Bank Nifty Option Chain कैसे देखें, एनालिसिस कैसे करें?

What is Bank nifty option chain chart, How to see Bank nifty nifty option chain live, how to check NSE bank nifty option chain data, historical data, call and put option price etc.

What is Bank nifty option chain, How do I Learn banknifty option chain

बैंक निफ्टी में ट्रेडिंग करने से पहले Bank nifty option chain analysis करना बहुत जरूरी होता है। बैंकनिफ्टी ऑप्शन चेन देखने से आपको पता चलता है कि;

  • बैंक निफ्टी चार्ट पर सपोर्ट और रेजिस्टेंस लेवल कहां पर हैं,
  • Banknifty चार्ट पर कौन सा पैटर्न बन रहा है,
  • बाजार का ट्रेंड किस ओर है,
  • आज मार्केट में Option buyers ज्यादा है या option sellers,
  • बैंकनिफ्टी में ट्रेडिंग वॉल्यूम कितना है आदि।

लेकिन अगर आप Bank nifty option chain का analysis किये बिना बैंक निफ्टी में ऑप्शन ट्रेडिंग करते हैं तो आपके loss होने की संभावना बढ़ जाती है

क्योंकि जब आप ऑप्शन चैन डाटा पर ध्यान नहीं देते हैं तो आपको मार्केट की volatility का कोई अंदाजा नहीं होता और इसी कारण banknifty में call या put ऑप्शन खरीदने पर आपको ज्यादातर बार नुकसान झेलना पड़ता है इसीलिए बैंक निफ्टी में ट्रेड करने से पहले NSE पर जाकर Bank nifty option chain डेटा देखना बहुत जरूरी है।

इसलिए आज मैं आपको बताऊंगा कि–

  • Bank nifty option chain कैसे देखी जाती है,
  • बैंकनिफ्टी ऑप्शन चेन एनालिसिस कैसे करें,
  • Banknifty option chain data देखकर बैंक निफ्टी में ट्रेडिंग कैसे करते हैं,
  • बैंकनिफ्टी ऑप्शन चैन कैसे काम करती है,
  • बैंकनिफ्टी ऑप्शन चैन को कैसे समझें,
  • और बैंकनिफ्टी ऑप्शन चेन के द्वारा ट्रेडिंग करके पैसे कैसे कमाते हैं?

तो अगर आप भी Banknifty में ट्रेडिंग करते हैं और banknifty option chain के द्वारा daily profit कमाना चाहते हैं तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ना क्योंकि आज मैं आपको इस आर्टिकल में ऊपर दिए गए सभी सवालों का जवाब आसान भाषा में देने वाला हूं। तो चलिए सबसे पहले जानते हैं कि–

इस पोस्ट में आप जानेंगे-

बैंक निफ्टी ऑप्शन चेन क्या है (What is option chain in banknifty)

बैंक निफ्टी ऑप्शन चैन एक ऐसा चार्ट या टूल है जो आपको बैंक निफ्टी में ट्रेडिंग करने में काफी मदद करता है। Banknifty option chain आपको काफी सारे जरूरी डेटा बताती है जैसे; मार्केट वोलैटिलिटी, PCR डेटा (पुट कॉल रेश्यो), buyers और sellers का वॉल्यूम और strike price आदि।

दूसरे शब्दों में, बैंक निफ्टी ऑप्शन चेन Banknifty के अलग-अलग स्ट्राइक प्राइस पर call और put ऑप्शन का डेटा दिखाती है।

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें

और इसी डेटा की मदद से आप अपनी trading accuracy को काफी हद तक बढ़ा सकते हैं यही कारण है कि बड़े-बड़े प्रोफेशनल बैंक निफ्टी ट्रेडर्स भी टेक्निकल एनालिसिस के साथ Banknifty option chain data के द्वारा ही ट्रेडिंग करना पसंद करते हैं।

बैंक निफ्टी ऑप्शन चेन लाइव कैसे देखें (How to see bank nifty option chain live)

