The Intelligent Investor PDF in Hindi – (Free Download)

The Intelligent Investor PDF in Hindi, The Intelligent Investor Book Download in Hindi, The Intelligent Investor Book Summary in Hindi PDF | द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर पीडीएफ इन हिंदी

अगर आप भी शेयर मार्केट या इन्वेस्टमेंट की दुनिया में इंटरेस्ट रखते हैं और अपने पैसे को इन्वेस्ट करके अमीर बनना चाहते हैं तो ‘द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर‘ किताब आपके लिए बेस्ट बुक है क्योंकि इस किताब को खुद वारेन बुफेट के गुरु बेंजामिन ग्राहम ने लिखा है.

आप जानते हैं Warren Buffet दुनिया के सबसे सफल और सबसे अमीर इन्वेस्टर हैं जो पिछले 20 सालों से बने हुए हैं। इस किताब के बारे में उन्होंने कहा था कि “The Intelligent Investor निवेश (value investing) पर लिखी गई अब तक की सबसे बेस्ट बुक है और इस किताब ने मेरी जिंदगी बदल दी” इसलिए हर एक निवेशक को यह किताब जरूर पढ़ना चाहिए.

The intelligent investor PDF in Hindi download free book
The intelligent investor in Hindi pdf download

इस लेख में हम आपको The Intelligent Investor PDF in Hindi प्रोवाइड करेंगे. साथ ही हम इस बुक के सभी चैप्टर के बारे में एक-एक करके बात करने वाले हैं. मुझे पूरा विश्वास है कि हर एक chapter से आपको निवेश के महत्वपूर्ण सिद्धांतों के बारे में काफी कुछ सीखने को मिलेगा.

इस किताब को पढ़ने के बाद आप शेयर बाजार की उन कंपनियों के शेयर ढूंढना सीख जाएंगे जो long-term में मल्टीबैगर बनते हैं जैसे कि Warren Buffet के द्वारा कोकोकोला कंपनी का शेयर खरीदना जो आज एक मल्टीबैगर बन चुका है और राकेश झुनझुनवाला जी का टाइटन कंपनी में इन्वेस्टमेंट…

इन दोनों ही कंपनियों के शेयरों ने निवेशकों को शानदार रिटर्न दिए हैं लेकिन जरूरत है तो सिर्फ ऐसे मल्टीबैगर शेयरों को उस समय पहचानने की जब यह कंपनियां बहुत छोटी होती हैं और शेयर सस्ते दामों पर मिलते हैं तब आपको इनमें इन्वेस्ट करना होता है ताकि लॉन्ग टाइम में वेल्थ क्रिएट कर सकें और आज आप इस बुक में निवेश के अलावा इसके बारे में भी सीखने वाले हैं।

इस पोस्ट में आप जानेंगे-

The Intelligent Investor PDF in Hindi

Book NameThe Intelligent Investor
LanguageHindi
FormatPDF
Pages352
Ratings4.6/5
AuthorBenjamin Graham
Total Chapter20
Book Size2.4MB
Download LinkGiven Below

The Intelligent Investor PDF in Hindi Book (All chapters)

‘द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर’ किताब में कुल 20 अध्याय (chapter) हैं। इस किताब में हर अध्याय निवेश के मूल सिद्धांतो, तार्किक विचार और सुझावों पर विस्तार रूप से प्रतिपदान किया गया है।

हर एक अध्याय आपको एक नया नज़रिया देता है और आपके निवेश के तजुरबे को सुधारने में मदद करता है। आप इन चैप्टर्स की मदद से अपने निवेश के ज्ञान को सुदृढ़ कर सकते हैं और अपने धन के प्रबंधन में निपुण बन सकते हैं।

The Intelligent Investor बुक के सभी चैप्टर्स के नाम नीचे बताए गए हैं–

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें
  1. Chapter 1: Investment versus Speculation (निवेश बनाम तर्कबद्धता)
  2. Chapter 2: The Investor and Inflation (निवेशक और मुद्रास्फीति)
  3. Chapter 3: A Century of Stock-Market History: The Level of Stock Prices in Early 1972 (सौ साल का स्टॉक मार्केट का इतिहास: 1972 के प्रारंभिक स्तर पर स्टॉक कीमतें)
  4. Chapter 4: General Portfolio Policy: The Defensive Investor (सामान्य पोर्टफोलियो नीति: संरक्षक निवेशक)
  5. Chapter 5: The Defensive Investor and Common Stocks (संरक्षक निवेशक और सामान्य स्टॉक्स)
  6. Chapter 6: Portfolio Policy for the Enterprising Investor: Negative Approach (प्रवर्ती निवेशक के लिए पोर्टफोलियो नीति: नकारात्मक दृष्टिकोण)
  7. Chapter 7: Portfolio Policy for the Enterprising Investor: The Positive Side (प्रवर्ती निवेशक के लिए पोर्टफोलियो नीति: सकारात्मक दृष्टिकोण)
  8. Chapter 8: The Investor and Market Fluctuations (निवेशक और बाजार के अस्थिरताएं)
  9. Chapter 9: Investing in Investment Funds (निवेश उद्यमों में निवेश)
  10. Chapter 10: The Investor and His Advisors (निवेशक और उसके सलाहकार)
  11. Chapter 11: Security Analysis: Principles and Technique (सुरक्षा विश्लेषण: सिद्धांत और तकनीक)
  12. Chapter 12: The Defensive Investor and Common Stocks: Additional Considerations and A Warning (संरक्षक निवेशक और सामान्य स्टॉक्स: अतिरिक्त विचार और एक चेतावनी)
  13. Chapter 13: Selecting Your Securities: Intelligent Investing versus Speculating (अपनी सुरक्षाओं का चयन करना: बुद्धिमान निवेश बनाम तर्कबद्धता)
  14. Chapter 14: Selecting Your Securities: Intelligent Investing versus Speculating (अपनी सुरक्षाओं का चयन करना: बुद्धिमान निवेश बनाम तर्कबद्धता)
  15. Chapter 15: Stock Selection for the Enterprising Investor (प्रवर्ती निवेशक के लिए स्टॉक चयन)
  16. Chapter 16: The Investor and Market Research (निवेशक और बाजार अनुसंधान)
  17. Chapter 17: The Stock Market: A Counter-Intuitive System (स्टॉक मार्केट: विपरीत-बुद्धिमत्ता प्रणाली)
  18. Chapter 18: A Comparison of Four Broad-Range Common Stock Funds (चार व्यापक सामान्य स्टॉक फंड की तुलना)
  19. Chapter 19: Shareholders and Managements: Dividend Policy (शेयरहोल्डर्स और प्रबंधन: डिविडेंड नीति)
  20. Chapter 20: “Margin of Safety” as the Central Concept of Investment (निवेश के मध्यम के रूप में “सुरक्षा की मार्जिन”)

