एक दिन पहले ही कैसे पता करें की किस शेयर का price ऊपर जा सकता है?

जानिये एक दिन पहले ही कैसे पता करें किस शेयर का प्राइस बढ़ेगा या गिरेगा, शेयर कब ऊपर जाएगा, अगले दिन कौन सा शेयर बढ़ने वाला है और कल शेयर बाजार का क्या हाल रहेगा?

पिछली पोस्ट में मैंने आपको बताया था कि शेयर बाजार की भविष्यवाणी करना संभव है या नहीं, आज का टॉपिक भी थोड़ा-बहुत इसी से मिलता-जुलता है.

तो आज हम बात करने वाले हैं कि एक दिन पहले ही कैसे पता करें कि किस शेयर का प्राइस ऊपर जा सकता है और किस शेयर में गिरावट होने वाली है?

जी हां, आप कुछ हद तक अगले दिन या कल शेयर बाजार खुलते ही कौन सा शेयर ऊपर जाएगा या नीचे इसका सही-सही अंदाजा आप लगा सकते हैं. इसके लिए आपको कुछ चीजों पर नजर रखनी होगी जिसके बारे में हम आज आपको बताएंगे.

इस पोस्ट में आप जानेंगे-

एक दिन पहले ही कैसे पता करें की किस शेयर का price ऊपर जा सकता है?

कैसे पता करें कल कौन सा स्टॉक ऊपर जाएगा?
how to know which share will go up tomorrow?

“किसी भी शेयर या स्टॉक का भाव (price) ऊपर जाएगा या नीचे, इसका पता लगाने के लिए आप टेक्निकल एनालिसिस के अलग-अलग मेथड्स जैसे कि; कैंडलेस्टिक चार्ट पेटर्न्स, ट्रेडिंग टर्मिनल, मूविंग एवरेज, सपोर्ट रेजिस्टेंस और अलग-अलग इंडिकेटर्स का उपयोग करके कोई शेयर बढ़ेगा या घटेगा इसका पता लगाया जा सकता है।”

Kaise pata kare Share upar jayega ya niche

आपने शेयर बाजार के कुछ एक्सपर्ट लोगों को देखा होगा कि वह 1 दिन पहले ही भारतीय शेयर बाजार ऊपर जाएगा या नीचे, अगले दिन शेयर मार्केट में तेजी रहेगी या मंंदी और कल शेयर बाजार का क्या हाल रहेगा? इसकी सही-सही जानकारी दे देते हैं

और जब अगले दिन बाजार खुलता है तो उनकी जानकारी अधिकतर सही निकलती है।

लेकिन ऐसा कैसे हो पाता है और आप यह कैसे कर सकते हैं?

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें

देखिए मैं आपको एक बात क्लियर कर दूं कि दुनिया में कोई भी 100% गारंटी के साथ नहीं बता सकता कि कल शेयर मार्केट ऊपर ही जाएगा या फिर नीचे ही जाएगा

आप कुछ पैरामीटर्स को ध्यान में रखते हुए केवल एक अनुमान लगा सकते हैं जोकि केवल कुछ हद तक अगले दिन शेयर मार्केट कैसा रहेगा इसकी परफॉर्मेंस का सटीक अंदाज दे सकता है।

स्टॉक मार्केट में जो नए निवेशक या ट्रेडर हैं, उनकी सोच ऐसी होती है कि कहीं से भी कोई उन्हें सिर्फ यह बता दे कि उनके पोर्टफोलियो का कौन सा शेयर बढ़ने वाला है और वह तुरंत जाकर उसमें पैसा इन्वेस्ट कर दें और जल्दी अमीर बन जाए।

लेकिन ऐसे लोग जो सोचते हैं उनके साथ उसका उल्टा होता है मतलब उनका पैसा डूब जाता है।

तो फिर आपको क्या करना चाहिए? अन्य अनुभवी शेयर मार्केट एक्सपर्ट की तरह आप एक दिन पहले ही कैसे पता करेंगे कि किस शेयर का प्राइस ऊपर जा सकता है और किस शेयर में गिरावट होने वाली है?