  • बैंक निफ्टी ऑप्शन चेन का लाइव डाटा देखने के लिए सबसे पहले आपको NSE की वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके लिए आपको सबसे पहले गूगल पर ‘Banknifty option chain‘ लिखकर सर्च करना होगा।
  • सबसे पहले लिंक पर क्लिक करके आप NSE की ऑफिशियल वेबसाइट पर पहुंच जाएंगे जहां आप को बैंक निफ्टी का लाइव ऑप्शन चैन डेटा दिख जाएगा।
  • इस पेज पर आपको Live market का डाटा दिखाई देगा जिसमें banknifty के अलग-अलग Strike Price, Open Interest, Volume, Bid Ask price और इसके अलावा अन्य कई सारे important डेटा दिखाई देते हैं।

तो इस प्रकार आप Banknifty Option Chain NSE की वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं।

NSE के अलावा बैंक निफ्टी ऑप्शन चेन डेटा को आप अन्य ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म जैसे; Zerodha, Upstox, Groww या फिर Sensibull और Nifty Trader प्लेटफार्म के द्वारा भी Banknifty Option Chain Live देख सकते हैं.

लाइव डेटा के अलावा अगर आप Banknifty option chain का historical data देखना चाहते हैं तो वह भी इन trading platforms के द्वारा देख सकते हैं।

  • Historical data का मतलब है बैंक निफ्टी ने past में कैसा परफॉर्मेंस किया है उसका डेटा. Historical data देखने से आपको banknifty के overall trend के बारे में पता चलता है जिससे आपको banknifty का chart analysis करने में काफी मदद मिलती है।

अब सवाल आता है कि बैंक निफ्टी ऑप्शन चैन डेटा एनालिसिस कैसे करें? इसके लिए आपको सबसे पहले NSE Banknifty Option Chain के पेज पर लिखे अलग-अलग terms के बारे में पता होना चाहिए जैसे–

  • OI
  • CHNG IN OI
  • Volume
  • IV
  • LTP
  • CHNG
  • BID QTY
  • BID PRICE
  • ASK PRICE
  • ASK QTY

ये 10 कॉलम आपको Call और Put दोनों तरफ दिखाई देते हैं और बीच में स्ट्राइक प्राइस वाला कॉलम होता है मतलब बैंकनिफ्टी ऑप्शन चैन डेटा में Total 10+10+1 = 21 कॉलम होते हैं।

बैंक निफ्टी ऑप्शन चेन को कैसे समझें (How do I learn Banknifty option chain)

बैंक निफ्टी ऑप्शन चैन को समझने के लिए आपको सबसे पहले ऊपर दिए गए terms जैसे– स्ट्राइक प्राइस, ओपन इंटरेस्ट, वॉल्यूम, LTP, Bid Ask price, IV (Implied volatility) आदि के बारे में जानना होगा।

जब आप NSE Banknifty option chain देखते हैं तो आपको बहुत सारी अलग-अलग terms का मतलब पता होना चाहिए.

क्योंकि जब तक आप को इन सभी terms के बारे में अच्छे से पता नहीं होगा तब तक आप बैंकनिफ्टी ऑप्शन चैन के द्वारा ट्रेडिंग करके Profit नहीं कमा सकते तो आइये एक-एक करके option chain की इन सभी basic terms के बारे में जान लेते हैं–

Banknifty option chain में Strike Price क्या होता है?

