शेयर मार्केट क्या है और कैसे सीखें? | What is Share Market in Hindi?

शेयर मार्केट क्या है? शेयर बाजार की पूरी जानकारी विस्तार से | Share Market kya hai? | What is share market in hindi?

अगर आप स्टॉक मार्केट या शेयर मार्केट के बारे में सब कुछ हिंदी में सीखना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह आए हैं। आज इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको शेयर बाजार से जुड़े आपके हर सवाल का जवाब मिल जाएगा और अगर आप Stock Market या Share market में बिल्कुल beginner भी हैं तो भी आप इसे अच्छे से समझ जाएंगे।

शेयर मार्केट क्या है, What is share market in hindi

क्योंकि आज हम आपको शेयर मार्केट से जुड़े हुए आपके सभी सवालों का जवाब देने वाले हैं जैसे:

  • शेयर मार्केट क्या है,
  • शेयर मार्केट कैसे सीखे,
  • शेयर मार्केट में पैसा निवेश कैसे करें,
  • शेयर मार्केट से पैसा कैसे कमाए,
  • शेयर मार्केट में कितना risk या जोखिम है,
  • क्या सच में शेयर मार्केट से रातों-रात लोग करोड़पति बन जाते हैं?

तो अगर आपने इस पोस्ट को पूरा पढ़ लिया तो मैं वादा करता हूं कि फिर आपके मन में शेयर मार्केट के बारे में कोई भी doubt नहीं रहेगा।

शेयर मार्केट क्या है? What is Share Market in Hindi

Share market kya hai, what is share market in hindi

बाजार का मतलब होता है एक ऐसी जगह जहां पर चीजों की खरीद और बिक्री की जाती है ठीक इसी प्रकार शेयर बाजार (Stock Market) एक ऐसी जगह है जहां पर बहुत सारी कंपनियां listed होती हैं और वो सभी कंपनीज अपने कुछ शेयर जारी करती हैं (बेचने के लिए) अलग-अलग प्राइस में.

और फिर लोग उनके शेयर्स को खरीदते हैं और जब शेयर का प्राइस बढ़ जाता है तो उसे बेच देते हैं और पैसा कमा लेते हैं।
लेकिन वहीं दूसरी ओर अगर शेयर का प्राइस कम हो जाता है तो उसे बेचने पर नुकसान भी हो जाता है।

आपको बता दें कि शेयर का प्राइस कम या ज्यादा (Fluctuate) होता रहता है आज कुछ और है तो कल कुछ और होगा।

Stock Market में ज्यादातर लोग सिर्फ इसीलिए पैसा इन्वेस्ट करते हैं ताकि उन्हें फ्यूचर में ज्यादा से ज्यादा Return मिल सके और वह जल्दी से जल्दी अमीर बन सके.

लेकिन शेयर मार्केट को समझना इतना आसान नहीं है इसमें बहुत सारी चीजें या Terms आपको पता होनी चाहिए जैसे: SEBI यानी Security and Exchange board of India जिसका बहुत बड़ा रोल होता है शेयर मार्केट में.

इसके अलावा IPO, Demat Account, Sensex and Nifty, Equity, Commodity, Currency, Derivatives, Devidend, Bonus इन सभी चीजों को समझना आपके लिए बहुत जरूरी है तो अगर आप शेयर मार्केट में बिल्कुल नए है तो आइए इसे एक आसान example के द्वारा समझते हैं:

Example: मान लीजिए आपने कोई कंपनी स्टार्ट की और कुछ समय तक आपकी कंपनी बहुत अच्छी चली लेकिन अब आपको अपनी कंपनी को और आगे बढ़ाना है जिसके लिए आपको 10 लाख रुपये की जरूरत है लेकिन आपके पास इतना पैसा नहीं है और ना ही आपका कोई फैमिली या फ्रेंड इतना पैसा लगा सकता है तो ऐसे में आप क्या करोगे?

शायद आप सोचोगे कि मैं बैंक से लोन ले लूंगा और अपनी कंपनी में लगा दूंगा लेकिन आपको भी पता है कि उस पर आपको काफी ब्याज देना होगा तो फिर हम और क्या कर सकते हैं?
एक तरीका है आप अपनी कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट करवा दें और अपनी कंपनी के शेयर जारी कर दें फिर लोग आपकी कंपनी में पैसा लगाएंगे।

किसी भी कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट कैसे करें?