आइए कुछ पॉइंट के माध्यम से जानते हैं कि कल शेयर बाजार बढ़ेगा या गिरेगा, आप 1 दिन पहले कैसे पता कर सकते हैं–

How to know which share will go up tomorrow?

नीचे हमने कुछ तरीके बताए हैं जिनके द्वारा आप predict कर सकते हैं कि कल मार्केट खुलते ही कौन सा स्टॉक बढ़ेगा या गिरेगा–

1. अमेरिकन शेयर बाजार पर नजर रखें
2.ग्लोबल मार्केट चेक करें
3.भारतीय कंपनियों के ADR चेक करें
4.NSE से स्टॉक की डिलीवरी पोजीशन चेक करें
5.Gift Nifty के द्वारा प्रेडिक्शन करें
6.कैंडलस्टिक पेटर्न देखकर predict करें
7.सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस से जानिए शेयर बढ़ेगा या गिरेगा
8.ओपन इंटरेस्ट डेटा से पता करें स्टॉक ऊपर जाएगा या नीचे

चलिए अब इन सभी तरीकों के बारे में एक-एक करके विस्तार से जान लेते हैं–

1. अमेरिकन शेयर बाजार पर नजर रखें

जैसा कि आप जानते हैं कि अमेरिका की इकॉनमी और अमेरिकन स्टॉक मार्केट दुनिया में सबसे मजबूत और बड़ा है. तो जब अमेरिकन शेयर बाजार पर कोई संकट आता है या फिर गिरावट होती है तो पूरी दुनिया का बाजार हिल जाता है जिसमें भारतीय शेयर बाजार भी शामिल है।

ठीक इसी प्रकार जब अमेरिकन बाजार ऊपर जाता है तो इंडियन स्टॉक मार्केट में भी तेजी देखी जाती है।

ऐसा अक्सर देखा गया है कि अगर अमेरिकन शेयर मार्केट तेजी (gap up opening) के साथ खुलता है तो इंडियन स्टॉक मार्केट भी तेजी के साथ खुलता है, इसी प्रकार जब अमेरिकन बाजार में गिरावट का माहौल बनता है तो भारतीय शेयर बाजार पर भी इसका असर दिखता है।

अब यह कोई निश्चित नियम नहीं है लेकिन आप नोटिस करें तो 10 में से 8 बार ऐसा ही होता है।

अमेरिकन बाजार पर नजर रखने का सबसे अच्छा माध्यम है ‘Dow jones

how to know share price will increase or decrease?

  • ‘Dow jones इंडस्ट्रियल एवरेज’ अमेरिका की सबसे बड़ी कंपनियों का इंडेक्स है जो पूरे स्टॉक मार्केट का लगभग सही अनुमान दे देता है.

इसलिए आपको रोजाना Dow jones index पर नजर रखना चाहिए. आप अधिकतर बार देखेंगे कि जिस दिन Dow jones इंडेक्स ऊपर जाता है तो इंडियन शेयर मार्केट में निफ्टी और सेंसेक्स भी ऊपर जाते हैं

और जब Dow jones नीचे जाता है तो NIFTY और Sensex में भी गिरावट देखी जाती है।

Dow jones के अलावा आप S&P 500 पर भी नजर रख सकते हैं जोकि अमेरिकन कंपनियों का ही इंडेक्स है।

और अगर आप इंडियन आईटी सेक्टर की कंपनियों (TCS, Infosys, Wipro, Tech Mahindra) पर नजर रखना चाहते हैं तो NASDAQ को भी चेक करते रहना चाहिए.

  • जिस तरह इंडिया में बैंकनिफ़्टी भारत के सबसे बड़े बैंकों का इंडेक्स है उसी तरह NASDAQ अमेरिका की सबसे बड़ी टेक्नोलॉजी कंपनियों का इंडेक्स है.