  • Strike Price का कॉलम पूरी बैंकनिफ्टी ऑप्शन चैन में सबसे बीच में होता है जिसमें एक खड़े कॉलम में banknifty के past और future स्ट्राइक प्राइस लिखे रहते हैं और बीच में करेंट स्ट्राइक प्राइस लिखा रहता है।
  • यह कॉलम सबसे महत्वपूर्ण होता है क्योंकि पूरी Banknifty option chain का डेटा स्ट्राइक प्राइस से ही जुड़ा होता है।
  • मतलब प्रत्येक स्ट्राइक प्राइस की row में कॉल और पुट दोनों साइड open interest, implied volatility, bid qty, ask qty, LTP आदि का डाटा अलग-अलग होता है जो market hours के समय यानी बाजार खुले होने पर लगातार बदलता रहता है।
  • Banknifty option chain में जो current strike price चल रहा होता है उसे ATM यानी At The Money ऑप्शन कहा जाता है,
  • ATM से कम प्राइस वाले सभी कॉल और पुट ऑप्शंस को ITM (In The Money) कहते हैं
  • और ATM से अधिक प्राइस वाले सभी कॉल और पुट ऑप्शंस को OTM (Out The Money) ऑप्शन्स कहते हैं।

Banknifty option chain में Open Interest क्या होता है?

  • बैंक निफ्टी ऑप्शन चैन में ओपन इंटरेस्ट (OI) यह दिखाता है कि कॉल या पुट ऑप्शन में लोगों ने कितने पोजीशन बनाए हुए हैं।
  • याद रखिये– ओपन इंटरेस्ट का डेटा हमेशा लॉट में लिखा रहता है और बैंक निफ्टी में एक lot का साइज 25 होता है यानी बैंकनिफ्टी में ट्रेडिंग करने के लिए मिनिमम 1 lot यानी 25 यूनिट खरीदना पड़ता है।
  • उदाहरण के लिए– अगर किसी स्ट्राइक प्राइस के सामने 20 लिखा है तो इसका मतलब यह है तो इसका मतलब है कि 20 लॉट यानी 20×25 = 500 जिसका मतलब यह है कि उस स्ट्राइक के कॉल या पुट ऑप्शन में टोटल 500 पोजीशन बनी हुई है अब यह निर्भर करता है कि वह कॉल तरफ है या पुट तरफ।
  • अगर call side का ओपन इंटरेस्ट ज्यादा है तो समझ जाइए कि मार्केट में buyers ज्यादा हैं और अगर put side का ओपन इंटरेस्ट ज्यादा है तो समझ जाइए कि मार्केट में sellers ज्यादा हैं।

Banknifty option chain में Change in OI क्या है?

  • यह भी लॉट में लिखा रहता है। CHNG IN OI का मतलब है कि कितनी positions में बदलाव हुआ है.
  • अगर call तरफ से 1000 positions घटकर put तरफ चली जाती है तो call तरफ CHNG IN OI में –1000 दिखाई देगा और Put तरफ इसमें 1000 दिखाई देगा।

मैं आपको दोबारा बता दूं कि प्रत्येक स्ट्राइक प्राइस के लिए यह डेटा अलग होगा।

अब आपने strike price और open interest और change in open interest को समझ लिया, अब समझते हैं वॉल्यूम, इंप्लायड वोलैटिलिटी (IV) और अन्य टर्म्स के बारे में.

Banknifty option chain में Volume क्या है?

  • वॉल्यूम का मतलब होता है कि कितने लोगों ने ओपन इंटरेस्ट में अपनी positions बना रखी हैं।
  • जिस स्ट्राइक प्राइस पर वॉल्यूम सबसे ज्यादा है उस पर लोग सबसे अधिक ट्रेड करना चाहते हैं।
  • अगर किसी स्ट्राइक प्राइस पर कॉल साइड volume ज्यादा है और पुट साइड बहुत कम है तो इसका सीधा मतलब है कि लोग call option पर ज्यादा bid कर रहे हैं मतलब कॉल ऑप्शन ज्यादा खरीद रहे हैं।

Banknifty option chain में Implied Volatility (IV) क्या है?

