Tata Power Share News in Hindi― टाटा पावर की सभी लेटेस्ट खबरें हिंदी में पढ़िए.

Tata Power Share News In Hindi― Tata Power शेयर से जुड़ी सभी लेटेस्ट खबरें हिंदी में पढ़िए सिर्फ इसी पेज पर, Tata Power के समाचार और अपडेट, टाटा पावर शेयर की हर छोटी बड़ी खबर हिंदी में.

Tata Power Share News in Hindi 2022

Tata power share news in hindi, tata power latest news today in hindi, tata power current news in hindi

Tata power share latest news hindi:

  • 2020 में टाटा पावर का शेयर प्राइस ₹40 पर ट्रेड करता था और 2022 आते आते सिर्फ 2 सालों में ही ये शेयर 6 से 7 गुना रिटर्न दे चुका है।
  • टाटा पावर अगले 5 सालों में अपना रिन्यूएबल एनर्जी शेयर बढ़ाने के लिए 75000 करोड़ रुपये capex इन्वेस्ट करने वाले हैं।
  • कंपनी का कहना है कि अगले 5 सालों में यह अपना ग्रीन एनर्जी शेयर 60% बढ़ा देंगे.
  • अगले 5 सालों में यानी 2027 तक कंपनी 13.5 GW गीगावाट कैपेसिटी को बढाकर 30 GW करने वाली हैं।
  • टाटा पावर के पास इनके सोलर EPC बिजनेस का 13000 करोड़ का ऑर्डर बुक है जिसे पूरा करने के लिए कंपनी इसी साल 14000 करोड रुपए इन्वेस्ट करने वाली है।

टाटा पावर शेयर की सभी latest news हिंदी में हमारी टीम समय-समय पर इस पेज पर अपडेट करती रहती है। अगर कंपनी से संबंधित कोई ऑफिशियल अनाउंसमेंट की जाती है जो आपको सबसे पहले इसी पेज (Tata power share news hindi) पर अपडेट कर दिया जाएगा।

टाटा पावर कंपनी के बारे में जानकारी

टाटा पावर कंपनी Thermal energy, Green energy, solar power, wind और Renewable energy produce करने का काम करती है। इंडिया में यह पावर सेक्टर की नंबर वन प्राइवेट कंपनी है जो कि solar और renewable एनर्जी में मार्केट लीडर category में आता है।

इसके अलावा सुजलॉन एनर्जी जो विंड से इलेक्ट्रिसिटी बनाती है और Adani Green ग्रीन और क्लीन एनर्जी सेगमेंट में काम करती हैं और यह दोनों कंपनियां भी रिन्यूएबल एनर्जी को produce करती हैं।

अब बात करते हैं टाटा पावर की―

भविष्य को लेकर टाटा पावर कंपनी के बहुत बड़े-बड़े Plans हैं जिन्हें execute करके कंपनी अपने बिजनेस को Next लेवल पर ले जाना चाहती है। अगर कंपनी अपने प्लांस को पूरा करने में सफल होती है तो अगले 5 से 10 सालों में Tata power रिन्यूएबल, ग्रीन और क्लीन एनर्जी सेक्टर की नंबर 1 कंपनी बन जाएगी।

चूंकि यह टाटा ग्रुप की कंपनी है इसलिए इन्वेस्टर्स का मैनेजमेंट पर भरोसा और भी ज्यादा बढ़ जाता है।

लेकिन इस कंपनी को लेकर निवेशकों के बहुत सारे सवाल हैं जैसे―

  • क्या टाटा पावर शेयर future में मल्टीबैगर बन पायेगा?
  • क्या टाटा पावर अपने फ्यूचर Projects को पूरा कर पाएगी?
  • क्या इस कंपनी के अन्य कंपीटीटर्स जैसे― (Adani green) इससे आगे निकल जाएंगे?
  • क्या यह इंडिया के रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर की नंबर 1 कंपनी बन जाएगी?
  • कंपनी के भविष्य को लेकर क्या- क्या plans हैं?
  • और सबसे इंपोर्टेंट कंपनी उन सभी Futures Plans को कैसे पूरा करेगी?

