिक रूप से सुरक्षित रहे, तो टर्म लाइफ इंश्योरेंस एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

टर्म लाइफ खत्म होने पर क्या होता है?

जब टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी की अवधी खत्म हो जाती है, तो पॉलिसी अपने आप एक्सपायर हो जाती है और कोई कवरेज नहीं मिलता है।

इसका मतलब है कि पॉलिसी की अवधि के अंत तक प्रीमियम भरते हुए, आपको कोई पेमेंट नहीं मिलता है। अगर आप तब तक जिंदा बच गए हैं, तो कोई मैच्योरिटी बेनिफिट भी नहीं मिलता है।

लेकिन, कुछ बीमा कंपनियां ऐसे राइडर भी ऑफर करती हैं जिन्हें पॉलिसी के साथ ऐड किया जा सकता है, जैसे की रिटर्न ऑफ प्रीमियम (ROP) राइडर

इस राइडर के तहत, अगर पॉलिसी की अवधि खत्म होने पर आप जिंदा रहते हैं, तो आपको प्रीमियम के साथ निवेश किए गए पैसे का पूरा refund मिलता है।

इसलिए, टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ आप राइडर्स (riders) की सुविधाओं का भी फायदा उठा सकते हैं, लेकिन ध्यान रखिए ये राइडर्स आपके प्रीमियम के ऊपर additional cost भी जोड़ सकते हैं।

ये भी जान लीजिए कि–

टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी के खत्म होने के बाद, आपको policy को renew करने का ऑप्शन भी दिया जाता है। लेकिन renewal के समय, आपकी उम्र और स्वास्थ्य स्थिति का भी ध्यान रखा जाता है।

याद रखिये, प्रीमियम भी रिन्यू के समय बढ़ सकते हैं, क्योंकि आपकी उम्र और हेल्थ कंडीशन के हिसाब से प्रीमियम का जोखिम भी बढ़ता जाता है।

इसलिए, अगर आप टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको प्रीमियम भरते रहने की जरूरत होगी। आप renewal के समय, पॉलिसी की कवरेज राशि और पॉलिसी अवधि को भी modify कर सकते हैं, अगर आपकी जरूरत है।

अगर मैं कुछ short points में बताऊं कि term life खत्म होने पर क्या होता है तो सबसे पहले इससे–

  • पॉलिसी खत्म हो जाति है और कवरेज खत्म हो जाता है।
  • कोई भुगतान नहीं मिलता है, अगर आप तब तक जिंदा बचते हैं।
  • Maturity लाभ नहीं मिलता है, पॉलिसी अवधि समाप्त होने पर।
  • प्रीमियम भरते रहना बहुत जरूरी है, जब तक की पॉलिसी एक्टिव रहे।
  • Renewal का ऑप्शन दिया जाता है, लेकिन उम्र और स्वास्थ्य स्थिति को ध्यान में रखते हुए।
  • रिन्यूअल के समय, प्रीमियम भी बढ़ सकते हैं।
  • रिन्यूअल के समय, पॉलिसी की कवरेज राशि और अवधि को संशोधित किया जा सकता है।
  • कुछ बीमा कंपनियां ROP राइडर जैसे राइडर भी ऑफर करते हैं, जिनसे पॉलिसी की मैच्योरिटी बेनिफिट मिल सकती है।
  • राइडर्स की सुविधा से फायदा उठा सकते हैं, लेकिन ये एक्स्ट्रा कॉस्ट भी add कर सकते हैं।
  • पॉलिसी को रिन्यू न करने पर, आपको कोई फायदा नहीं मिलेगा और कवरेज खत्म हो जाएगा।

टर्म इंश्योरेंस में उम्र तक कवर क्या है?

टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी की कवरेज राशि और पॉलिसी टर्म को पॉलिसी खरीदने वाला खुद तय करता है, इसलिए उम्र तक की कवरेज राशि और पॉलिसी टर्म हर policy में अलग हो सकती है।

कुछ बीमा कंपनियां 65-70 साल तक के ग्राहकों के लिए टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी ऑफर करती हैं। लेकिन कवरेज राशि और पॉलिसी अवधि के लिए ये कंपनियां अलग-अलग नियम और रेगुलेशन फॉलो करती हैं, और अक्सर उनके पॉलिसी में प्रीमियम भी अधिक होती है।

इसलिए, टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए किस उम्र तक क्या कवर है, इसकी कोई फिक्स लिमिट नहीं होती है, बल्कि कवरेज राशि और पॉलिसी टर्म की रेंज कंपनी टू कंपनी अलग हो सकती है।

टर्म लाइफ पॉलिसी के अंत में क्या होता है?