  • Banknifty option chain में IV किसी call या put ऑप्शन की expected volatility को दर्शाती है.
  • मतलब Implied volatility आपको बताती है कि किसी कॉल या पुट ऑप्शन में कितनी ज्यादा वोलैटिलिटी हो सकती है.
  • options की pricing में IV बहुत जरूरी फैक्टर होता है।
  • अगर मार्केट में ज्यादा IV यानी वोलैटिलिटी ज्यादा है तो ऑप्शन के प्राइस मंहगे हो जाते हैं।
  • अगर 20 से नीचे IV है तो समझ लीजिए कि options fairly valued हैं, 30 से ऊपर जाने पर overpriced हो जाते है जहां options के premium बहुत बढ़ जाते हैं।
  • आपको बता दें कि IV को ATM पर देखना सही होता है क्योंकि इससे आपको अधिक accurate डेटा मिलता है।
  • अधिकतर 12 में से 10 महीनों में IV 20 से नीचे ही होती है।
  • यह बाजार में कोई बड़ा नेगेटिव या पॉजिटिव एजेंट होने पर बढ़ या घट बहुत जाती है क्योंकि उस समय market में uncertainity बहुत ज्यादा होती है।

Banknifty option chain में LTP और CHNG क्या है?

  • यह किसी particular स्ट्राइक प्राइस का Last Traded Price होता है मतलब यह बताता है कि किसी स्ट्राइक प्राइस का प्रीमियम लास्ट बार कितने प्राइस पर ट्रेड हुआ था।
  • LTP हर सेकंड चेंज होता रहता है क्योंकि options के buy या sell होने से प्रीमियम की कीमत भी ऊपर नीचे होती रहती है।
  • CHNG वाला कॉलम LTP में होने वाले बदलाव को दर्शाता है।

Banknifty option chain में BID QTY और ASK QTY क्या है?

  • Bid Qty से हमें पता चलता है कि लोगों ने इस bid quantity के सामने जो strike price है उसके लिए कितने bid place की है मतलब कितने BID Order लगाए गए हैं।
  • Ask Qty से हमें पता चलता है कि लोगों ने उस strike price के लिए कितने Ask order place किये है।

Banknifty option chain में BID Price और ASK Price क्या है?

  • Bid price का मतलब होता है कि buyer किस प्राइस पर खरीदने को तैयार है.
  • Ask price का मतलब होता है कि seller किस प्राइस पर बेचने को तैयार है.

ऊपर आपने जितने भी कॉलम के बारे में समझा इन्हीं सब कॉलम के डाटा से मिलकर Banknifty option chain बनती है।

इन्हें देखकर कुछ लोगों का doubt होता है कि आखिर banknifty option chain में कुछ numbers पीले कलर में होने की क्या वजह है?

Bank nifty option chain live

आपको बता दूं कि जो numbers आपको पीले कलर में दिखते हैं वह सभी आईटीएम (ITM) स्ट्राइक प्राइस के डेटा होते हैं जबकि सफेद कलर वाले सभी ओटीएम (OTM) स्ट्राइक प्राइस के numbers होते हैं।

Call की तरफ ITM के numbers ऊपर की ओर होते हैं जबकि Put साइड ITM के numbers नीचे की ओर होते हैं।

आशा करता हूं अब आप धीरे-धीरे बैंकनिफ्टी ऑप्शन चैन को समझ पा रहे होंगे कि आखिर यह क्या दर्शाती है और बैंकनिफ्टी ऑप्शन चैन डाटा देखकर आपको क्या पता चलता है।

अब तक आपको इतना तो पता चल गया होगा कि ऑप्शन चैन का डेटा Banknifty में ट्रेडिंग करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है।

अब चलिए जानते हैं कि–

बैंक निफ्टी ऑप्शन चेन एनालिसिस कैसे करें (How to do Banknifty option chain analysis in hindi)

बैंक निफ्टी ऑप्शन चेन डाटा का एनालिसिस करने के लिए आपको ऑप्शन चेन के प्रत्येक डेटा का बारीकी से एनालिसिस करना होगा। ऑप्शन चैन का डाटा analyse करने के लिए मैंने नीचे कुछ जरूरी points बताए हैं जिन पर आपको अवश्य गौर करनी चाहिए।