अगर आपको 10 लाख रुपये की जरूरत है तो आप अपनी कंपनी को शेयर मार्केट पर लिस्ट करके 10 लाख रुपए आसानी से इकट्ठा कर सकते हैं इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी कंपनी को Stock Exchanges (BSE या NSE) पर लिस्ट कराना होगा।

BSE यानी Bombay Stock Exchange जिस पर 4000 से भी ज्यादा कंपनियां लिस्टेड हैं. और NSE मतलब National Stock Exchange जिस पर 1500 से ज्यादा कंपनियां लिस्टेड हैं।

तो अपनी कंपनी को स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट कराने के लिए आपको सबसे पहले जाना होगा सेबी (SEBI) के पास। सेबी के पास आपको अपनी कंपनी की सभी डिटेल्स देनी पड़ती है और एक बार जब SEBI आपकी कंपनी को verify करके approval दे देती है. इसके बाद आप अपनी कंपनी को स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट करवा सकते हैं।

तो अब आप पहली बार अपनी कंपनी के शेयर बेचने जा रहे हैं और आपको 10 लाख रुपये की जरूरत है तो आप ₹100 के हिसाब से 10,000 शेयर निकालेंगे और इसी को बोला जाता है IPO यानी Initial Public Offering मतलब कि जब कोई कंपनी पहली बार अपने शेयर निकालती है और शेयर मार्केट पर लिस्ट होती है तो उसे ही IPO बोलते हैं.

इसके बाद जब लोग आपकी कंपनी के शेयर्स को खरीदेंगे और जब सारे शेयर बिक जाएंगे तो हमें 10 लाख रुपये मिल जाएंगे अपने बैंक account में।

शेयर क्या होता है? What is Share in Hindi

शेयर का मतलब होता है किसी कंपनी में आपकी हिस्सेदारी। अगर आपने किसी कंपनी का शेयर खरीदा है तो इसका मतलब है कि आप उस कंपनी के कुछ हिस्से के मालिक हैं। मतलब उस कंपनी में आपका कुछ पैसा लगा हुआ है तो अगर कंपनी लाभ कम आती है या प्रॉफिट में जाती है तो आपका भी profit होता है और अगर कंपनी का नुकसान (loss) होता है तो आपका भी नुकसान हो जाता है।

मान लो किसी कंपनी के कुल 100 शेयर हैं और उनमें से 10 शेयर आपके पास हैं तो आप उस कंपनी के 10% के मालिक कहलाएंगे। ठीक इसी प्रकार से किसी भी कंपनी के शेयर होल्डर उसके अलग-अलग प्रतिशत के मालिक होते हैं।

आज आप किसी की कंपनी के शेयर को घर बैठे ब्रोकर के द्वारा ऑनलाइन खरीद और बेच सकते हैं। ब्रोकर कुछ वेबसाइट या apps होते हैं जो आपको शेयर्स को खरीदने और बेचने की सुविधा देती हैं। इंडिया में बहुत सारे ब्रोकर हैं जैसे: Zerodha, Upstox, Angel broking, Sherekhan आदि। इन ब्रोकर्स की apps या वेबसाइट पर जाकर आप किसी भी शेयर को खरीद और बेच सकते हैं।

शेयर का प्राइस कम या ज्यादा क्यों होता है?

शेयर मार्केट में किसी भी शेयर का भाव (Price) Demand और Supply के आधार पर बढ़ता या कम होता है। मांग और पूर्ति के आधार पर ही कंपनी के शेयरों का मूल्यांकन होता है।

अगर किसी कंपनी के शेयर की ज्यादा demand होती है और supply कम होती है तो उसके शेयर का प्राइस बढ़ जाता है ठीक इसी प्रकार जब supply ज्यादा होती है और demant कम होती है तो शेयर का प्राइस घट जाता है।

हर कंपनी के शेयर का मूल्य (price) अलग-अलग होता है। आप छोटी लिस्टेड कंपनी रोज कारोबार करती है जिसने उसे कभी मुनाफा तो कभी नुकसान होता है और इसीलिए समय के साथ साथ कंपनी के शेयरों में उतार-चढ़ाव आता रहता है।