इन सभी सवालों के जवाब विस्तार से जानते हैं―

Tata Power Latest News Today in Hindi

लोगों ने टाटा पावर शेयर में इसीलिए निवेश किया था क्योंकि कंपनी ने इन्वेस्टर्स को कुछ कमिटमेंट पूरा करने का वादा किया था जिससे इसका शेयर प्राइस ऊपर जाने लगा था।

और अब कंपनी इन्वेस्टर्स को दिए गए वादे को पूरा करने के लिए कुछ ऐसे Actions लेने वाली है जो इस कंपनी में बहुत बड़ी growth ला सकते हैं.

इसके साथ-साथ कंपनी अपनी इलेक्ट्रिसिटी Produce करने की capacity को भी massive तरीके से बढ़ाने वाली है।

तो इन्हीं सब डेवलपमेंट को ध्यान में रखते हुए आइए यह जानने की कोशिश करते हैं कि कैसे Tata power share भविष्य में एक मल्टीबैगर स्टॉक बनेगा?

Tata Power शेयर की ताज़ा खबरें

आइए सबसे पहले समझते हैं कि अभी टाटा पावर के बिजनेस की क्या क्षमता है और उन्हें expand करने के लिए इनका क्या vision है?

देखिए अभी टाटा पावर के पास Total 13.5 GW (गीगावाट) का इलेक्ट्रिसिटी प्रोडक्शन capacity है जिनमे―

  • थर्मल एनर्जी से 69%, सोलर से 14%, Wind से 7%, Hydro से 7% और Waste heat रिकवरी से 3% बिजली का उत्पादन करते हैं।

टाटा पॉवर का future vision है― इनका जो थर्मल एनर्जी सोर्सेस से 69% प्रोडक्शन होता है उससे हटकर Clean और Green energy पर शिफ्ट होना।

मतलब कंपनी 69% Thermal सोर्सेस को Solar, wind, hydro और waste heat से रिप्लेस करना चाहती है।

कंपनी ऐसा इसलिए करना चाहती है क्योंकि थर्मल एनर्जी sources प्रदूषण (Pollution) फैलाने वाले सोर्सेज के अंतर्गत आता है जिससे वातावरण में पोलूशन फैलता है और वह climate change को डायरेक्ट affect करता है।

और इसी वजह से अभी दुनिया भर की जो इलेक्ट्रिसिटी produce करने वाली मार्केट लीडर कंपनियां है वह सब अब clean और रिन्यूएबल एनर्जी सोर्सेस की तरफ अपना बिजनेस माइग्रेट कर रहे हैं।

क्योंकि अगर वह ऐसा नहीं करेंगे तो यह सभी कंपनी फ्यूचर में खत्म हो जाएगी।

इसीलिए जो कंपनियां भविष्य में प्रॉफिटेबली survive करना चाहती हैं उन सभी को अपना बिजनेस Tata power की तरह Renewable energy sources पर शिफ्ट होना ही पड़ेगा।

Tata power का vision इतना क्लियर है कि उन्होंने टारगेट भी सेट कर रखा है कि 2025 तक इनका 60% एनर्जी clean energy, green energy या सोलर sources से आएगा।

  • और 2030 तक इसी capacity को ये 80% increase करना चाहते हैं।
  • और फाइनली 2050 तक वह कार्बन nutural होना चाहते हैं मतलब तब तक वह सभी थर्मल सोर्सेस प्रोडक्शन को पूरी तरह से बंद कर देंगे।
  • इस प्रकार टाटा पावर का थर्मल एनर्जी में जीरो इन्वेस्टमेंट हो जाएगा क्योंकि सारा इन्वेस्टमेंट वह क्लीन और ग्रीन एनर्जी सेगमेंट में लगाने वाले हैं।