यह तो बात हो गई स्टॉक इंडेक्स की, जो आपको एक अनुमान या संकेत दे देती है कि आज शेयर बाजार का भाव यानी निफ्टी या सेंसेक्स ऊपर जाएगा या नीचे. आगे हम पार्टिकुलर स्टॉक के बारे में भी बात करेंगे लेकिन उससे पहले आपको नीचे दिए गए जरूरी पॉइंट पता होना चाहिए जैसे कि―

  • अगर आप सिर्फ इसी बात को पकड़ लेते हैं कि यह strategy चलेगी ही चलेगी और हर बार जब Dow jones (DJI Index) ऊपर जायगा तो निफ़्टी सेंसेक्स भी ऊपर ही जाएगी… जबकि ऐसा कुछ नहीं है

ऐसा बहुत बार हुआ है अमेरिकन बाजार ऊपर गया हो और भारतीय बाजार में गिरावट देखी गई है।

इसीलिए जरूरी नहीं है कि आप सिर्फ इसी नियम को पकड़ कर बैठ जाएं, लेकिन हां 60 से 70% cases में भारतीय शेयर बाजार का परफारमेंस अमेरिकन बाजार की तरह ही होता है।

बढ़ते हैं दूसरे पॉइंट पर;

2. अन्य विदेशी बाजारों पर भी नजर रखें

इसके अलावा आपको अन्य देशों के शेयर बाजार (यूरोपीयन मार्केट) पर भी नजर रखनी चाहिए क्योंकि अधिकतर देखा गया है कि जब कोई बड़ी गिरावट होती है तो इसका असर दुनिया के सभी शेयर मार्केट पर देखा जाता है जैसा कि 2008 के फाइनेंसियल क्राइसिस और कोविड-19 संकट के समय हुआ था।

और इसी प्रकार जब दुनिया के सभी बाजारों में रिकवरी आती है तो इंडियन शेयर बाजार में भी रिकवरी होती है क्योंकि दुनिया की इकॉनमी आपस में एक दूसरे से जुड़ी हुई है।

इसका अगर एक उदाहरण देखें तो―

  • जब क्रूड ऑयल का प्राइस बढ़ता है तो कई देशों के शेयर बाजार डाउन हो जाते हैं जिसमें इंडियन स्टॉक मार्केट भी शामिल है क्योंकि इंडिया में 70% से 80% क्रूड आयल को विदेशों से इंपोर्ट किया जाता है।
  • और अगर आप इसकी हिस्ट्री को समझने बैठेंगे तो आपको पता चलेगा कि क्रूड ऑयल एक ऐसी कमोडिटी है जो इंडिया की इकोनामी और शेयर बाजार पर बहुत गहरा असर डालती है.

जिसके बारे में हम कभी विस्तार से चर्चा करेंगे, अब अगला पॉइंट समझ लेते हैं―

3. भारतीय शेयर बाजार की कंपनियों के ADR चेक करो

ADR का मतलब है American Depositary Receipt. आपने देखा होगा कि इंडिया के ही कुछ स्टॉक अमेरिकन स्टॉक एक्सचेंज (NYSE) पर भी लिस्टेड होते हैं जैसे― Infosys, Wipro, HDFC Bank, Pfizer, Dr. Reddy आदि।

और आपको यह भी पता होगा कि इंडियन स्टॉक मार्केट और अमेरिकन स्टॉक मार्केट के खुलने और बंद होने का टाइम अलग-अलग होता है। जिसका आप फायदा उठा सकते हैं.

इंडिया की लिस्टेड कंपनियों के जो शेयर विदेशी बाजारों के स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड होते हैं वह लगभग वैसा ही परफॉर्म करते हैं जैसा वह इंडिया में करते हैं।

  • मान लो कल आपको विप्रो का शेयर खरीदना है, तो आप अमेरिकन बाजार खुलते ही न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज (NYSE) पर लिस्टेड Wipro के शेयर की मूवमेंट को ट्रैक करें.

अगर शेयर ऊपर जाता है तो इंडिया में भी जब शेयर मार्केट खुलेगा तो वह ऊपर ही जाएगा ठीक ऐसा ही गिरावट के केस में होगा।

वैसे ये तकनीक निवेशकों से ज्यादा ट्रेडर लोगों के काम आती है क्योंकि अगर स्टॉक पूरे दिन डाउन ही रहता है और ऊपर नहीं जाता है तो आपको उसमें पोजीशन नहीं बनानी चाहिए.