तो जब कंपनी का व्यापार बढ़ता है और कंपनी को मुनाफा होता है तो बहुत सारे लोग उस कंपनी के शेयर खरीदने लगते हैं और share का price बढ़ जाता है। ठीक इसके विपरीत जब कंपनी को घाटा (loss) होता है तो लोग उसके शेयर को जल्दी-जल्दी बेचने लगते हैं जिससे शेयर का प्राइस डाउन हो जाता है (ताकि आगे चलकर अगर शेयर का price और कम हो तो उन्हें और ज्यादा नुकसान ना झेलना पड़े)

आइये इसे एक उदाहरण के द्वारा समझते हैं-

For Example: 2007 से लेकर 2016 तक Reliance Industries के 1 शेयर का प्राइस लगभग ₹500 के आसपास रहता था लेकिन 2016 के बाद जैसे ही जिओ (Jio) लांच होने के बाद कंपनी ने बहुत सारे initiative लिए जिससे इसका व्यापार धीरे धीरे बढ़ता ही चला गया और आज रिलायंस के 1 शेयर की कीमत ₹2000 के आसपास है।

इसीलिए जैसे-जैसे ज्यादा से ज्यादा लोग इसके शेयर खरीदते जा रहे हैं इनके शेयर का रेट दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है इसीलिए अगर आप शेयर मार्केट में नए हैं और आपको नहीं पता कि किस कंपनी में इन्वेस्ट करें, कौन सा शेयर खरीदें तो आप रिलायंस कंपनी का शेयर खरीद कर शुरुआत कर सकते हैं।

अब तक आपको शेयर बाजार की Basic Knowledge तो हो गई होगी अब आइए जानते हैं किसी भी शेयर को कैसे खरीदते और बेचते हैं।

शेयर्स को कैसे खरीदा और बेचा जाता है?

शेयर बाजार में शेयर को खरीदने और बेचने के लिए बोलियां लगाई जाती हैं मतलब शेयर की नीलामी की जाती है।

इसमें जो विक्रेता सबसे कम कीमत पर शेयर बेचने को तैयार होता है और जो खरीददार सबसे अधिक कीमत पर शेयर खरीदने को तैयार होता है उन दोनों के बीच शेयर का आदान-प्रदान हो जाता है और यह दोनों एक दूसरे से शेयर को खरीद और बेच लेते हैं। मतलब जो सबसे ऊंची बोली लगाता है वह शेयर को खरीद लेता है।

इसे ही Bid price और Ask price बोला जाता है। विक्रेता जिस कीमत पर शेयर को बेचने के लिए तैयार होता है उसे “Bid Price” और खरीददार जिस कीमत पर खरीदने के लिए तैयार होता है उसे “Ask Price” कहते हैं।

किसी कंपनी का शेयर कैसे खरीदें?

किसी भी कंपनी का शेयर खरीदने के लिए आपको 3 चीजों की जरूरत पड़ती है-

  • Saving Account या Bank account: आपके पास किसी भी बैंक में saving अकाउंट होना चाहिए। जिससे आप पेमेंट करोगे शेयर को खरीदने के लिए।
  • Demat Account: जब आप किसी कंपनी का शेयर खरीदते हैं तो आपको उस कंपनी में हिस्सेदारी या equity मिलती है लेकिन उसके लिए आपके पास कोई proof भी तो होना चाहिए जिससे कि अगर भविष्य में कहीं कोई गड़बड़ हो तो आप बता सको कि मेरा पैसा इस कंपनी में लगा हुआ है। इसीलिए आपने जो शेयर खरीदा है वह डिजिटल फॉर्म में प्रूफ के तौर पर आपके डीमैट अकाउंट में स्टोर हो जाता है। और जब आप उसे बेचते हो तो वहाँ से उठकर वापस कंपनी के पास चला जाता है। लगभग सभी ब्रोकर जहां पर आप ट्रेडिंग अकाउंट खोलते हो वह आपका फ्री में डिमैट अकाउंट भी खोल देते हैं।
  • Trading Account: इंडिया में जो Stock Exchanges हैं जैसे: BSE (Bombay Stock Exchange) और NSE (National Stock Exchange) ये Direct किसी कंपनी का शेयर नहीं खरीदते बेचते हैं, इसके लिए कुछ डिस्काउंट ब्रोकर कंपनियां हैं जैसे: Angel Broking, Zerodha आदि। जिन पर जाकर ही हम किसी भी शेयर को Trade करते हैं मतलब खरीदते और बेचते हैं और इन्हीं ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर हमारा जो अकाउंट खुलता है (जिसमें आप शेयर को Buy या Sell करते हैं) उसे ही ट्रेडिंग अकाउंट या ब्रोकर अकाउंट कहते हैं।

