जानिए क्या है RBI की बड़ी खबर जो ला सकती है सोमवार को शेयर बाजार में जबरदस्त तेजी!

Hdfc bank share news today

दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं शेयर बाजार की एक एक पॉजिटिव न्यूज़ के बारे में जिसके चलते सोमवार को हमारे मार्केट में अच्छी खासी तेजी देखने को मिल सकती है और इसके पीछे है सिर्फ एक ही शेयर. चलिए अब जान लेते हैं इस खबर के बारे में थोड़ा डिटेल में–

क्यों आ सकती है सोमवार को शेयर बाजार में तेजी?

सोमवार 29 जनवरी को शेयर मार्केट में तेजी आने की संभावना काफी ज्यादा है क्योंकि बैंकनिफ्टी का सबसे बड़ा शेयर यानी एचडीएफसी बैंक जिसका ADR जोकि न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज (NYSE) पर लिस्टेड है उसमें 3% की जबरदस्त तेजी देखी गई

और जैसा कि आपको भी पता है कि जब अमेरिका के NYSE पर लिस्टेड HDFC Bank का ADR बढ़ता है तो हमारे मार्केट में भी एचडीएफसी बैंक का शेयर प्राइस बढ़ता है.

आपके लिए इस खबर के बारे में जानना इसलिए जरूरी है क्योंकि एचडीएफसी बैंक इतना बड़ा शेयर है जो अकेले पूरे बैंकनिफ्टी इंडेक्स को ऊपर नीचे कर सकता है क्योंकि इसका weightage बैंक निफ्टी में सबसे ज्यादा (30% से ज्यादा) है

और यह तो आप जानते ही होंगे कि Banknifty इंडेक्स बढ़ने या घटने का डायरेक्ट असर Nifty 50 पर पड़ता है क्योंकि फाइनेंशियल सेक्टर का योगदान निफ्टी 50 में सबसे ज्यादा है।

एक बात और आपको बता दूं कि अकेला HDFC बैंक, Nifty 50 में 13% से ज्यादा कंट्रीब्यूट करता है और इसीलिए इस शेयर में आई तेजी या मंदी का डायरेक्ट असर बैंकनिफ्टी और निफ्टी 50 दोनों main इंडेक्स पर हमें देखने को मिलता है।

तो अब आप सोच रहे होंगे कि इस ADR में आई तेजी का क्या कारण है और सोमवार के दिन एचडीएफसी बैंक का शेयर प्राइस क्यों बढ़ सकता है?

लेकिन इसके बारे में जानने से पहले कुछ लोग ऐसे होंगे जिन्हे ADR का मतलब भी नहीं पता होगा उन्हें बता दें कि–

शेयर मार्केट में ADR का मतलब होता है अमेरिकन डिपॉजिटरी रसीद। यह एक तरह का प्रमाणपत्र है जो किसी विदेशी कंपनी के शेयरों की एक निश्चित संख्या का प्रतिनिधित्व करता है। ADR को यूएस डिपॉजिटरी बैंक द्वारा जारी किया जाता है, जो विदेशी कंपनी के शेयर को कस्टडी में रखता है।

उदाहरण के लिए, यदि आप एचडीएफसी बैंक में निवेश करना चाहते हैं, लेकिन आप भारत में नहीं रहते हैं, तो आप न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड एचडीएफसी बैंक के ADR खरीद सकते हैं। यह आपको एचडीएफसी बैंक के शेयरों में हिस्सेदारी देगा, बिना आपको विदेशी एक्सचेंज में ट्रेड करने की आवश्यकता के।

ADR का हमारे बाजार में लिस्टेड एचडीएफसी बैंक के शेयर प्राइस पर कुछ असर पड़ सकता है। यदि एचडीएफसी बैंक के ADR की कीमत बढ़ती है, तो यह संकेत दे सकता है कि निवेशक एचडीएफसी बैंक के शेयरों में रुचि रख रहे हैं। इससे भारत में लिस्टेड एचडीएफसी बैंक के शेयर प्राइस भी बढ़ सकता है।

🔥 Whatsapp Group👉 अभी जुड़ें
🔥 Telegram Group👉 अभी जुड़ें

हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ADR और शेयर प्राइस के बीच सीधा संबंध नहीं है। ADR की कीमत कई कारकों से प्रभावित हो सकती है, जिसमें विदेशी बाजारों में आर्थिक स्थिति, राजनीतिक घटनाएं और ब्याज दरें शामिल हैं।

ADR निवेशकों के लिए एक सुविधाजनक तरीका है विदेशी कंपनियों में निवेश करने का। यह उन निवेशकों के लिए विशेष रूप से उपयोगी है जो विदेशी एक्सचेंज में ट्रेड करने में सहज नहीं हैं।

क्यों बढ़ सकता है HDFC Bank का शेयर?