नीचे सभी चैप्टर्स के बारे में एक-एक करके बताया गया है–

Chapter 1: (The Intelligent Investor PDF in Hindi)

द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर बुक का पहला चैप्टर है– Investment versus Speculation (निवेश बनाम तर्कबद्धता)

इस चैप्टर में बेंजामिन ग्राहम इन्वेस्टमेंट और स्पैक्यूलेशन के बीच का फर्क बताते हैं. वह कहते हैं कि मार्केट में दो तरह के लोग होते हैं पहले वह जो इन्वेस्टमेंट करते हैं और दूसरे वह जो सट्टा लगाते हैं जैसे हम Speculation कहते हैं।

बेंजामिन ग्राहम बताते हैं कि शेयर मार्केट में केवल वही सफल होता है जो निवेश करता है ना की speculation या अनुमान.

आप लोग भी कई बार सोचते होंगे कि शेयर मार्केट कैसे ऊपर नीचे होता है यही सोच कर कुछ लोग ऊपर की ओर दांव लगाते होंगे तो कुछ लोग नीचे की ओर जिसे हम ट्रेडिंग के नाम से जानते हैं.

लेकिन मार्केट में सफल वही होता है जो पहले इन्वेस्टमेंट के फंडामेंटल को सीखता है और उसके बाद अपना पैसा निवेश करता है. लेखक इस chapter में सिर्फ इसी बात पर जोर देते हैं कि अगर आप सिर्फ speculation कर रहे हैं तो लॉन्ग टर्म में आप कभी भी सफल नहीं हो सकते

लेकिन अगर आप इन्वेस्टमेंट के बेसिक को सीखकर बाजार में निवेश करते हैं तो हो सकता है कि शार्ट टर्म में आपको अपने मनचाहे रिजल्ट ना मिले लेकिन लॉन्ग टर्म में आपको सफल निवेशक बनने से कोई नहीं रोक सकता. इसके बाद दूसरा चैप्टर है–

Chapter 2: (The Intelligent Investor in Hindi PDF Download)

इस किताब का दूसरा चैप्टर है– The Investor and Inflation

इस अध्याय में लेखक ने बताया है कि एक निवेशक और महंगाई के बीच में कैसा रिलेशन होता है. मतलब अगर आप एक इन्वेस्टर हैं तो आपको inflation यानी महंगाई को किस नजरिए से देखना चाहिए और इसके हिसाब से कब और कैसे मार्केट में पैसा निवेश करना चाहिए।

वह बताते हैं कि कैसे महंगाई का आपके इन्वेस्टमेंट के return पर प्रभाव पड़ता है और यह आपके पैसे की वैल्यू को कैसे कम करती है। इस चैप्टर में इस बात पर जोर दिया गया है कि देश में महंगाई बढ़ने पर हमें अपने निवेश को किस तरह से प्रोटेक्ट करना चाहिए और उस समय हमारी क्या रणनीति होनी चाहिए।

मतलब हमें महंगाई से डील करने के लिए किस तरह के इन्वेस्टमेंट करना चाहिए ताकि भविष्य में फाइनेंशियल स्टेबिलिटी बनी रह सके और हम सही निवेश निर्णय ले सके जिससे कि हमारी wealth creation की जर्नी में inflation कोई बाधा ना बन सके।

Chapter 3: (The Intelligent Investor PDF Book Download)

द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर किताब का तीसरा चैप्टर है– स्टॉक-मार्केट इतिहास की एक सदी: 1972 की शुरुआत में स्टॉक की कीमतों का स्तर

इस अध्याय में हम एक शतक के शेयर बाजार इतिहास पर गंभीर चर्चा करते हैं, विशेष रूप से 1972 के शुरूआती समय में शेयर के दाम पर ध्यान देते हैं। यह अध्याय हमें शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव और उनके निवेशकों पर प्रभाव पर प्रकाश डालता है।

इसमें शेयर प्राइस के मूवमेंट, बाजार के चक्र, और शेयर मुल्यांकन पर प्रभावित करने वाले तत्वों को समझने का महत्व बताया गया है। पुराने बाजार ट्रेंड्स को समीक्षा करके, निवेशक बाजार की व्यवहारिकता को बेहतर तरीके से समझ सकते हैं और सही निवेश निर्णय लेने में सक्षम हो सकते हैं।

इसमें इतना ही महत्व दिया गया है कि इतिहास के डेटा का अध्ययन करना और इसका प्रयोग करना, शेयर बाजार के कॉम्प्लिकेशन को समझने और उसमें सही दिशा निर्देशित करने में सहायक हो सकता है।

Chapter 4: (The Intelligent Investor Free PDF Download)

चौथा चैप्टर है– सामान्य पोर्टफोलियो नीति: रक्षात्मक निवेशक

इस चैप्टर में लेखक सामान्य पोर्टफोलियो नीति पर बात करते हैं, विशेष रूप से सुरक्षित निवेश के लिए। यह अध्याय हमारे बताता है कि सुरक्षित निवेश करके आप कैसे अपने पोर्टफोलियो को तैयार कर सकते हैं।