टर्म लाइफ पॉलिसी के अंत में, पॉलिसी की अवधि खत्म होती है और कवरेज भी खत्म होती है। अगर आप पॉलिसी की अवधी के अंत तक जिंदा बच जाते हैं, तो आपको कोई मैच्योरिटी बेनिफिट नहीं मिलता है और आपके द्वारा भरे गए प्रीमियम भी रिफंड नहीं किए जाते हैं।

पॉलिसी के अंत तक आपको कोई भुगतान नहीं मिलता है, लेकिन कुछ बीमा कंपनियां आरओपी (रिटर्न ऑफ प्रीमियम) राइडर्स के तहत प्रीमियम के साथ निवेश किए गए पैसे का पूरा रिफंड ऑफर करते हैं, अगर आप पॉलिसी की अवधी के अंत तक जिंदा बचते हैं।

इसलिए, Term Life Insurance पॉलिसी के अंत में, पॉलिसी ऑटोमैटिक तौर पर खत्म होती है और कोई कवरेज नहीं मिलता है। आप अपनी जरूरत और बजट के हिसाब से पॉलिसी की अवधी और कवरेज राशि को तय कर सकते हैं, ताकि पॉलिसी के अंत तक आप और आपके परिवार की financial security बनी रहे।

20 साल की टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी के अंत में क्या होता है?

चाहे टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी 20 साल की हो 30 साल की या 40 साल की सब में टर्म लाइफ खत्म होने पर अंत में पॉलिसी अवधी और कवरेज दोनों खत्म हो जाती है।

टर्म इंश्योरेंस के लिए कौन सी उम्र सबसे अच्छी है?

टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए उम्र की रेंज पॉलिसी टू पॉलिसी अलग होती है, लेकिन आम तौर पर young age में इंश्योरेंस लेने से प्रीमियम कम होता है और कवरेज ज्यादा मिलता है। अगर आप 25-35 साल के आयु वर्ग में हैं, तो आपको पॉलिसी लेने के लिए सबसे अच्छी उम्र होगी, क्योंकि इस उम्र में आपको सबसे कम प्रीमियम देना होगा और आपको सबसे ज्यादा कवरेज मिल सकता है।

टर्म लाइफ किस उम्र में एक्सपायर होती है?

टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी की वैलिडिटी की अवधि हर पॉलिसी के लिए अलग होती है। आम तौर पर, पॉलिसी की वैधता की अवधि 5-40 साल के बीच होती है। पॉलिसी टर्म के अंत तक आपकी मृत्यु के मामले में कोई भुगतान नहीं होता है और पॉलिसी स्वचालित तौर पर समाप्त हो जाती है।

टर्म इंश्योरेंस में कौन सी मौत कवर नहीं होती है?

टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी में कुछ ऐसी मौत होती हैं, जिनके लिए पॉलिसी कवर नहीं होती है। जैसे कि, आत्महत्या, ड्रग ओवरडोज, आपराधिक गतिविधि, युद्ध, प्राकृतिक आपदाएं, साहसिक खेल गतिविधियां, आदि। इसलिए, आपको पॉलिसी लेने से पहले, पॉलिसी की शर्तों और कंडीशन को ध्यान से पढ़ना चाहिए, ताकि आपको सही तरह से कवरेज की जानकारी मिल सके।

निष्कर्ष,

इस लेख में आपने जाना कि टर्म लाइफ इंश्योरेंस किस उम्र में खत्म होता है और टर्म लाइफ खत्म होने पर क्या होता है. इसके अलावा टर्म इंश्योरेंस से जुड़ी कुछ जरूरी बातों के बारे में ऐसी हमने आर्टिकल में चर्चा की.

ये भी पढ़ें,

मैं उम्मीद करता हूं आपको Term Life Insurance के बारे में यह जानकारी जरूर उपयोगी लगी होगी. अगर आपका इस टॉपिक से जुड़ा कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें।

5/5 - (6 votes)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️