HDFC Bank share news hindi: मार्केट बंद होने के बाद एक खबर सामने आई जिसमें RBI यानी रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने LIC को एचडीएफसी बैंक में 9.99% या फिर राउंड फिगर में कहे तो 10% हिस्सेदारी खरीदने के लिए allow कर दिया है.

आपको बता दें कि LIC कंपनी अपनी मर्जी से किसी भी शेयर में 10% हिस्सेदारी नहीं खरीद सकते हैं क्योंकि इसके लिए RBI परमिशन नहीं देती लेकिन अब देश के इतने बड़े बैंक यानी एचडीएफसी बैंक में हो रही इतनी ज्यादा गिरावट को देखते हुए RBI ने खुद LIC को एचडीएफसी बैंक में 10% तक हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए allow कर दिया है.

और इसी खबर का पॉजिटिव इंपैक्ट हमें सोमवार को एचडीएफसी बैंक के शेयर प्राइस पर दिख सकता है 🙂

क्योंकि एचडीएफसी बैंक में हिस्सेदारी बढ़ाना मतलब पूरे बाजार में ही एक अच्छी तेजी की लहर आना जैसा हमें देखने को मिल सकता है क्योंकि डायरेक्टली या इनडायरेक्टली जो डोमिनो इफेक्ट होता है वह एचडीएफसी बैंक हर सेक्टर की ओर ले ही जाता है चाहे वह गिरावट हो या तेजी.

क्या है पूरी खबर?

आपको बता दें कि इस खबर के अनुसार अगर LIC को अगर एचडीएफसी बैंक में 10% तक अपनी हिस्सेदारी बढ़ानी है तो उन्हें यह हिस्सेदारी 1 साल के अंदर-अंदर बढ़ानी होगी मतलब 24 जनवरी 2025 से पहले बढ़ानी होगी.

और एचडीएफसी बैंक ने भी अपनी तरफ से कह दिया है कि आप RBI के कहे अनुसार 10% तक हिस्सेदारी बढ़ा सकते हैं लेकिन इससे ज्यादा नहीं, क्योंकि किसी भी इतने बड़े शेयर में 10% की हिस्सेदारी बहुत बड़ी मानी जाती है।

अभी LIC की कितनी है HDFC Bank में हिस्सेदारी?

अभी already LIC, एचडीएफसी बैंक का सबसे बड़ा शेयरहोल्डर बना हुआ है क्योंकि एलआईसी के पास अभी एचडीएफसी बैंक में 5.19% हिस्सेदारी है।

दोस्तों किसी भी कंपनी में LIC जैसे बड़े-बड़े इंस्टीट्यूशंस (जिन्हें हम DII यानी डोमेस्टिक इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर बोलते हैं) इनकी कितनी हिस्सेदारी है यह आप screener वेबसाइट की मदद से ऑनलाइन बड़ी आसानी से चेक कर सकते हैं.

तो जब आप screener वेबसाइट पर जाकर एचडीएफसी बैंक का शेयर होल्डिंग पेटर्न चेक करते हैं तो उसमें प्रमोटर्स के नीचे DII वाले सेक्शन में आप देख सकते हैं कि एलआईसी की इसमें ऑलरेडी 5.19% हिस्सेदारी मौजूद है।

मतलब LIC पहले ही एचडीएफसी बैंक का सबसे बड़ा शहर होल्डर बनकर बैठा हुआ है।

तो अब आप खुद अनुमान लगा सकते हैं कि जब LIC इस हिस्सेदारी को 9.99% तक बढ़ाएगी तो HDFC Bank के शेयर प्राइस में कितनी बड़ी तेजी देखने को मिल सकती है।

कुल मिलाकर देखा जाए तो यह खबर पूरे बाजार के लिए एक बहुत ही पॉजिटिव खबर है जो शेयर बाजार में तेजी ला सकती है।

Disclaimer: यह आर्टिकल हमने केवल जानकारी देने के उद्देश्य से लिखा है. हमारा मकसद आपको किसी भी प्रकार की निवेश की सलाह देना नहीं है इसलिए किसी भी शेयर में निवेश करने से पहले अपने फाइनेंशियल एडवाइजर से सलाह जरूर लें.

ये भी पढ़ें

3.7/5 - (3 votes)

मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस वेबसाइट का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️