लेकिन अगर स्टॉक अच्छा खासा ऊपर जाता है तो आप बाजार खुलते ही उस स्टॉक को खरीद लीजिए, क्योंकि 60-70% चांसेस होंगे कि आप प्रॉफिट ही कमाएंगे।

ये भी पढ़े

अधिकतर इंट्राडे ट्रेडर्स और F&O (फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस) में ट्रेडिंग करने वाले लोग इससे फायदा उठा सकते हैं। क्योंकि वह अमेरिकन बाजार बढ़ने पर प्रॉफिट कमाते हैं और गिरावट के कारण शॉर्ट सेलिंग (short selling) करके भी पैसा कमाते हैं।

मैं दोबारा आपसे कहता हूं कि 10 में से 10 बार यह strategy काम नहीं करती है क्योंकि अगर हंड्रेड परसेंट ऐसा ही होता तब तो फिर सभी लोग सिर्फ यही करने लगते इसलिए इसमें भी थोड़ा रिस्क जरूर है लेकिन फिर भी लगभग 60-70% तो यह तरीका काम करता ही है।

अब आपको देखना है कि आखिर कौन कौन सी भारतीय कंपनियों के ADR यानी डुप्लीकेट शेयर दूसरे देशों के स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड है।

इसके लिए आपको सिर्फ India ADR लिखकर गूगल पर सर्च करना है और फिर आपको पहली वेबसाइट को खोलना है, आपको indian ADR की लिस्ट दिख जाएगी (स्टॉक के सामने यह भी बताया होता है कि वह कितने (%) ऊपर या नीचे गया है)

ADR देखकर पता करें शेयर की कीमत बढ़ेगी या घटेगी?

4. NSE से Stock की Delivery Position चेक करें

यह पॉइंट बहुत महत्वपूर्ण है। अगर आप एक दिन पहले ही पता करना चाहते हैं कि कौन सा स्टॉक बढ़ेगा तो आपको NSE यानी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर Delivery positions को चेक करना है.

  • Delivery positions देखने से आपको पता चलता है कि स्टॉक में कितने प्रतिशत (%) quantity trade हुई है.
  • अगर quantity बहुत ज्यादा है तो इसका मतलब है कि किसी इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर ने माल खरीदा है।

इसका मतलब हो सकता है कि कल उस शेयर के बढ़ने का अनुमान हो।

अगर किसी स्टॉक में 1 दिन पहले डिलीवरी ज्यादा 40 से 50% देखने को मिलती है तो इसका मतलब है कि कल वह शेयर gap up opening के साथ खुलेगा यानी कि ऊपर जाने के संकेत हैं।

इसीलिए आप जिस स्टॉक को खरीदना चाहते हैं उसकी डिलीवरी पोजीशन एक बार जरूर चेक करें।

डिलीवरी पोजीशन कैसे चेक करें?

  1. डिलीवरी पोजीशन चेक करने के लिए सबसे पहले आपको NSE की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना है।
  2. अब आपको सर्च बाहर में उस स्टॉक का नाम लिखकर सर्च करना है जिसकी डिलीवरी पोजीशन के बारे में आप जानना चाहते हैं. Example– ‘Reliance Industries’
  3. अगला पेज खुलेगा जिसमें नीचे की तरफ scroll करने पर आपको उस stock की traded quantity और delivery position के बारे में पता चल जाएगा.

डिलीवरी पोजीशन देखकर पता करें किसका शेयर बढ़ेगा

अगर (% of Deliverable Quantity to Traded Quantity) 50% से ज्यादा है तो इसका मतलब है कि कल बाजार खुलते ही यह स्टॉक तेजी दिखा सकता है।

Related:

5. GIFT Nifty देखें

Gift Nifty का नाम पहले सिंगापुर निफ़्टी (SGX NIFTY) हुआ करता था क्योंकि निफ्टी के सभी डेरिवेटिव्स यानी फ्यूचर कांट्रैक्ट सिंगापुर स्टॉक एक्सचेंज पर ट्रेड होते थे और पिछले कई सालों से लोग SGX nifty देखकर ही यह पता लगाते थे कि आज हमारा निफ्टी कैसे खुलेगा क्योंकि सिंगापुर निफ़्टी हमसे पहले खुल जाता था.