तो यह है टाटा पावर का कंपलीट future vision, जिसकी वजह से निवेशक इस शेयर को लेकर इतना exited हैं।

Tata Power Share Price Target News in Hindi

2020 में टाटा पावर शेयर का price लगभग 40 रुपये के आसपास ट्रेड करता था और इतने मजबूत फ्यूचर plans की वजह से इन्वेस्टर्स इसमें पैसा लगाते गए जिस वजह से देखा जाए तो Tata power पहले ही एक मल्टीबैगर शेयर बन चुका है। क्योंकि 2020 से 2022 तक दो सालों में ही ये शेयर 6 गुना से 7 गुना Return दे चुका है

लेकिन मुझे ऐसा लगता है कि अभी तो सिर्फ शुरुआत है क्योंकि जब भी कोई कंपनी अपना vision को लोगों के सामने रखती है तो investors पहले उसे judge करते हैं कि क्या कंपनी का vision Realistic है या नही?

फिर अगर vision Realistic है और कंपनी इसे execute करने में सक्षम है तो लोग थोड़ा सा पैसा डालकर इंतजार करते हैं। और जब vision को reality में बदलने का execution चालू होता है तो लोग और पैसा इन्वेस्ट करने लगते हैं। फिर जब ultimately उस विज़न के रियलिटी में बदलने के चांसेस 100% हो जाते हैं तो सभी लोग उस कंपनी के शेयर खरीदने लगते हैं।

शेयर मार्केट में इस मॉडल को बड़े इन्वेस्टर बहुत ज्यादा फॉलो करते हैं जो इसी प्रकार की कंपनियों को ढूढ़ते हैं और जिसका vision उन्हें रियलिस्टिक लगता है उसमें एक साथ बहुत सारा पैसा निवेश कर देते हैं.

और जब कंपनी उस vision को पूरा करने के लिए steps लेना शुरु करती है तो वह एक साथ बहुत सारा पैसा उसमें इन्वेस्ट कर देते हैं।

यह तकनीक राकेश झुनझुनवाला और विजय केडिया जैसे बड़े-बड़े इन्वेस्टर फॉलो करते हैं।

Tata Power Stock Analysis News in Hindi 2022

Tata power की इतनी news पढ़कर अब तक आप समझ चुके होंगे कि इसमें ग्रोथ अभी सिर्फ इसके strong vision की वजह से हुई है। अभी execution plan और execution से ग्रोथ होना बाकी है क्योंकि टाटा पावर के जो सभी plans थे उसका execution शुरू हो चुका है।

इसलिए कंपनी ने अपने Annual General Meeting में यह अनाउंसमेंट की है कि वह अपने रिन्यूएबल एनर्जी कैपेसिटी को बढ़ाने के लिए अगले 5 सालों में लगभग 75000 करोड़ capex इन्वेस्ट करने वाले हैं।

और इस 75000 करोड़ में से 10000 करोड़ वह इसी Financial Year में investment करने वाले हैं।

Tata Power Current News in Hindi

अब सवाल आता है कि इतनी बड़ी इन्वेस्टमेंट करने के पीछे टाटा पावर का क्या उद्देश्य है?

  • इस इन्वेस्टमेंट को करने का का सबसे पहला कारण है कि अगले 5 सालों में वह अपना ग्रीन एनर्जी शेयर 60% तक बढ़ाना चाहते हैं।
  • दूसरा कारण है कि वह जो इस साल 10000 करोड़ इन्वेस्ट करेंगे उससे 770 मेगावाट capacity रिन्यूएबल एनर्जी सेगमेंट में बढ़ाने वाले हैं।

अभी कंपनी के पास इसके सोलर EPC (इंजीनियरिंग procurement और कंस्ट्रक्शन) बिजनेस का 13000 करोड़ का order book है। इसी ऑर्डर को execute करने के लिए कंपनी 14000 करोड़ का और इन्वेस्टमेंट इसी साल करने वाली है।

