कल सोमवार को शेयर मार्केट कैसा रहेगा, क्या NIFTY जाएगा 22000 के पार?

आइये जान लेते हैं कल के दिन यानि सोमवार को शेयर बाजार कैसा रहेगा? तेजी आएगी या फिर गिरावट, वह कौन-कौन से फैक्टर हैं जो शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव ला सकते हैं उन सभी के बारे में हम इस पोस्ट में चर्चा करेंगे.

कल सोमवार के दिन कैसा रहेगा शेयर मार्केट?

Kal share market kaisa rahega

Tommorow share market prediction in hindi: कल सोमवार के दिन शेयर बाजार में तेजी का रुख रहने की संभावना है। विदेशी निवेशकों का लगातार निवेश जारी रहने और अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी की आशंका कम होने से बाजार में निवेशकों का विश्वास बढ़ रहा है। इसके अलावा, विप्रो, इंफोसिस और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज जैसी प्रमुख आईटी कंपनियों के तिमाही नतीजे अच्छे रहे हैं, जिससे निवेशकों का मनोबल बढ़ा है।

शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव लाने वाले कुछ प्रमुख कारक हैं:

  • वैश्विक आर्थिक गतिविधियों का रुख
  • कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव
  • विदेशी निवेशकों की गतिविधियाँ
  • घरेलू आर्थिक गतिविधियों का रुख
  • मौद्रिक और राजकोषीय नीतियों में बदलाव

Tommorow Nifty and Banknifty Prediction in Hindi

कल सोमवार को निफ्टी 50 इंडेक्स 21450 से 21800 के बीच कारोबार कर सकता है। बैंकनिफ्टी 47,000 से 48,000 के बीच कारोबार कर सकता है।

Nifty Prediction for Tomorrow (15th January 2024)

Nifty View
LevelsValue
Nifty Support21500-21450
Nifty Resistance21750-21800
Nifty Range21450-21750
PerformanceSideways to Bullish

Bank Nifty Prediction for Tomorrow (15th January 2024)

Bank Nifty View
LevelsValue
Bank Nifty Support47100-46900
Bank Nifty Resistance47800-48000
Bank Nifty Range47000-47800
It can PerformSideways to Bullish

कल के दिन शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव लाने वाले कारक

शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव लाने वाले factors में आजकल ग्लोबली एक बड़ी खबर चल रही है जोकि लाल सागर (Red sea) के संकट से संबंधित है और इसके कारण इंडिया ही नहीं बल्कि दुनिया भर के शेयर मार्केट पर संकट आ सकता है यह खबर कुछ इस प्रकार है–

यमन स्थित हुतियों द्वारा लाल सागर में अंतरराष्ट्रीय शिपिंग जहाजों पर किए जा रहे हमलों से वैश्विक व्यापार प्रभावित हो रहा है। इन हमलों के कारण लाल सागर में जहाजों की आवाजाही बाधित हो रही है, जिससे माल की आपूर्ति में देरी हो रही है और लागत बढ़ रही है। इससे वैश्विक आर्थिक विकास पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है और शेयर बाजारों में गिरावट आ सकती है।

यहां कुछ विशेष बातें हैं जो बताती हैं कि लाल सागर में हुतियों के हमलों के कारण कैसे शेयर बाजार प्रभावित हो सकते हैं:

  • इन हमलों से तेल की कीमतों में वृद्धि हो सकती है, जिससे महंगाई बढ़ सकती है और आर्थिक विकास प्रभावित हो सकता है।
  • इन हमलों से समुद्री शिपिंग और माल ढुलाई की लागत बढ़ सकती है, जिससे निर्यातकों और आयातकों को नुकसान हो सकता है।
  • इन हमलों से वैश्विक आर्थिक अनिश्चितता बढ़ सकती है, जिससे निवेशकों का विश्वास कम हो सकता है और शेयर बाजारों में गिरावट आ सकती है।

हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि लाल सागर में हुतियों के हमलों से शेयर बाजार पर पड़ने वाला प्रभाव कई कारकों पर निर्भर करेगा, जिनमें शामिल हैं:

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें
  • हमलों की गंभीरता और आवृत्ति
  • वैश्विक आर्थिक स्थिति
  • मौद्रिक और राजकोषीय नीतियों में बदलाव

यदि हमले गंभीर होते हैं और लगातार होते रहते हैं, तो इससे शेयर बाजारों में गिरावट आ सकती है। हालांकि, यदि हमले कम होते हैं या जल्द ही समाप्त हो जाते हैं, तो इससे शेयर बाजारों पर कोई महत्वपूर्ण प्रभाव नहीं पड़ सकता है।

हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि शेयर बाजार अनिश्चितताओं का खेल है और किसी भी भविष्यवाणी को गारंटी नहीं दी जा सकती है। निवेशकों को हमेशा अपने जोखिम उठाने की क्षमता के अनुसार निवेश करना चाहिए।

ये भी पढ़ें

5/5 - (1 vote)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️