सुरक्षित निवेश करने के लिए आपको अपने पोर्टफोलियो में कुछ मुख्य तत्वों का ध्यान रखना चाहिए, जैसे की डायवर्सिफिकेशन, रिस्क को कम करना, और घाटे से बचने की रणनीति। यह अध्याय हमें बताता है कि किस प्रकार सुरक्षित निवेशक अपने निवेश को सामान्य जोखिम से बचा सकते हैं और regular income पा सकते हैं।

सुरक्षित निवेश (safe investment) करने से आपका पोर्टफोलियो तो समय के साथ बढ़ता ही है साथ ही आपको कंसिस्टेंट रिटर्न भी मिलते हैं। जैसे कि आज के जमाने में पिडीलाइट और एशियन पेंट्स शेयर कंसिस्टेंट रिटर्न देने वाले स्टॉक के उदाहरण हैं।

तो अगर आप भी इस प्रकार के इन्वेस्टमेंट करते हैं जिनमें की संभावना बिल्कुल ना के बराबर होती है तो आपका कैपिटल भले ही कम तेजी से ग्रो होता है लेकिन लॉन्ग टर्म में यह आपको कंपाउंडिंग के जरिए शानदार wealth बनाकर देता है।

Chapter 5: (The Intelligent Investor Hindi PDF Download)

इस किताब का पांचवा चैप्टर है– The Defensive Investor and Common Stocks

इस अध्याय में लेखक बताते हैं कि अगर आप एक डिफेंसिव इन्वेस्टर हैं यानी कि ऐसे निवेशक जो केवल सुरक्षित जगह अपना पैसा लगाते हैं तो आपका मार्केट में ट्रेड होने वाले सामान्य stocks के प्रति कैसा बिहेवियर होना चाहिए.

जैसा कि आप जानते हैं कि यह किताब शेयर बाजार में इन्वेस्ट करने पर भी फोकस करती है तो इसमें बताया गया है कि अगर आपसे Defensive Investor हैं तो आपको ऐसी कंपनियों के शेयरों में निवेश करना चाहिए जो पिछले कुछ सालों से लगातार consistent earnings कर रहे हो और उनका ट्रैक रिकॉर्ड भी काफी अच्छा हो.

इसी चैप्टर में वह बताते हैं कि हर एक शेयर की कोई ना कोई intrinsic value होती है. अगर शेयर अपनी इंटरिंसिक वैल्यू से महंगे प्राइस पर बाजार में ट्रेड कर रहा है तो आप उसे overvalued कह सकते हैं मतलब इस समय आप को उस शेयर में निवेश नहीं करना चाहिए.

इसके विपरीत अगर शेयर अपनी इंटरिंसिक वैल्यू से कम प्राइस पर बाजार में ट्रेड कर रहा है तो आप उसे undervalued कह सकते हैं मतलब इस समय उस घर में पैसा लगाना एक अच्छा इन्वेस्टमेंट हो सकता है।

लेकिन कोई भी इन्वेस्टमेंट करने से पहले आपको उस कंपनी की अच्छे से फंडामेंटल एनालिसिस और टेक्निकल एनालिसिस कर लेनी चाहिए उसके बाद ही उसमें निवेश करने का निर्णय लेना चाहिए।

क्योंकि शेयर एक ऐसा इन्वेस्टमेंट है जिसकी कीमत हर दिन ऊपर नीचे होती रहती है और ऐसे में अगर आप एक नए निवेशक हैं तो इस उतार-चढ़ाव को हैंडल करना आपके लिए काफी मुश्किल हो सकता है क्योंकि जब शेयर का भाव ऊपर जाएगा तो उसे खरीदने का मन करेगा और जब शेयर प्राइस में गिरावट आएगी तो उसे बेचने का मन करेगा।

लेकिन अगर आपको अपने द्वारा निवेश की गई कंपनी पर भरोसा है तो आप इस उतार-चढ़ाव के खेल से मुक्त रहेंगे और इसका आप पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा जिससे की लांग टर्म में आप उस शेयर में इन्वेस्टेड रह सकेंगे और बड़े-बड़े इन्वेस्टर्स की तरह मल्टीबैगर रिटर्न कमा पाएंगे।

ये भी पढ़ें,

Chapter 6: (The Intelligent Investor Download in Hindi PDF)

द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर किताब का छठा चैप्टर है– Portfolio Policy for the Enterprising Investor: Negative Approach

इस चैप्टर में बेंजामिन ग्राहम बताते हैं कि एंटरप्राइजिंग इन्वेस्टर के लिए क्या पोर्टफोलियो पॉलिसी होती हैं और उनका उसके लिए उनका नेगेटिव अप्रोच किस तरह से काम करता है।

वह बताते हैं कि एक अच्छा शेयर मार्केट पोर्टफोलियो बनाने के लिए आपको बाजार में सस्ते दामों पर मिल रहे स्टॉक्स खरीदने के मौकों की तलाश करते रहना चाहिए। और आप ऐसे शेयरों को केवल तभी ढूंढ सकते हैं जब आपको कंपनियों के financial statements पढ़ना, market trends देखना और competitive को analyse करना आता हो।

इसलिए होता कि इन सब के बारे में सीखने की कोशिश करें और अपनी रिस्क को कम करने के लिए किसी भी शेयर को हमेशा उसकी इंटरिंसिक वैल्यू से कम कीमत पर ही खरीदें।

इसके अलावा आपको हमेशा मार्केट के पॉजिटिव और नेगेटिव दोनों चीजों को देखना चाहिए और उसके बाद एक क्लियर माइंडसेट रखकर निवेश करने का निर्णय लेना चाहिए।

Chapter 7: (The Intelligent Investor PDF Download in Hindi)

द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर बुक का सातवां चैप्टर है– Portfolio Policy for the Enterprising Investor: The Positive Approach

इससे पिछले वाले चैप्टर में नेगेटिव अप्रोच के बारे में बात की गई थी और इस चैप्टर में पॉजिटिव अप्रोच के बताया गया है. इस अध्याय में इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट के बारे में बात की जाती है और शेयरों को रिसर्च करने के लिए क्या फैक्टर देखने पड़ते हैं, उन पर बात की गई है।