शेयर खरीदने के लिए सबसे पहले आपको किसी ब्रोकर (Angel Broking, Zerodha आदि) की मदद से अपना Demat Account खुलवाना होगा फिर अपने बैंक अकाउंट को Demat Account से लिंक करना होगा और अपने बैंक अकाउंट में कुछ Fund मतलब पैसा ऐड करना होगा।

इसके बाद जब आप किसी कंपनी का शेयर खरीदते हैं तो आपका पैसा आपके बैंक अकाउंट से निकल कर ट्रेडिंग अकाउंट के माध्यम से उस कंपनी के पास चला जाता है और शेयर आपके डिमैट अकाउंट में डिजिटल proof के रूप में सेव हो जाता है। और जब आप उस शेयर को बेचते हैं तो वह वापस आपके डिमैट अकाउंट से निकलकर कंपनी के पास चला जाता है और पैसा आपके बैंक अकाउंट में आ जाता है।

शेयर बाजार (Stock Market) में Investment करने से पहले आपको पता होना चाहिए कि कितने तरीकों से हम स्टॉक मार्केट से पैसे कमा सकते हैं।

ये भी पढ़ें: अच्छे शेयर का चुनाव कैसे करें?

शेयर मार्केट से पैसे कमाने के तरीके

स्टॉक मार्केट या शेयर मार्केट से हम कई तरीकों से पैसे कमा सकते हैं जैसे कुछ तरीके नीचे दिए गए हैं:

1.शेयर का प्राइस बढ़ने पर उसे बेचकर सबसे ज्यादा लोग पैसे कमाते हैं और यह तरीका सबसे ज्यादा पॉपुलर है मैं भी तरीके से लोग पैसे कमाते हैं जैसे;

  • इंट्रा डे ट्रेडिंग (Intraday Trading)
  • स्विंग ट्रेडिंग (Swing Trading)
  • शोर्ट टर्म ट्रेडिंग (Short Term Trading)
  • लॉन्ग टर्म ट्रेडिंग (Long Term Trading)

2. जब कंपनी को प्रॉफिट होता है तो वह अपने शेयर होल्डर्स को Dividend (लाभांश) यानी अपने प्रॉफिट का कुछ हिस्सा देती है। इसके अलावा कंपनी शेयर के बदले कुछ बोनस भी देती है।

3. Intraday शेयर मार्केट में आप शॉर्ट सेलिंग (Short Selling) करके पैसे कमा सकते हैं।

4. शेयर बाजार के दुसरे सेगमेंट में ट्रेडिंग करके भी आप पैसे कमा सकते हैं जैसे;

  • फ्यूचर मार्केट ट्रेडिंग (Future Market Trading)
  • ऑप्शन मार्केट ट्रेडिंग (Option Market Trading)

तो यह कुछ तरीके थे जिनसे आप शेयर मार्केट में निवेश करके पैसा कमा सकते हैं अब आइए जानते हैं किसी भी कंपनी का शेयर कब खरीदना चाहिए।

शेयर कब खरीदें?

एक बार जब आप शेयर खरीदना और बेचना सीख जाते हैं तो आपके मन में यह डाउट जरूर आता है कि आखिर किस समय शेयर को खरीदना चाहिए।

स्टॉक मार्केट में किसी भी शेयर को खरीदने से पहले आपको इन चीजों का ध्यान रखना चाहिए-

  • किसी भी कंपनी का शेयर खरीदने से पहले उस कंपनी के बारे में अच्छे से रिसर्च कर लें।
  • उस कंपनी के पिछले कुछ सालों के प्रॉफिट और लॉस की History देख लें।
  • उस कम्पनी के Assets और Liabilities को अच्छे से देख लें।
  • उस कंपनी के Cash Flow statement के बारे में पता लगा ले।
  • कंपनी की बैलेंस शीट (Balance Sheet) अच्छे से पढ़ लें।
  • इसके अलावा कुछ वेबसाइट हैं जैसे: Economic Times, NDTV Business इनसे लगातार अपडेट रहें। इन पर आने वाली शेयर मार्केट से रिलेटेड न्यूज़ देखें।