इन सभी डिटेल्स के बारे में टाटा पावर के चेयरमैन एन चंद्रशेखर शेयरहोल्डर्स मीटिंग में खुद announce करते हैं।

मतलब कंपनी ने अपने future vision को पूरा करने के लिए actions लेना शुरू कर दिया है।

Tata Power News Update Today in Hindi

टाटा पावर ही नहीं बल्कि आप अगर किसी भी पावर सेक्टर कंपनी में निवेश करते हैं तो आपको पता होना चाहिए कि पावर सेक्टर की कंपनियों की ग्रोथ सिर्फ 2 चीजों पर निर्भर करती है―

  1. पहला capacity expansion
  2. और दूसरा है वैल्यूएशन.

Capacity Expansion:

इसे एक उदाहरण के द्वारा समझते हैं―

मान लीजिए XYZ एक पावर कंपनी है जिसकी इलेक्ट्रिसिटी produce करने की टोटल capacity 10 यूनिट है और और एक यूनिट का प्राइस 1 रुपये है इस प्रकार;

(10 यूनिट × 1 रुपये = 10 रुपये )

मतलब कंपनी 10 रुपये revenue कमाएगी।

लेकिन अगर कंपनी को ज्यादा रिवेन्यू कमाना है तो उसके पास सिर्फ दो तरीके हैं;

पहला तरीका है कि वह इलेक्ट्रिसिटी का प्राइस बढ़ा दें तो रिवेन्यू बढ़ जाएगा।

  • Example: मान लो Per यूनिट को कंपनी 1.5 रुपये में बेचती है और कंपनी की इलेक्ट्रिसिटी बनाने की कुल क्षमता 10 unit ही है तो अब कंपनी का revenue होगा: 10 यूनिट × 1.5 रुपये = 15 रुपये

लेकिन अगर किसी पावर कंपनी की ग्रोथ उसके प्राइस बढ़ाने पर निर्भर है तो यह उतना अच्छा ग्रोथ मॉडल नहीं हो सकता है।

दूसरा तरीका है कि कंपनी अगर अपने growth को sustainable रखना चाहती है तो इलेक्ट्रिसिटी बनाने की capacity बढ़ा सकती है, इससे भी revenue बढ़ जाएगा।

  • Example: मान लो कंपनी प्रत्येक यूनिट का प्राइस तो उतना ही रखती है लेकिन अपने कैपेसिटी को बढ़ा देती है. मान लीजिए कंपनी अपनी कैपेसिटी को 10 से बढ़ाकर 20 यूनिट कर देती है तो भी कंपनी का रेवेन्यू बढ़ जाएगा
  • इस प्रकार (20 यूनिट × 1 रुपये = 20 Rs revenue)

कंपनी की प्रोडक्शन Capacity बढ़ेगी तो रिवेन्यू और प्रॉफिट भी बढ़ेगा और इस प्रकार कंपनी का शेयर प्राइस भी बढ़ने लगेगा

तो Capacity expansion कंपनी की ग्रोथ बढ़ाने का पहला तरीका है और ग्रोथ बढ़ाने का दूसरा तरीका है―

Valuation:

अगर कोई पावर कंपनी ESG Norms फॉलो करती है तो उसका वैल्यूएशन भी बढ़ जाएगा। ESG Norms का मतलब है Environmental, Social और Governance norms

मतलब ऐसी कंपनियां जो वातावरण को नुकसान नहीं पहुंचाती हैं, सोशली रिस्पांसिबल होती है और कंपनी के governance को neat और clean तरीके से चलाते हैं तो ऐसी कंपनियां ही इन ESG Norms को फॉलो करती हैं