लेकिन जुलाई 2023 में SGX nifty पर ट्रेडिंग बंद कर दी गई और इसके 750 करोड डॉलर के future contracts को NSE IX यानी NSE इंटरनेशनल एक्सचेंज पर शिफ्ट कर दिया गया.

  • Gift Nifty का पहला सेशन सुबह 6:30 बजे खुल जाता है जिससे आपको पता चलता है कि आज हमारा Nifty कैसा रहेगा, मतलब ऊपर जाएगा या नीचे इसका थोड़ा बहुत prediction आपको पहले ही पता लग जाता है.

अगर आप सोच रहे हैं कि हम कैसे सुबह मार्केट खुलने से पहले गिफ्ट निफ्टी को चेक कर सकते हैं तो इसके लिए आपको NSE IX की वेबसाइट (https://www.nseix.com) पर जाना होगा, इस वेबसाइट पर आपको गिफ्ट निफ्टी का सारा डेटा दिख जाएगा और बहुत चांसेस है कि उसी के अनुसार हमारा मार्केट भी खुलेगा.

6. कैंडलस्टिक पैटर्न और टेक्निकल एनालिसिस के द्वारा

कल कोई स्टॉक ऊपर (up) जाएगा या नीचे (down), यह पता करने के लिए चार्ट पर उसका कैंडलस्टिक पैटर्न देखना चाहिए. यह बुलिश (जो शेयर प्राइस ऊपर जाने का संकेत देता है) या बियरिश (शेयर प्राइस गिरने का संकेत देता है) दोनों में से कुछ भी हो सकता है।

  • अगर किसी stock के चार्ट पर आपको बुलिश कैंडलस्टिक पैटर्न (जैसे; हैमर, बुलिश हरामी, इंगल्फिंग, मारुबोज़ू, पियर्सिंग लाइन, ड्रैगनफ्लाई डोजी आदि) बनते हुए दिखते हैं तो शेयर प्राइस बढ़ सकता है.
  • ठीक इसकी विपरीत अगर बियरिश कैंडलस्टिक पैटर्न (जैसे; हैंगिंग मैन, शूटिंग स्टार, इवनिंग स्टार, बियरिश हरामी, ग्रवेस्टोन डोजी आदि) बनते हुए दिखते हैं तो शेयर प्राइस में गिरावट हो सकती है।

आपको बता दें कि जब आप किसी स्टॉक की टेक्निकल एनालिसिस करते हैं तो उसके प्राइस चार्ट पर आपको कई प्रकार की (लाल और हरी) कैंडलस्टिक दिखती है जो शेयर की कीमत बढ़ने या गिरने का अनुमान (Prediction) बताती हैं।

अगर आपने इन सभी चार्ट पेटर्न को अच्छे से पढ़ना सीख लिया तो मुझे पूरी उम्मीद है कि आप भी कोई स्टॉक अगले दिन ऊपर जाएगा यह नीचे इसका आसानी से पता लगा लेंगे.

7. स्टॉक के सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस पर नजर रखें

सपोर्ट और रेजिस्टेंस से पता करें कि कल कौन सा स्टॉक ऊपर जाएगा

किसी शेयर की कीमत घटेगी या बढ़ेगी, इसका पता चार्ट पर उसके सपोर्ट और रेजिस्टेंस लेवल देखकर लगाया जा सकता है.

  • सपोर्ट वह लेवल होता है जहां से प्राइस बढ़ना यानी ऊपर जाना शुरू होता है
  • और रेजिस्टेंस वह एरिया होता है जहां से प्राइस गिरना शुरू होता है।

मान लीजिए कोई XYZ शेयर है जिसका सपोर्ट लेवल 240 रुपये और रेजिस्टेंस 260 रुपये पर है मतलब जब वह शेयर इन levels को टच करता है तो प्राइस बार-बार वहां से रिवर्स करता है.