इसके अलावा मार्केट में उभर रहे नए-नए मोको को कैसे कैप्चर करना है उसके बारे में भी बताया गया है। साथ ही आप कैसे undervalued assets को ढूंढ सकते हैं और अपने इन्वेस्टमेंट पोर्टफोलियो की long-term performance को बेहतर कर सकते हैं, इस पर विस्तार से चर्चा की गई है।

Chapter 8: (The Intelligent Investor Free PDF Book Download Hindi)

द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर किताब का आठवां चैप्टर है – The Investor and Market Fluctuations

The Intellingent investor 8th chapter in hindi: यह 8th चैप्टर The Intelligent Investor बुक का सबसे इंपोर्टेंट चैप्टर है. इसमें बेंजामिन ग्राहम एक इन्वेस्टर और मार्केट के उतार-चढ़ाव के बीच के संबंध को बहुत सारे उदाहरण के साथ बताते हैं। उन्होंने बाजार को नाम दिया है मिस्टर मार्केट.

वह कहते हैं कि आपको हमेशा मिस्टर मार्केट के साथ चलना चाहिए वह किस ओर इशारा दे रहा हो आपको भी उसी तरह शिफ्ट हो जाना चाहिए। मतलब आपको कभी भी अपने मार्केट के उतार-चढ़ाव से प्रभावित होकर इमोशंस के आधार पर इन्वेस्टमेंट का निर्णय नहीं लेना चाहिए बल्कि मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए एक क्लियर साइकोलॉजी होनी चाहिए।

इस चैप्टर में बताया गया है कि मार्केट सुप्रीम है और यह किसी को नहीं पता की बाजार कब ऊपर जाएगा और कब नीचे, सब लोग सिर्फ अनुमान ही लगा सकते हैं। इसलिए इन्वेस्टिंग की दुनिया में आपको एक डिसिप्लिन अप्रोच लेकर चलना चाहिए और अपने लिए कुछ नियम निर्धारित करनी चाहिए।

उन्होंने Mr Market को एक फिक्शनल कैरेक्टर की तरह दर्शाया है जिसका मूड अलग-अलग सिचुएशन में अलग अलग होता है और उसके मूड के अनुसार ही निवेशकों को पैसा निवेश करने का डिसीजन लेना चाहिए।

अगर आप मिस्टर मार्केट के विपरीत चलते हैं तो आपको भारी नुकसान भुगतना पड़ सकता है। इस अध्याय में बताया गया है कि किस प्रकार लोग भेड़ चाल में चलकर और लालच या डर की वजह से शेयर बाजार में अपना पैसा खो देते हैं इसके लिए उन्होंने बहुत सारे उदाहरण देकर समझाया है कि कितने बड़े-बड़े तक दिग्गज लोग थे जिन्होंने बाजार में इन्वेस्ट करके बहुत बड़ी दौलत को गवा दिया।

वह बताते हैं कि आपको हमेशा अपनी कैपिटल को प्रोटेक्ट करके रखना चाहिए ताकि समय आने पर आप अपना पैसा सही जगह पर निवेश कर सकें. मेरा सुझाव है कि आप कोई चैप्टर पढ़ें या ना पढ़ें लेकिन आपको ‘द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर’ किताब का आठवां चैप्टर जरूर पढ़ना चाहिए।

ये भी पढ़ें,

Chapter 9: (The Intelligent Investor Book in Hindi PDF Download)

इस किताब का 9th चैप्टर है– Investing in Investment Funds

इस अध्याय में इन्वेस्टमेंट फंड में पैसा इन्वेस्ट करने के बारे में बताया गया है जिसमें ETF के बारे में बात की गई है. ETF का मतलब होता है ‘एक्सचेंज ट्रेडेड फंड’ जो कि बिल्कुल शेयरों की तरह होते हैं और इनको आप अपनी ब्रोकर एप के द्वारा डायरेक्ट खरीद सकते हैं।

इसके अलावा इस चैप्टर में इंडेक्स फंड के बारे में अभी बात की गई है और डायवर्सिफिकेशन और मैनेजमेंट के महत्व को समझाया गया है।

इसमें बताया गया है कि अगर आप बहुत लंबे समय के लिए इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं तो किस प्रकार इंडेक्स फंड किसी भी अन्य इन्वेस्टमेंट से बेहतर होता है। साथ ही इस अध्याय में आपको expense ratios, load fees और हमने बहुत सारी इंपॉर्टेंट terms के बारे में जानकारी मिलेगी।

लेखक बात करते हैं कि आपको किस प्रकार के फंड को सेलेक्ट करना चाहिए, आपकी इन्वेस्टमेंट स्ट्रेटजी क्या होनी चाहिए यह आपकी फाइनेंशियल गोल्स को पूरा करने में कैसे मदद कर सकता है।

Chapter 10: (The Intelligent Investor PDF in Hindi)

अध्याय 10: निवेशक और उनके सलाहकार

इस चैप्टर में हम निवेशक और उनके सलाहकार के बीच के संबंध पर चर्चा करते हैं। यह अध्याय हमें समझने में मदद करता है कि कैसे एक निवेशक अपने सलाहकार को चुने और उनके साथ सही तरीके से समझौता करे।

निवेशक को अपने सलाहकार चुनने से पहले उनकी विश्वसनीयता, अनुभव और उपलब्धियों पर विशेष ध्यान देना चाहिए। यह अध्याय हमें बताता है कि कैसे हम अपने निवेश के मामले में अनुभव और सही सलाहकर से जुड सकते हैं।

इसके साथ ही, इस अध्याय में हमें बताया गया है कि कैसे हम अपने सलाहकार के साथ एक खुला और पारदर्शी संचार बनाए रख सकते हैं। निवेशक को अपने लक्ष्य, जोखिम सहनशीलता, और समय को सही तरीके से अपने सलाहकार के साथ शेयर करना चाहिए।