ऐसी कंपनियों में ESG इन्वेस्टर्स इन्वेस्ट करते हैं जिससे उनका वैल्यूएशन ज्यादा हो जाता है।

  • उदाहरण― अगर कोई थर्मल एनर्जी बनाने वाला कंपनी है तो PE यानी Price to earning ratio 10 से 15 के आसपास होगा लेकिन अगर कंपनी ग्रीन एनर्जी सेगमेंट में काम करती है तो PE valuation बढ़कर 50 से 75 हो जाएगा क्योंकि वह कंपनी ESG norms के अंतर्गत आएगी।

मतलब एक नॉर्मल पावर कंपनी की तुलना में ESG कंपनी बनने पर उसके शेयर के Long term में मल्टीबैगर बनने के चांसेस 5 गुना ज्यादा होते हैं।

Tata Power Company Share News in Hindi

अब तक आपने जाना कि किसी भी पावर कंपनी की ग्रोथ उनके capacity expansion और वैल्यूएशन पर निर्भर करती है और Tata power इन दोनों ही ऑप्शंस को एग्जीक्यूट कर रहा है।

जहां पर एक तरफ वह अपने थर्मल एनर्जी सेगमेंट को ग्रीन एनर्जी से replace कर रहा है जिससे वह एक ESG नॉर्म्स कंपनी बनने की राह पर है और दूसरी ओर यह अपनी electricity produce करने की capacity को भी massive तरीके से increase करने वाला है।

और कंपनी की ग्रोथ बढ़ाने के इन दोनों ही तरीकों के बारे में कंपनी के चेयरमैन ने Annual जनरल मीटिंग में बताया था।

अब सवाल आता है कि टाटा पावर कितनी capacity बढ़ाने वाला है?

तो इसका जवाब भी कंपनी के चेयरमैन मीटिंग में ही देते हैं कि अभी कंपनी की Total capacity 13.5 GW (गीगावाट) है जिसको वह अगले 5 सालों में यानी 2027 तक 30 GW करने वाले हैं। मतलब कंपनी अपनी capacity को डबल से भी ज्यादा बढ़ाने वाली है।

मैं आपको पहले बता चुका हूं कि टाटा पावर अपने थर्मल पावर प्लांट (जो कोयला जलाकर इलेक्ट्रिसिटी बनाते हैं) में future में इन्वेस्ट नहीं करेगा ऐसा कमिटमेंट कंपनी पहले ही कर चुकी है। मतलब यह जो डबल से भी ज्यादा capacity expansion होने वाला है वह clean और Green एनर्जी sources में ही होगा।

मतलब 2027 तक जो इलेक्ट्रिसिटी टाटा पावर प्रोड्यूस करेगा उसमें 60% इलेक्ट्रिसिटी रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर से ही आएगा।

Tata power Latest news in hindi

इस टारगेट को पूरा करने के लिए Solar power सबसे ज्यादा contribution करने वाला है और अगर सोलर एनर्जी का इतना बड़ा कैपेसिटी प्रोड्यूस करना है तो solar cells और module की stable सप्लाई भी होनी चाहिए।

इसलिए टाटा पावर खुद इन solar cells और modules की सप्लाई करना चाहता है इसलिए कंपनी के मैनेजमेंट ने डिसाइड किया है कि वह तमिलनाडु में 4 गीगावॉट capacity का solar cells और modules मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाएंगे जिसमें वह 3000 करोड़ रुपए इन्वेस्ट करने वाले हैं।

इन सभी plans के अलावा टाटा पावर अपने consumer centric और new-age energy solutions पर भी काम कर रहा है जहां पर वह Solar rooftop, Electric vehicle chargers, solar pumps, smart meters और Energy management solutions पर भी फोकस कर रहा है।

और इन सभी plans के execution से कंपनी की ग्रोथ निश्चित ही बहुत तेजी से होने वाली है।