और अभी इस समय इसी XYZ स्टॉक का प्राइस 250 रुपये पर ट्रेड कर रहा है.

अब आपको देखना यह है कि अगर इस शेयर का भाव बढ़ता है और 260 Rs (रेजिस्टेंस लेवल) को टच करके नीचे आने लगता है मतलब प्राइस रिवर्स करने लगता है तो आप इस स्टॉक को शॉर्ट सेल कर सकते हैं.👍

लेकिन ठीक इसका उल्टा अगर शेयर प्राइस बढ़ने की बजाय गिरने लगता है और गिरते- गिरते 240 Rs पर पहुंच जाता है और क्योंकि यह सपोर्ट लेवल है इसीलिए यहां से प्राइस रिवर्स होने के चांसेस बहुत ज्यादा है,

तो मान लीजिए अगर यहां से शेयर प्राइस रिवर्स होकर वापस ऊपर जाने लगता है तो जैसे ही प्राइस ऊपर जाने लगे तब आप इस शेयर को खरीद सकते हैं.👍

तो इस प्रकार आप सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस लेवल का पता लगाकर किसी स्टॉक के ऊपर बढ़ने या गिरने से प्रॉफिट कमा सकते हैं.

आपको बता दें कि कई बार ऐसा होता है कि शेयर प्राइस सपोर्ट और रेजिस्टेंस लेवल से रिवर्स होने की बजाय यानी वापस लौटने की बजाय इस दिशा में चला जाता है मतलब सपोर्ट या रेजिस्टेंस लेवल को तोड़ देता है यानी ब्रेकआउट कर देता है

और यह आपके लिए उस शेयर में एंट्री करने का एक अच्छा मौका होता है क्योंकि जब भी कोई सपोर्ट या रेजिस्टेंस लेवल टूटता है तो उस तरफ बहुत बड़ा move आता है जो आपको बहुत बड़ा प्रॉफिट दिला सकता है.

इसीलिए आपको चार्ट पर सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस ड्रा करना आना चाहिए और उनके द्वारा कैसे ट्रेड करते हैं इसके बारे में पता होना चाहिए.

8. ऑप्शन चेन में ओपन इंटरेस्ट (OI) डेटा देखकर

Open interest data se pata kare stock up jayega ya down

अगर आप शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करते हैं और अभी तक आपको ओपन इंटरेस्ट यानी OI data के बारे में नहीं पता है तो आप बहुत जरूरी डेटा मिस कर रहे हैं.

जी हां.. ओपन इंटरेस्ट का डाटा आपको बताता है कि आज के दिन बाजार में कितने buyers और sellers हैं.

यह डेटा आपको बताता है कि कितने लोगों ने buying side और कितने लोगों ने selling side अपनी पोजीशंस बना रखी हैं।

मतलब मान लो अगर आज मार्केट में buyers बहुत ज्यादा (Example: 100) हैं और sellers काफी कम (Example: 20) हैं तो इसका मतलब है कि आज बाजार में हमें तेजी देखने को मिल सकती है।

और बहुत संभावना है कि Nifty 50 के stocks आज एक अच्छी खासी रैली दिखा सकते हैं मतलब ऊपर जा सकते हैं।

ठीक इसके विपरीत अगर आज OI डेटा नेगेटिव है मतलब बायर्स की बजाय सेलर्स ज्यादा है तो आज आपको मार्केट में गिरावट देखने को मिल सकती है।

तो यही कुछ तरीके थे जिनके द्वारा आप पता लगा सकते हैं कि आज कौन सा स्टॉक ऊपर जाएगा या फिर किस शेयर का प्राइस बढ़ने या गिरने वाला है. 