यह चैप्टर हमें ये भी सिखाता है कि कैसे हम अपने finacial advisor से सही तरीके से समझौता कर सकते हैं, जैसे फीस स्ट्रक्चर, समयिकता, और वजहों के बारे में। इस चैप्टर से हमें ये समझ आता है कि एक investor अपने advisor से कैसे एक ट्रस्टिंग और फायदेमंद संबंध बनाए रख सकते हैं, जिससे सही निवेश निर्णय लेने में सहायता मिलती है।

Chapter 11: (The Intelligent Investor Hindi PDF Download)

अध्याय 11: Security Analysis: सिद्धांत और तकनीक

इस अध्याय में हम Security Analysis के सिद्धांत और तकनीको पर विचार करते हैं। यह अध्याय हमें यह समझने में मदद करता है कि कैसे हम एक सुरक्षित निवेश का मूल्यांकन करें और सही तकनीकों का इस्तेमल करके निवेश करने में सहयता लें।

सुरक्षा विशेष का मूल्यांकन करने से पहले, हमें सुरक्षा और निवेश स्थपित करने के सिद्धांतों को समझना जरूरी है। इस अध्याय में बताया गया है कि कैसे हम सुरक्षा प्राथमिकता का ध्यान रखें और किसी सुरक्षित सूरत में निवेश करने के लिए किन तकनीकों का इस्तेमाल करें।

अध्याय 11 हमें ये भी सिखाता है कि कैसे हम Security Analysis के सिद्धांत और तकनीकों के साथ कंपनी के वित्तीय विवरण और मूल्यांकन को विश्लेषण कर सकें। सुरक्षा विशेष का मूल्यांकन करने के लिए हमें कंपनी के फंडामेंटल, कैश फ्लो, डेट लेवल, और फ्यूचर ग्रोथ पोटेंशियल पर ध्यान देना चाहिए।

इसके साथ ही, इस अध्याय में हमें बताया गया है कि कैसे हम सुरक्षा विशेष के सिद्धांतो का इस्तेमाल करके स्टॉक का सही कीमत तय कर सकते हैं और अंडरवैल्यूड स्टॉक्स को पहचान सकते हैं। सुरक्षा विशेष के उपायों का इस्तमाल करके हम अपने निवेश को सुरक्षित और मुनाफा-कर्शक बना सकते हैं।

अध्याय 11 हमें ये समझाता है कि सुरक्षा विशेष के सिद्धांत और तकनीकों को समझ हम अपने निवेश को सुरक्षित बनाकर अच्छे रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। इस अध्याय से हमें सुरक्षा मूल्यांकन की महत्त्वपूर्ण विधि बताई गई है और हम कैसे सुरक्षित तरीके से अपने निवेश का मूल्यांकन कर सकते हैं।

Chapter 12: (The Intelligent Investor Summary in Hindi PDF Download)

अध्याय 12: सुरक्षित निवेशक और आम शेयर: और सोचने योग्य तत्व और एक चेतावनी

इस चैप्टर में हम सुरक्षित निवेशक और आम शेयर के बारे में, सोचने योग्य तत्व और एक चेतना के बारे में विचार करते हैं। यह अध्याय हमें समझने में मदद करता है कि कैसे हम सुरक्षित निवेशक बन सकते हैं और common stocks को समझने में और व्यवहार करने में सहयता ले सकते हैं।

सुरक्षित निवेश के रूप में, हमें कॉमन शेयर पर और सोचने योग्य तत्व पर जोर देना जरूरी है। इस चैप्टर में बताया गया है कि कैसे हम अपने रिस्क टॉलरेंस, निवेश का समय अवधि, और अपने फाइनेंशियल लक्ष्यों को ध्यान में रखते हुए आम शेयर को चुनें।

यह अध्याय हमें ये भी सिखाता है कि कैसे हम आम शेयर के अतिरिक्त विचार पर ध्यान देना चाहिए। इसमें शामिल होते हैं कंपनी के प्रबंधन की विश्वसनीयता, प्रतिस्पर्धी लाभ, लाभांश नीतियां, और बाजार मूल्य में उतार-चढ़ाव का सामायिकता से व्यवहार।

इसके साथ ही, इस अध्याय में हमें एक चेतावनी भी दी गई है कि निवेश करने के समय हमें स्वाभिमान और समझदारी से निवेश करना चाहिए। यह अध्याय हमें ये समझाता है कि सुरक्षित निवेश के रूप में हमें आम शेयर के सोचने योग्य तत्व पर और एक चेतना पर ध्यान देना जरूरी है।

अध्याय 12 से हमें समझाता है कि सुरक्षित निवेशक कैसे बने और आम शेयर के व्यवहार को कैसे समझें। इस अध्याय में इस बात पर जोर दिया गया है कि हमें सुरक्षा निवेश के विचार और आम शेयर के व्यवहार और उसके उतार-चढ़ाव पर विशेष रूप से ध्यान देना चाहिए।

Chapter 13: (The Intelligent Investor PDF Book Download)

अध्याय 13: अपने सिक्योरिटीज को चुनें: बुद्धिमान निवेश बनाम तर्कबधाता

इस अध्याय में हम अपने सिक्योरिटीज को चुनने के बारे में और बुद्धिमान निवेश और तर्कबद्धता के बीच के अंतर के बारे में बताया गया हैं। यह अध्याय हमें समझने में मदद करता है कि कैसे हम अपने निवेश के लिए सही सिक्योरिटीज को चुनें और बुद्धिमान तरीके से निवेश करें।

अपने सिक्योरिटीज को चुनने से पहले, हमें बुद्धिमान निवेश और तर्कबद्धता के बीच का अंतर समझना जरूरी है। इस चैप्टर में बताया गया है कि कैसे हम इंटेलिजेंट इन्वेस्टमेंट का इस्तेमल करके लॉन्ग टर्म रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं और तर्कबद्दता से बच सकते हैं।