जैसे-जैसे आपका शेयर मार्केट के बारे में नॉलेज और एक्सपीरियंस बढ़ता चला जाएगा वैसे-वैसे आप अच्छे से अच्छे प्रॉफिटेबल शेयर को खरीद पाएंगे।

शेयर मार्केट में बहुत सारे फ़्रॉड (Scams) भी होते हैं तो जो लोग यहाँ पर अपना पैसा गवा देते हैं या कंगाल हो जाते हैं उसका सबसे बड़ा कारण होता है नॉलेज और एक्सपीरियंस की कमी। अगर आप स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो आपके अंदर पेशेंस होना चाहिए नहीं तो आप यहां पर आप अपना काफी पैसा गवा सकते हैं।

अगर आप शेयर मार्केट में इंटरेस्ट रखते हैं तो आपने हर्षद मेहता scam case और केतन पारेख scam के बारे में तो जरूर सुना होगा। अभी कुछ समय पहले ही हर्षद मेहता scam के बारे में एक वेब सीरीज “Scam 1992” आई थी जो कि काफी ज्यादा पॉपुलर हुई। इस वेब सीरीज को देखने के बाद जो लोग शेयर मार्केट के बारे में नहीं भी जानते थे वो भी जानने लग गए।

लेकिन मेरा suggestion है कि आप शेयर बाजार (Stock Market) में invest करने से पहले इसके बारे में अच्छे से सीख लें कि आखिर शेयर मार्केट कैसे काम करता है, इसके अलावा शेयर मार्केट के विषय में पूरी जानकारी और अनुभव हासिल कर लें इसके बाद ही शेयर मार्केट में कदम रखें।

जैसे आपने दुनिया के सबसे अमीर investor Warren Buffett का नाम तो जरूर सुना ही होगा। उन्होंने अपनी जिंदगी में अपना सारा पैसा शेयर बाजार (Stock Market) में invest करके ही कमाया है और पिछले कुछ सालों से दुनिया के सबसे अमीर इंसानों में से एक हैं।

शेयर मार्केट कैसे सीखे?

अगर आप शेयर मार्केट में अभी एक beginner हैं और एक सफल इन्वेस्टर बनना चाहते हैं और शेयर मार्केट से पैसे कमा कर इसमें अपना करियर बनाना चाहते हैं तो उसके लिए सबसे पहले आपको शेयर मार्केट को अच्छे से सीखना और समझना होगा।

जिस तरह से जब आप कोई कोर्स करते हैं तो उसमें अलग-अलग subject पढ़ते हैं और उन्हें सीखते हैं ठीक इसी प्रकार शेयर मार्केट (Stock Market) में भी आपको अलग-अलग चीजें सीखनी होगी। तो सबसे पहले आपको Share Market की Basic चीज़ों को यानी कि Basics of Share Market पहले क्लियर करना पड़ेगा जैसे:

  • Share Market काम कैसे करता है?
  • Sensex और Nifty क्या है?
  • IPO क्या होता है?
  • Demat Account क्या है?
  • Stock Trading क्या है?

तो Stock Market में investment करने से पहले इसके बारे में जितना ज्यादा से ज्यादा हो सके Research करें और सीखें।

ये भी पढ़ें:

What is Share market in Hindi Post “Conclusion”

मैं आशा करता हूं कि आपको शेयर मार्केट क्या है? (What is share market in Hindi) पोस्ट पसंद आई होगी। और आपको शेयर बाजार (Stock Market) के बारे में काफी चीजें पता चल गई होगी.

अगर आप शेयर मार्केट को आसान भाषा में हिंदी में सीखना चाहते हैं तो इस blog की और भी पोस्ट पढ़ सकते हैं। अगर आपका कोई सवाल है तो हमसे कमेंट में पूछ सकते हैं।

Deepak SenAbout Author
मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस ब्लॉग का संस्थापक हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

2 thoughts on “शेयर मार्केट क्या है और कैसे सीखें? | What is Share Market in Hindi?”

Leave a Comment