मैं आपको पहले ही बता दूं कि नीचे दिए गए points आपको थोड़े advance और complicated लग सकते हैं बैंक निफ्टी में प्रोफेशनल ट्रेडिंग करने के लिए इन्हें समझना बहुत जरूरी है आइये इनके बारे में जानते हैं–

  • देखो की चेंज इन ओपन इंटरेस्ट (CHNG IN OI) कॉल में ज्यादा है या पुट में.
  • देखो कि call की IV ज्यादा है या put की,
  • जिसकी IV ज्यादा है उसे buy करलो.
  • जिसकी IV कम है उस तरफ मत जाओ. अगर IV टूट रही है मतलब OPTIONS की selling हो रही है।
  • Change in OI देखो कि कॉल में ज्यादा चेंज हो रहा है कि पुट में, फिर दोनों का PCR (Put Call Ratio) निकालो, अगर 1 से ज्यादा है तो buy कर सकते हैं।
  • ध्यान रखिए आपको केवल कुछ ही strike का डेटा combine करके PCR निकालना है।
  • नजर रखो कि हर 5 मिनट में डेटा कितना चेंज हो रहा है।
  • PCR slope देखो, uptrend है तो call खरीदो और downtrend है तो put खरीदो।
  • कुछ बैंकों में लिक्विडिटी काफी अच्छी होती है तो जिन banknifty के जिन banking stocks में लिक्विडिटी ज्यादा है उसमें बैंकनिफ्टी ऑप्शन चैन एनालिसिस बहुत अच्छे से काम करता है।

FAQ’s About NSE BankNifty Option Chain

Bank nifty option chain लाइव कैसे देखें?

Bank nifty option chain डेटा लाइव देखने के लिए आपको गूगल पर Bank nifty option chain लिखकर सर्च करना होगा। पहले लिंक पर क्लिक करके नेशनल स्टॉक एक्सचेंज यानी NSE की वेबसाइट पर जाकर आपको Live market में equity derivatives सेक्शन के अंदर Banknifty option chain दिख जाएगी।

बैंक निफ्टी ऑप्शन चैन कैसे चेक करें?

बैंक निफ्टी ऑप्शन चैन को चेक करने के लिए आप NSE के अलावा अन्य ब्रोकिंग एप्स जैसे; जेरोधा, Upstox या Nifty trader वेबसाइट के जरिए भी बैंकनिफ्टी ऑप्शन चेन को चेक कर सकते हैं।

बैंक निफ्टी ऑप्शन चैन देखने के लिए कौन सी वेबसाइट सबसे अच्छी है?

NSE ऑफिशियल वेबसाइट bank nifty option chain देखने के लिए सबसे अच्छी मानी जाती है क्योंकि इस पर आपको सबसे लेटेस्ट डाटा दिखाई देता है। इसके अलावा आप Groww, Sensibull या Nifty trader जैसी वेबसाइट के द्वारा भी बैंक निफ्टी ऑप्शन चैन देख सकते हैं।

Bank Nifty Option Chain ‘Conclusion’

इस लेख (Bank Nifty Option chain) में मैंने आपको बताया है कि Banknifty option chain क्या होती है, बैंकनिफ्टी ऑप्शन चेन कैसे काम करती है, इसे कैसे समझें. साथ ही मैंने आपको NSE Bank Nifty Option chain की सभी बेसिक टर्म्स जैसे– स्ट्राइक प्राइस, ओपन इंटरेस्ट, वॉल्यूम, IV, LTP आदि के बारे में भी बताया है।

अगर आप ऑप्शन ट्रेडिंग में beginner हैं तो इस पोस्ट से आपको बहुत कुछ सीखने को मिला होगा।

मैंने आपको इस आर्टिकल के जरिए bank nifty option chain के बारे में आसान भाषा में समझाने का पूरा प्रयास किया है। आशा करता आपको इस पोस्ट में दी गई जानकारी उपयोगी लगी होगी.

अगर आपका ऑप्शन चैन से संबंधित कोई सवाल है तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें।

4.6/5 - (10 votes)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️