अध्याय 13 हमें ये भी सीखता है कि कैसे हम अपने निवेश के लिए सही सिक्योरिटीज को चुन सकते हैं। इसमें शामिल होते हैं कंपनी के फंडामेंटल्स, फाइनेंशियल स्टेटमेंट्स, मैनेजमेंट की क्रेडिबिलिटी, और इंडस्ट्री के ट्रेंड का सामायिकता से व्यवहार।

इसके साथ ही, अध्याय में हमें बताया गया है कि तर्कबद्धता से बचने के लिए हमें बाजार की अटकलों से दूर रहना चाहिए। इंटेलिजेंट इन्वेस्टमेंट का इस्तेमाल करके हम अपने निवेश को सुरक्षित और मुनाफा-कर्शक बना सकते हैं।

इस चैप्टर में हम सीखते है कि बुद्धिमान निवेश और तर्कबधता के बीच का अंतर समझकर हम कैसे सही सिक्योरिटीज को चुन सकते हैं और अपने निवेश को सुरक्षित और मुनाफा-कर्शक बना सकते हैं। इस चैप्टर से हमें समझ में आता है कि अपने सिक्योरिटीज को चुनने के लिए बुद्धिमान निवेश का इस्तेमाल करना क्यों जरूरी है और तर्कबद्दता से कैसे बचा जा सकता है।

Chapter 14: (The Intelligent Investor in Hindi PDF Download)

अध्याय 14 है – अपने पोर्टफोलियो को संभालना

इस चैप्टर में लेखक पोर्टफोलियो को हैंडल करने पर बात करते हैं। यह अध्याय हमें बताता है कि कैसे हम अपने पोर्टफोलियो को सही तरीके से मैनेज कर सकते हैं और अपने निवेश की प्रकृति को अनुकूल बना सकते हैं।

अपने पोर्टफोलियो को संभालने के लिए, हमें अपने निवेशक प्रोफाइल, लक्ष्य, और अवधारणों को समझना जरूरी है। इस चैप्टर में बताया गया है कि कैसे हम अपने निवेशक प्रोफाइल के हिसाब से सही एसेट एलोकेशन तैयार कर सकते हैं और अपने पोर्टफोलियो की सामायिकता और स्थिरता को बनाए रख सकते हैं।

इसके साथ ही, अध्याय में हमें बताया गया है कि कैसे हम अपने निवेश की नियंत्रिता को बनाए रख सकते हैं और समय पर जरूरी एडजस्टमेंट कर सकते हैं। हम अपने निवेश के परफॉर्मेंस को मॉनिटर करना और जरूरत पड़ने पर अपने होल्डिंग्स को रिबैलेंस करना कैसे सीख सकते हैं।

यह अध्याय हमें ये भी बताता है कि कैसे हम अपने निवेश का समय और धन की महत्त्व को समझे और अपने पोर्टफोलियो को उसके लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए सही निवेश निर्णय ले। इस चैप्टर से हमें अपने पोर्टफोलियो को हैंडल करने की सही विधि और तरीके समझने में मदद मिलती है, जिससे हम अपने निवेश का सामायिक और सफल प्रबंधन कर सकें।

Chapter 15: (The Intelligent Investor Hindi PDF Download)

द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर किताब का अध्याय 15: उद्यमी निवेशक के लिए स्टॉक चयन

अध्याय 15 का फोकस है “उद्यमी निवेशक” के लिए स्टॉक चयन करना। इस अध्याय में हम देखते हैं कि कैसे एक सक्रिय निवेशक, जो ज्यादा मेहनती होता है, अपने लिए सही स्टॉक्स को चुन सकता है।

इस अध्याय में लेखक स्टॉक चयन के लिए कुछ महत्वपूर्ण कारक और तकनीक बताते हैं। उद्यमी निवेशकों को उद्योग विश्लेषण, कंपनी विश्लेषण, और मूल्यांकन तकनीक जैसे टूल्स का प्रयोग करना सिखाया जाता है। यहां तक की हमें रिस्क मैनेजमेंट और डायवर्सिफिकेशन की भी अहमियत बताई जाती है।

अध्याय 15 में हमें पता चलता है कि प्रोएक्टिव निवेशक कैसे फंडामेंटल और टेक्निकल एनालिसिस का सही इस्तेमाल करके पोटेंशियल स्टॉक्स को पहचान सकता है। इसमें हमें ये भी सिखाया जाता है कि बाजार में उतार-चढ़ाव और शॉर्ट टर्म वोलैटिलिटी पर ध्यान देना क्यों जरूरी है।

इस अध्याय की खास बात ये है कि यह हमें समझाता है कि enterprising निवेशक कैसे रिसर्च करके अपने लिए उपयुक्त स्टॉक चुन सकते हैं और मार्केट ट्रेंड्स को एनालाइज करके स्मार्ट निवेश निर्णय ले सकते हैं। इससे हमें समझ में आता है कि मेहनती निवेशक कैसे अपने निवेश पोर्टफोलियो को मजबूत और लाभदायक बनाने के लिए स्टॉक चयन पर ध्यान देता है।

Chapter 16: (The Intelligent Investor Summary in Hindi PDF)

अध्याय 16 – “द इन्वेस्टर एंड मार्केट रिसर्च”

इस अध्याय में लेखक बताते हैं कि एक निवेशक कैसे मार्केट रिसर्च का इस्तेमाल करके अपने निवेश की प्रक्रिया को सुधार सकता है।

इस चैप्टर में बताया जाता है कि मार्केट रिसर्च क्या है और इसका क्या महत्व है। हमें यहां पर यह समझने को मिलता है कि मार्केट रिसर्च कैसे एक निवेशक के लिए मूल्यवान insights और जानकारी प्रदान कर सकती है।

अध्याय 16 में हमें बताया जाता है कि मार्केट रिसर्च कैसे कर सकते हैं और किस तरह से हम मार्केट ट्रेंड्स, इंडस्ट्री एनालिसिस, कंपनी परफॉर्मेंस, और इकोनॉमिक इंडिकेटर्स का स्टडी करके सही निवेश निर्णय ले सकते हैं।