इसका सबसे बड़ा उदाहरण है कि कंपनी अपने renewable एनर्जी टारगेट को achieve करने के लिए अप्रैल 2022 में ही Blackrock से 4000 करोड़ का fund raise कर चुकी है।

भविष्य में renewable एनर्जी का मार्केट बहुत तेजी से बढ़ने वाला है क्योंकि अभी इंडिया ने historic अनाउंसमेंट किया है जिसमें सरकार ने 2027 तक नेट एमिटर zero होने का कमिटमेंट किया है।

इसके अलावा गवर्नमेंट ये भी कमिटमेंट करती है कि 2030 तक इंडिया का जो 50% एनर्जी रिक्वायरमेंट है वह Renewable एनर्जी fulfil करेगा जिसमे लिए वह 500GW का रिन्यूएबल एनर्जी capacity build करेंगे।

इतनी बड़ी कमिटमेंट का अनाउंसमेंट गवर्नमेंट ने इंटरनेशनल forums पर किया है।

तो अगर इंटरनेशनल forums पर गवर्नमेंट के इतने ambitious अनाउंसमेंट को रियलिटी बनते देखना है तो वहां पर टाटा पावर जैसे कंपनीस को गवर्नमेंट का पूरा सपोर्ट मिल सकता है क्योंकि इससे टाटा पावर का बिजनेस ही नहीं बढ़ रहा है बल्कि गवर्नमेंट का कमिटमेंट भी पूरा हो रहा है।

मुझे लगता है कि टाटा पावर अगले 5 सालों में एक strong मल्टीबैगर शेयर बनने के पूरे चांसेस रखता है। लेकिन ये सिर्फ मेरा opinion है ऐसा नहीं है कि जो भी मुझे लगता है वह हमेशा सच ही हो क्योंकि मेरा काम है facts, events और जो actions हो रहे हैं उनको analyse करना और उसके बेसिस पर जो possible outcomes हो सकते हैं उनको anticipate करने की कोशिश करना।

लेकिन जो possible outcomes हैं वह फ्यूचर में complete होंगे या नहीं यह बहुत सारे फैक्टर्स के ऊपर निर्भर करते हैं इसको आज के टाइम में बैठकर predict करना बिल्कुल ना के बराबर होता है।

Tata Power stock split, bonus, dividend news in hindi

अभी तक टाटा पावर के मैनेजमेंट की तरफ से कोई स्टॉक स्प्लिट या डिविडेंड से संबंधित कोई बड़ी खबर नहीं आई है। अगर टाटा पावर कंपनी बोनस देने से रिलेटेड कोई official अनाउंसमेंट करती है या टाटा पावर शेयर की कोई लेटेस्ट न्यूज़ आती है तो इस पेज पर आपको सबसे पहले अपडेट कर दिया जाएगा।

FAQs Related Tata Power Share News in Hindi

Tata Power सरकारी कंपनी है या private?टाटा पावर इंडिया की largest integrated प्राइवेट पावर कंपनी है जबकि NTPC लिमिटेड सबसे बड़ी सरकारी पावर कंपनी है।
Tata Power कंपनी का मालिक कौन है?Tata Group
टाटा पावर के future plans क्या है?अगले 5 सालों में प्रोडक्शन capacity 30 गीगावाट करना और 2030 तक 80% एनर्जी को renewable में शिफ्ट करना।
क्या Tata Power एक Debt Free (कर्ज मुक्त) कंपनी है?दिसंबर 2021 में कंपनी पर डेट 40000 करोड था जो 2022 आते-आते घटकर 16000 करोड हो चुका है इस प्रकार कंपनी धीरे-धीरे अपने कर्ज को कम कर रही है।
Tata Power के कंपीटीटर्स कौन-कौन है?Adani power, NTPC Limited, JSW Energy

क्या टाटा पावर शेयर भविष्य में ऊपर जाएगा?