शेयर मार्केट सीखने के लिए बेस्ट कोर्स

दोस्तों अगर आप शेयर मार्केट को बेसिक से एडवांस तक हिंदी में सीखना चाहते हैं तो यहां पर मैं आपको इंडिया के ‘बेस्ट शेयर मार्केट कोर्स‘ के बारे में बताना चाहता हूं जिसके द्वारा आप share market को step by step learn कर सकते हैं। अगर आप शेयर मार्केट कोर्स खरीदने में interested हैं तो आपको एक बार इस कोर्स को जरूर लेना चाहिए 👍

👉मैं आपको बता दूं कि इस कोर्स में आपको beginner से advance level तक शेयर मार्केट को वीडियोस और PDF के माध्यम से बहुत ही सरल तरीके से प्रैक्टिकल उदाहरण के साथ समझाया गया है। आज तक जितने भी लोगों ने यह कोर्स लिया है सबने इसकी तारीफ ही की है।🙂

तो अगर आप भी शेयर मार्केट को शुरू से अंत तक सीखना चाहते हैं और शेयर मार्केट में इन्वेस्टिंग और ट्रेडिंग के द्वारा अमीर बनना चाहते हैं एक बार आपको यह शेयर मार्केट कोर्स जरूर खरीदना चाहिए.

जानिए इस कोर्स में आपको क्या-क्या सीखने को मिलेगा– Share Market Full Course in Hindi

नीचे दी गई इमेज पर क्लिक करके आप इस ‘बेस्ट शेयर मार्केट कोर्स’ को डायरेक्ट खरीद सकते हैं–

Share market course in hindi


चलिए अब इस टॉपिक से जुड़े हुए कुछ बेसिक सवाल और उनके जवाब जान लेते हैं–

FAQs (एक दिन पहले ही कैसे पता करें की किस शेयर का price ऊपर जा सकता है?)

कैसे पता लगाएं कि अगले दिन कौन सा शेयर बढ़ेगा?

अगले दिन कौन से शेयर का प्राइस पड़ेगा यह पता लगाने के लिए आपको अमेरिकन बाजार में लिस्टेड इंडियन कंपनी के शेयर (India ADR) पर नजर रखना होगा. इसके अलावा आप NSE की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर डिलीवरी पोजीशन चेक करके अगले दिन कौन सा शेयर बढ़ेगा यह पता लगा सकते हैं।

एक दिन पहले शेयर की कीमत का अनुमान कैसे लगाएं?

कोई शेयर कितना बढ़ेगा या घटेगा इसका पता 1 दिन पहले लगाने के लिए आपको इस पोस्ट में बताए गए सभी पॉइंट को ध्यान से पढ़ना होगा और फॉलो करना होगा।

अगले दिन किसी शेयर का भाव बढ़ेगा या घटेगा कैसे पता करें?

शेयर मार्केट में अगर आप अगले दिन किसी शेयर का भाव बढ़ेगा या गिरेगा, इसका अनुमान लगाना चाहते हैं तो आपको टेक्निकल एनालिसिस करना आना चाहिए। जिसमें आप शेयर के चार्ट पेटर्न, मूविंग एवरेज, सपोर्ट रेसिस्टेंट और अलग-अलग इंडिकेटर का इस्तेमाल करके शेयर के बढ़ने या घटने का अंदाजा लगा सकते हैं।

क्या सच में एक दिन पहले शेयर का प्राइस बढ़ेगा या घटेगा, इसका पता लगाया जा सकता है?

जैसा मैंने बताया था कि ऐसा कोई स्टॉक मार्केट में ऐसा कोई गारंटीड फार्मूला नहीं होता जिसको पाकर आप रातों-रात शेयर बाजार से करोड़पति बन जाए। लेकिन हां कुछ हद तक शेयर प्राइस बढ़ने का अनुमान लगाया जा सकता है।

ये भी पढ़ें―

Conclusion (एक दिन पहले कैसे पता करें कि कौन सा share बढ़ेगा)

इस पोस्ट में मैंने आपको बताया है कि ‘एक दिन पहले ही कैसे पता करें की किस शेयर का price ऊपर जा सकता है‘ आशा करता हूं यह जानकारी आपको उपयोगी लगी होगी।

आप मुझे कमेंट में बताइए कि अगले दिन शेयर का प्राइस बढ़ेगा या घटेगा, इसका पता करने के लिए आप कौन से तरीके का इस्तेमाल करते हैं?

अगर आपका इस पोस्ट से संबंधित कोई सवाल है तो मुझसे कमेंट बॉक्स में जरुर पूछें।

4.2/5 - (53 votes)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️