इस चैप्टर की खास बात है कि यह हमें समझाता है कि मार्केट रिसर्च कैसे निवेशक की डिसिजन मेकिंग प्रोसेस को enhance कर सकहै हैं और मार्केट के बदलाव और जोखिमों के प्रति सावधान बना सकते हैं। इससे हमें समझ में आता है कि एक समर्पित निवेशक कैसे मार्केट रिसर्च का सही इस्तेमल करके अपने निवेश पोर्टफोलियो को मजबूत कर सकता है और बेहतर रिटर्न प्राप्त कर सकता है।

Chapter 17: (The Intelligent Investor PDF Download in Hindi)

अध्याय 17: स्टॉक मार्केट: एक विपरीत मानसिक्ता का सिस्टम

इस अध्याय में हम स्टॉक मार्केट के घने झरोखों में प्रवेश करते हैं और उसकी विपरीत मानसिकता को समझते हैं। स्टॉक मार्केट एक कॉम्प्लेक्स सिस्टम है जिसके नियम आम समाज और तर्क से अलग दिखते हैं. long term के लिए सफ़लता चाहते हुए निवेश के लिए इसकी विपरीत मानसिकता की समझ महत्वपूर्ण है।

इस चैप्टर में स्टॉक मार्केट के ऐसे तत्व पर जोर दिया गया है जो आम समाज के खिलाफ हो सकते हैं। इसमें ये महत्त्वपूर्ण है कि हम भावनात्‍मक निर्णय से बच कर तर्कमक और अनुषासित भूमिभूमि का आदर्श लें। शेयर बाजार की विपरीत मानसिकता को समझ निवेश व्यक्ति आम असफलातों से बच सकते हैं और जानकारी प्राप्त करके सही निर्णय ले सकते हैं।

इसके अलावा, अध्याय में वर्तमान मनोविज्ञान और निवेशकों के व्यवहार का भी वर्णन किया गया है जो शेयर बाजार के प्रवृत्तियों को प्रभावित करते हैं। इसमें दिखाया गया है कि भय और लोभ जैसे भावनाएं बाजार के गति पर प्रभाव डाल सकती हैं और तर्कहीन व्यवहार को भुगतान कर सकती हैं। इन पैटर्न्स को पहचान कर निवेशक स्टॉक मार्केट में तर्किक तथा सही निवेश के निर्णय ले सकते हैं।

सामान्य रूप से देखे तो, अध्याय 17 हमें स्टॉक मार्केट की विपरीत मानसिकता के बारे में प्रकाश डालता है। स्टॉक मार्केट के घने झरोखों और विपरीत प्रवृत्तियों को समझ, निवेशक तन्मय मानसिकता विकसित कर सकते हैं और सही निर्णय ले सकते हैं, अंतः स्टॉक मार्केट में सफलता के अवसर को बढ़ा सकते हैं।

Chapter 18: (The Intelligent Investor Free PDF Book Download Hindi)

अध्याय 18 – A Comparison of Four Broad-Range Common Stock Funds

इस चैप्टर में लेखक चार मुख्य प्रकार के कॉमन स्टॉक फंड पर बात करते हैं। यह अध्याय हमें बताता है कि कैसे ये चार फंड एक दूसरे से अलग हैं और किस तरह से ये निवेश के लिए उपयोगी होते हैं।

इस चैप्टर में ये सीखने को मिलता है कि हर एक फंड की अपनी अलग विशेषताएं और जोखिम प्रवृत्ति होती है। ये चार फंड भविष्य में वृद्धि के अवसर प्रदान करने के लिए अपने-अपने तर्क और प्रक्रियाएं का प्रयोग करते हैं।

निवेश के लिए इस अध्याय में यह महत्वपूर्ण है कि वो इन चार फंड्स के बीच अंतर समझें और अपने निवेश के लक्ष्य और जोखिम-सहिष्णुता के अनुसर सही फंड को चुनें। इस प्रकार, ये अध्याय हमें चार मुख्य प्रकार के कॉमन स्टॉक फंड्स के बीच करना करने में मदद करता है और इनमें निवेश करने के बारे में समझने में मदद करता है।

Chapter 19: (The Intelligent Investor Book in Hindi PDF Download)

द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर किताब का 19th चैप्टर है– शेयरधारक और प्रबंधन: लाभांश नीति

इस चैप्टर में हम शेयरधारक और प्रबंधन के बीच की लाभांश नीति पर बात करते हैं। ये अध्याय बताता है कि कैसे डिविडेंड पॉलिसी कंपनी और उसके शेयरहोल्डर्स के बीच एक महत्वपूर्ण संबंध है।

लाभांश नीति का चयन करना, कंपनी के प्रबंधन के लिए एक महत्त्व पूर्ण निर्णय है। इस अध्याय में ये समझने को मिलता है कि किस तरह से डिविडेंड पॉलिसी कंपनी के शेयरहोल्डर के रिटर्न और शेयरहोल्डर वेल्थ के विकास पर प्रभाव डालता है।

इस प्रकार, ये अध्याय हमें शेयरधारक और प्रबंधन के बीच की लाभांश नीति के बारे में समझने में मदद करता है और हमें सही निवेश निर्णय लेने में मदद करता है।

Chapter 20: (The Intelligent Investor Hindi PDF Download)

इंटेलिजेंट इन्वेस्टर किताब का आखिरी यानी 20वां चैप्टर है – मार्जिन ऑफ सेफ्टी

बेंजामिन ग्राहम द्वारा “द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर” के अध्याय 20 को निवेश की केंद्रीय अवधारणा के रूप में “सुरक्षा का मार्जिन” शीर्षक दिया गया है। सरल शब्दों में, यह आपके निवेश को उनके वास्तविक मूल्य से कम कीमत पर खरीदकर उनकी सुरक्षा के महत्व पर जोर देता है।

सुरक्षा के मार्जिन की अवधारणा का अर्थ है शेयरों या अन्य निवेशों को उनके आंतरिक मूल्य पर महत्वपूर्ण छूट पर खरीदना। यह भविष्य में किसी भी संभावित नुकसान या अप्रत्याशित घटनाओं के प्रति सुरक्षा प्रदान करता है। कम कीमत पर खरीदारी करने पर, आपके पास एक अंतर्निहित मार्जिन होता है जो आपके निवेश को सुरक्षित रखने में मदद करता है।