कंपनी अपने future plans को जितनी तेजी से execute कर पाती है उतनी ही तेजी से कंपनी का बिजनेस बढ़ेगा और इसके साथ ही इसका शेयर प्राइस भी उतनी ही तेजी से ऊपर जाएगा।

टाटा पावर शेयर का भविष्य क्या है?

कंपनी का टारगेट है 2030 तक टोटल इलेक्ट्रिसिटी का 80% रिन्यूएबल एनर्जी से आना चाहिए इसके साथ ही कंपनी अपनी capacity को 2027 तक 30 गीगावाट तक बढ़ाने वाली है और 2050 तक अपने सभी थर्मल पावर बिजनेस को बंद करके पूरी तरह से इंडिया की नंबर वन renewable energy कंपनी बन जाएगी।

Tata Power शेयर में पैसा निवेश करना चाहिए या नहीं?

अगर आप एक long-term निवेशक है तो टाटा पावर आपके निवेश के लिए बेस्ट शेयर है क्योंकि कंपनी का बिजनेस ही futuristic है लेकिन अगर आप सिर्फ शॉर्ट टर्म में मल्टीबैगर प्रॉफिट कमाना चाहते हैं तो टाटा पावर शेयर आपके लिए नहीं है।

क्या Tata Power एक मल्टीबैगर शेयर बन सकता है?

टाटा पावर के एक मल्टीबैगर शेयर बनने के चांसेस बहुत ज्यादा है क्योंकि जिस तरह से कंपनी अपने बिजनेस को expand करने के लिए कदम उठा रही है मैं पिक्चर में पावर इंडस्ट्री में एक रिवॉल्यूशन ला सकते हैं और इसी कड़ी में टाटा पावर आपके पोर्टफोलियो का मल्टीबैगर शेयर बन सकता है।

Tata power share news in hindi

ये भी पढ़े ―

Tata Power share से जुड़ी सभी लेटेस्ट खबरें और अपडेट पाइये सिर्फ इसी पेज पर

आज आपने टाटा पावर कंपनी के बारे में बहुत कुछ जाना आपको क्या लगता है भविष्य में टाटा पावर अपने निवेशकों के पैसे को कितने गुना कर देगा?

क्या आपने भी इस कंपनी में निवेश किया हुआ है और कितने प्राइस पर यह कमेंट में जरूर बताना।

टाटा पावर कंपनी को लेकर आपके क्या विचार या opinion हैं वह भी आप कमेंट बॉक्स में हमारे साथ साझा कर सकते हैं।

अगर मैं अपना opinion बताऊं तो मुझे पर्सनली इस कंपनी में long-term में बहुत पोटेंशियल लगता है क्योंकि इस कंपनी के फंडामेंटल अच्छे हैं, vision स्ट्रांग है, good मैनेजमेंट है और भविष्य में पावर की डिमांड भी काफी बढ़ने वाली है।

इसके अलावा टाटा पावर अपने बैटरी स्टोरेज प्रोजेक्ट और ग्रीन एनर्जी के द्वारा EV ( इलेक्ट्रिक व्हीकल ) रिवॉल्यूशन ला सकती है। समय-समय पर टाटा ग्रुप की अन्य कंपनियां भी इसे टेक्नोलॉजी अपग्रेडेशन प्रदान करती रहेगी इसीलिए मुझे लगता है कि future में tata power एक मल्टीबैगर स्टॉक बनने के बहुत चांसेस रखता है।

Tata power share news in hindi पेज से अपडेटेड रहने के लिए इसे बुकमार्क कर लीजिये।

5/5 - (5 votes)
Deepak SenAbout Author
मेरा नाम दीपक सेन है और मैं इस ब्लॉग का Founder हूं। यहां पर मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से शेयर मार्केट, निवेश और फाइनेंस से संबंधित उपयोगी जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

5 thoughts on “Tata Power Share News in Hindi― टाटा पावर की सभी लेटेस्ट खबरें हिंदी में पढ़िए.”

Leave a Comment