ग्राहम सुझाव देते हैं कि निवेशकों को किसी कंपनी के अल्पकालिक बाजार में उतार-चढ़ाव के बजाय दीर्घकालिक संभावनाओं पर ध्यान देना चाहिए। वह एक निवेश के आंतरिक मूल्य को निर्धारित करने के लिए गहन शोध और विश्लेषण करने की सलाह देता है, और केवल तभी खरीदारी करता है जब बाजार मूल्य उस मूल्य से काफी कम हो।

सुरक्षा सिद्धांत का मार्जिन निवेशकों को जोखिम कम करने और संतोषजनक रिटर्न अर्जित करने की संभावना बढ़ाने में मदद करता है। यह संभावित बाजार में गिरावट या प्रतिकूल परिस्थितियों के खिलाफ एक बफर प्रदान करता है, जिससे निवेशकों को मौसम की अनिश्चितताओं की अनुमति मिलती है और सफल निवेश का उच्च मौका मिलता है।

तो यह थी ‘द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर’ किताब के सभी 20 चैप्टर की संक्षिप्त जानकारी. उम्मीद करता हूं आपको इससे काफी कुछ सीखने को मिला होगा.

The Intellingent Investor Book Summary in Hindi में देखने के लिए आपको नीचे दी गई वीडियो जरूर देखनी चाहिए–

How to download The Intelligent Investor PDF in Hindi?

  • ‘द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर’ बुक डाउनलोड करने के लिए आपको नीचे दिए गए डाउनलोड लिंक पर क्लिक करना है।
  • डाउनलोड लिंक पर क्लिक करते ही आप गूगल ड्राइव पर रीडायरेक्ट हो जाएंगे।
  • वहां पर आप इस किताब को ऑनलाइन बिल्कुल फ्री में हिंदी भाषा में पढ़ सकते हैं।
  • अपने मोबाइल या कंप्यूटर किताब को डाउनलोड करने के लिए आपको गूगल ड्राइव वाले पेज पर ऊपर की ओर दिए गए डाउनलोड वाला आइकन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही यह किताब आपके डिवाइस में डाउनलोड हो जाएगी फिर आप उसे जब चाहे तब ऑफलाइन भी पढ़ सकते हैं।
The Intelligent Investor PDF in HindiDownload Now

इस तरफ ऊपर दिए गए steps को फॉलो करके आप The Intelligent Investor बुक को PDF में डाउनलोड कर सकते हैं। उम्मीद करता हूं आप समझ गए होंगे।

The Intelligent Investor Book in Hindi PDF – ‘FAQ’

The Intelligent Investor किताब कैसे डाउनलोड करें?

The Intelligent Investor PDF में हिंदी भाषा में डाउनलोड करने के लिए आपको इस पोस्ट में ऊपर दिए गए डाउनलोड लिंक पर क्लिक करना है। इसके बाद गूगल ड्राइव वाले पेज पर जाकर आप यह किताब पीडीएफ फॉर्मेट में डाउनलोड कर सकते हैं।

क्या हमें द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर किताब पढ़नी चाहिए?

जी हां, अगर आप शेयर बाजार में निवेश करके शानदार पोर्टफोलियो बनाना चाहते हैं या फिर इन्वेस्टिंग के बारे में बेसिक से लेकर एडवांस लेवल की नॉलेज और प्रैक्टिकल एक्सपीरियंस के बारे में जानना चाहते हैं तो आपको इंटेलीजेंट इन्वेस्टर किताब जरूर पढ़नी चाहिए।

क्या The Intelligent Investor किताब फ्री है?

द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर किताब फ्री नहीं है बल्कि यह अमेजॉन पर paid है लेकिन कुछ वेबसाइट है जो इस किताब को ऑनलाइन पढ़ने के लिए फ्री में उपलब्ध कराती हैं. लेकिन अगर आपको ऑफलाइन इस किताब को अपने घर पर मंगवाना है तो इसके लिए आपको pay करना होगा।

क्या The Intelligent Investor खरीदना चाहिए?

अगर आप निवेश के नियमों को बारीकी से समझना चाहते हैं और अपनी लाइफ में इन्वेस्टमेंट करके अमीर बनना करना चाहते हैं तो आपको द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर किताब जरूर खरीदना चाहिए।

The Intelligent Investor किताब पढ़कर क्या सीखने को मिलेगा?

द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर किताब पढ़कर आप इन्वेस्टिंग के सभी कांसेप्ट को सीख सकते हैं। इसके अलावा शेयर बाजार में किन कंपनियों के शेयर खरीदना चाहिए और स्टॉक सिलेक्ट करते वक्त कौन-कौन सी पैरामीटर्स को ध्यान में रखना चाहिए, इन सब के बारे में आपको इस किताब में सीखने को मिलेगा।

Conclusion (The Intelligent Investor PDF in Hindi Free Download)

मैं उम्मीद करता हूं आपको यह लेख (The Intelligent Investor PDF in Hindi Free Download) जरूर पसंद आया होगा. आज हमने आपको इंटेलिजेंट इन्वेस्टर किताब के सभी चैप्टर्स के बारे में जानकारी दी है और बताया है कि कौन से चैप्टर में आपको क्या सीखने को मिलता है।

मुझे पूरा विश्वास है कि अगर आप यह किताब पूरा पढ़ लेते हैं तो आपको एक सफल निवेशक बनने से कोई नहीं रोक सकता और आप अपनी जिंदगी में इन्वेस्टिंग के द्वारा खूब पैसा कमा पाएंगे।

ये भी पढ़ें,

दोस्तों अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट करके जरूर बताइए और इसी प्रकार की अन्य किताब के बारे में पढ़ने के लिए इस ब्लॉग की बाकी पोस्ट पढ़ सकते हैं।

2.5/5 - (153 votes)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️